IMG 20210216 WA0025

सार्दुल स्पोर्ट्स स्कूल का होगा कायाकल्प

0
(0)

सीएसआर फंड से जुटाई जाएगी सादुल स्पोट्र्स स्कूल में आधारभूत सुविधाएं-मेहता
– जिला कलेक्टर ने किया निरीक्षण

बीकानेर। जिला कलेक्टर नमित मेहता ने कहा कि राजस्थान की एकमात्र रेजीडेंसियल स्पोट्र्स स्कूल- सादुल स्पोट्र्स स्कूल में सीएसआर फंड के जरिए आधारभूत सुविधाएं जुटाई जाएगी। मंगलवार को सादुल स्पोट्र्स स्कूल का निरीक्षण करते हुए जिला कलेक्टर ने कहा कि विद्यार्थियों के लिए वर्तमान में खेलों में करियर बनाने के असीमित अवसर है। विद्यार्थी अपनी रूचि और क्षमता को पूरा प्रयोग करते हुए अपने उज्ज्वल भविष्य का निर्माण करें।
मेहता ने कहा कि यह बीकानेर के लिए गौरव की बात है कि इस स्कूल से निकले छात्रों ने देश भर में अलग-अलग खेलों में प्रतिनिधित्व किया है। उन्होंने कहा कि यहां अध्ययनरत बच्चों के लिए किट मनी बढ़ाने, कच्चा ट्रैक बनाने, कोच इत्यादि व्यवस्थाओं के लिए शीघ्र प्रयास होंगे। उन्होंने स्कूल प्रिंसीपल को निर्देश दिए कि भवन निर्माण व जीर्णोद्वार, स्थायी कोच, कुक आदि पदों को भरने सहित अन्य समस्याओं से जुड़े प्रस्ताव बनाकर दें जिन्हें राज्य सरकार के स्तर पर भिजवा कर इस स्कूल के विकास की दिशा में और प्रयास किए जाएंगे।
स्कूल परिसर में विद्यार्थियों से बातचीत करते हुए जिला कलेक्टर ने छात्रों से उनके मूल निवास स्थान, शिक्षा, खेल आदि के संबंध में जानकारी ली। स्कूल प्रिंसीपल ने बताया कि इस स्कूल से क्रिकेट, बास्केटबॉल, प्रो कबड्डी सहित विभिन्न खेलों में राष्ट्रीय अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विद्यार्थियों ने प्रतिनिधित्व किया है । प्रतिवर्ष करीब 20 प्रतिशत विद्यार्थी नेशनल खेलते हैं। विद्यार्थियों की डाइट के लिए निर्धारित राशि कम है साथ ही किट मनी में भी एक लंबे अरसे से बढ़ोतरी नहीं हुई है। कोच की समस्या है साथ ही मेस में स्थाई कुक का पद नहीं होने के चलते विद्यार्थियों के लिए उपलब्ध करवाए जाने वाले भोजन की गुणवत्ता भी अप टू द मार्क नहीं रहती। इस पर जिला कलेक्टर ने इन समस्त समस्याओं को सूचीबद्ध करते हुए प्रस्ताव बनाकर भिजवाने के निर्देश दिए।

तुरंत ठीक हो ट्यूबवेल
जिला कलेक्टर ने स्कूल ग्राउंड का निरीक्षण करते हुए पानी, बिजली आपूर्ति की जानकारी ली। स्कूल के परिसर में स्थित ट्यूबवेल के खराब होने की शिकायत पर जिला कलेक्टर ने जन स्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग के अधीक्षण अभियंता से दूरभाष पर बात कर निर्देश दिए कि बुधवार को ही विभाग का एक अभियंता स्कूल पहुंचे और खराब ट्यूबवेल की तकनीकी खामियों की जानकारी लेते हुए इसे तुरंत दुरुस्त कराने के संबंध में कार्रवाई करें।

लगेगी हाई मास्ट लाइट
जिला कलेक्टर ने कहा कि वे जल्द ही परिसर में रात के समय विद्यार्थियों की सुविधा के लिए हाई मास्ट लाइट उपलब्ध करवाएंगे। परिसर के व्यापक फैलाव को देखते हुए यहां उगे झाड़ झंकार के सफाई के लिए एक जेसीबी मशीन भिजवाई जाएगी जिसे लगवा कर स्कूल परिसर की सफाई करवाएं। स्कूल प्रबंधन की पीने के पानी के लिए आर ओ की व्यवस्था करने, डिस्पेंसरी में कार्मिक की नियुक्ति की भी मांग रखी। जिला कलेक्टर ने कहा कि विद्यार्थी अपने परिसर की सफाई रखें और स्पोर्ट्स के साथ-साथ पढ़ाई पर भी ध्यान देते हुए अपने भविष्य निर्माण के लिए संजीदा होकर मेहनत करें। इस अवसर पर स्कूल पिं्रसीपल रमेश हर्ष, वाइज प्रिंसीपल अजय पाल सिंह उपस्थित रहे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply