12 लाख तक टर्न ओवर वाले व्यापारियों का फूड लाइसेंस अब जिले में ही बनेगा

5
(1)

बीकानेर। बीकानेर जिला उद्योग संघ में विभिन्न औद्योगिक व व्यापारिक संगठनों की वर्चुअल मीटिंग रखी गई। इसमें सूक्ष्म एवं लघु उद्योगों के अस्तित्व को बचाने के लिए केन्द्रीय राज्य मंत्री अर्जुनराम मेघवाल का आभार जताया। बीकानेर जिला उद्योग संघ के अध्यक्ष द्वारकाप्रसाद पचीसिया ने बताया कि छोटे व्यापारी जिनका वार्षिक टर्न ओवर 12 लाख तक है उनका लाईसेंस  पूर्व की तरह जिले स्तर पर ही होगा। नमकीन और मिठाई उत्पादक जिनकी उत्पादन क्षमता 2 टन प्रति दिन तक है उनके लिये मानक तय किये जा रहे है जिनको 6 माह मे तैयार कर लिया जाएगा। उसके बाद उनका लाईसेंस भी मानक तय होने पर पूर्व की तरह जिले स्तर पर हो जाएगा। इसके लिये उन्हे एक वर्ष का समय दिया जाएगा। पैकिंग मटेरियल के लिये 6 माह का समय दिया जा रहा है और साथ ही एक साल तक पुराना लाइसेंस नंबर भी मान्य रहेगा। एफएसएसएआई द्वारा जारी नोटिफिकेशन से प्रदेश के 50 लाख लोगों के रोजगार पर लटक रही तलवार अब हट चुकी है।

उल्लेखनीय है, फूड लाइसेंस ऑथरिटी एफएसएसएआई दिल्ली द्वारा जारी आदेशों में विभिन्न भ्रांतियों को लेकर व्यापारी वर्ग आशंकित हो गया था जिस पर बीकानेर जिला उद्योग संघ द्वारा इस समस्या के निराकरण हेतु प्रदेश के 25 सांसदों को पत्र लिखा गया था जिस पर तुरंत संज्ञान लेते हुए केन्द्रीय मंत्री मेघवाल व अजमेर सांसद भागीरथ चौधरी ने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री हर्षवर्द्धन को पत्र लिखा था। वर्चुअल मीटिंग में बीकानेर जिला उद्योग संघ सचिव विनोद गोयल, बीकानेर व्यापार उद्योग मंडल अध्यक्ष जुगल राठी, सचिव वीरेंद्र किराडू, बीकानेर पापड़ भुजिया मेंयुफेक्चर एसोसिएशन के चेयरमैन शांतिलाल भंसाली, रोहित कच्छावा, बीकानेर बड़ी एसोशियेशन के अध्यक्ष रमेश अग्रवाल, गंगाशहर भीनाशहर पापड़ भुजिया व्यापार मंडल अध्यक्ष पानमल डागा व जयकुमार भंसाली आदि ने भाग लिया।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 5 / 5. Vote count: 1

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply