IMG 20210327 WA0041

टीकाकरण में तेजी लाकर कोरोना पर कसें लगाम – मेहता

0
(0)

मातृ, शिशु स्वास्थ्य व पोषण का भी रखें पूरा ध्यान: मेहता
जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में स्वास्थ्य योजनाओं की हुई समीक्षा

बीकानेर, 27 मार्च। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर पर लगाम लगाने के लिए सैंपलिंग, स्क्रीनिंग, सर्वे व कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की गतिविधियां बढ़ाई जाए और ज्यादा से ज्यादा संख्या में टीकाकरण सत्र आयोजित कर अधिकाधिक आमजन को कोरोनावायरस से प्रतिरक्षित कर लिया जाए। इस बीच मातृ शिशु स्वास्थ्य पर भी पूरा ध्यान दिया जाए और सभी लंबित भुगतान अगले माह की दस तारीख तक निपटा लिए जाएं। यह कहना था जिला कलेक्टर नमित मेहता का, वे शनिवार को यूआईटी सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि गर्भवतियों की 4 बार एएनसी जांच, संस्थागत प्रसव, बच्चों का टीकाकरण व परिवार कल्याण कार्यक्रम जैसे स्वास्थ्य विभाग के मूल कार्यों से किसी प्रकार का समझौता नहीं होना चाहिए। साथ ही प्रोत्साहन के लिए देय विभिन्न योजनाओं के भुगतान चाहे वह जननी सुरक्षा योजना के लिए हो या मुख्यमंत्री राजश्री योजना के लिए, लाभार्थी को समय पर दिया जाए। जिला कलक्टर ने कहा कि चिकित्सक योजनाओं व कार्यक्रमों की उपलब्धि सुधारने पर जोर देवें। उन्होंने कोविड टीकाकरण में और गति लाने के लिए कम से कम 150 से 200 सत्र आयोजित करने व अस्पतालों से आगे निकल कर समुदाय में अन्य स्थानों पर आउटरीच गतिविधियाँ बढाने के निर्देश दिए। इससे पूर्व प्रशिशु आईएएस कनिष्क कटारिया ने एजेंडावार सभी कार्यक्रमों व सेवाओं की समीक्षा कर आवश्यक निर्देश दिए। सीएमएचओ डॉ सुकुमार कश्यप ने कहा कि कोरोना पर गंभीरता से काम कर रहे हैं ,कम उपलब्धि वालों को स्पष्ट शब्दों में शीघ्र सुधार के लिए पाबन्द कियाा जाएगा । उन्होंने जेएसवाई व राजश्री योजना के बकाया भुगतान निपटाने, परिवार कल्याण के लक्ष्यों को हासिल करने, जल जनित बीमारियों व अन्य मौसमी बीमारियों पर नियंत्रण, मच्छरों की रोकथाम, पानी की सैंपलिंग व क्लोरीनेशन के निर्देश दिए। आरसीएचओ डॉ. राजेश कुमार गुप्ता ने कोविड टीकाकरण बढाने के लिए नए केंद्र बनाने व पुख्ता माइक्रोप्लानिंग करने की बात कही। उन्होंने मातृ-शिशु स्वास्थ्य कार्यक्रमों की 5 बिंदु समीक्षा की प्रगति प्रस्तुत की। डिप्टी सीएमएचओ परिवार कल्याण डॉ योगेन्द्र तनेजा ने परिवार कल्याण कार्यक्रम को दुगुना तेजी से बढाने की बात कही। उन्होंने अनीमिया मुक्त राजस्थान व पोषण अभियान का सन्देश जन-जन तक पहुंचाने की आवश्यकता बताई। डीटीओ डॉ सी.एस. मोदी ने टीबी व सिलिकोसिस नियंत्रण कार्यक्रम, डॉ नवलकिशोर गुप्ता ने निःशुल्क दवा योजना, डीपीएम सुशील कुमार ने कायाकल्प कार्यक्रम, ई-औषधि इन्द्राज, पीएमएसएमए, पीसीटीएस इन्द्राज की प्रगति से सदन को अवगत कराया। बैठक में लेखाधिकारी अभिषेक गोयल, एपिडेमियोलोजिस्ट नीलम प्रताप सिंह, डीएनओ मनीष गोस्वामी सहित समस्त बीसीएमओ, बीपीएम व ग्रामीण सीएचसी के प्रभारी उपस्थित रहे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply