Picsart 22 05 13 20 49 50 744 scaled

कृषि आधारित चार उद्योगों को पूंजी अनुदान के रूप में 57.89 लाख स्वीकृत

0
(0)

बीकानेर, 13 मई। राजस्थान कृषि प्रसंस्करण, कृषि व्यवसाय एवं कृषि निर्यात प्रोत्साहन नीति, 2019 के तहत पूंजी अनुदान के आवेदनों के निस्तारण की बैठक शुक्रवार को जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद कलाल की अध्यक्षता में हुई।
बैठक के पूंजी अनुदान के 23 प्रकरणों पर विचार विमर्श किया गया। इनमें जिला स्तरीय समिति क्षेत्राधिकार के 13 प्रकरण थे। इनमें से 4 प्रकरण स्वीकृति योग्य पाए गए। इन उद्योगों के लिए पूंजी अनुदान के रूप में 57.89 लाख रुपए स्वीकृत किए गए। जिला स्तरीय क्षेत्राधिकार के 4 प्रकरणों के निस्तारण में 60 दिवस से अधिक अवधि व्यतीत हो जाने के कारण राज्य सरकार से शिथिलता लिए जाने का निर्णय लिया गया।

राज्य स्तरीय समिति क्षेत्राधिकार के 10 में से 5 प्रकरणों में 204.53 लाख रुपए की पूंजी अनुदान राशि को अभिशंषा सहित राज्य स्तरीय समिति को प्रेषित करने का निर्णय लिया गया।
ब्याज अनुदान से संबंधित 4 आवेदनों में बैंक द्वारा प्रस्तुत ब्याज गणना प्रपत्र में ब्याज दर अनुरूप एवं योजना के प्रावधानानुसार भिन्नता होने के कारण आवेदक फर्मों से संशोधित ब्याज गणना प्रपत्र प्राप्त होने तक लम्बित रखे जाने का निर्णय लिया गया।

बैठक में समिति और कृषि विपणन के संयुक्त निदेशक शशि शेखर शर्मा, कोषाधिकारी संवाई सिंह बारहठ, राजस्थान राज्य कृषि विपणन बोर्ड के अधिशाषी अभियन्ता बनवारीलाल पूनिया, नाबार्ड के क्षेत्रीय प्रबंधक रमेश ताम्बिया, उद्यान विभाग के उपनिदेशक राजेश नैनावत, सेन्ट्रल काॅ-ओपरेटिव बैंक के प्रबंध निदेशक रणवीर सिंह, कृषि उपज मण्डी समिति बीकोनर (अनाज) एवं खाजूवाला मण्डी समितियों के सचिव, जिला उद्योग केन्द्र के जिला उद्योग अधिकारी सहित कई अधिकारीगण उपस्थित रहे।

518 करोड़ 79 लाख की 39 छोटी पेयजल परियोजनाओं को जल जीवन मिशन में मंजूरी

बीकानेर सहित 15 जिलों को मिलेगा लाभ

जयपुर, 13 मई। जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग की वित्तीय समिति की बैठक में राजस्थान वाटर सप्लाई एवं सीवरेज मैनेजमेंट बोर्ड (आरडब्ल्यूएसएसएमबी) की नीति निर्धारण समिति (पीपीसी) की बैठक में पारित प्रस्तावों के तहत 518.79 करोड़ रूपए की 39 छोटी पेयजल परियोजनाओं को जल जीवन मिशन के अंतर्गत प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति दी गई। इन पेयजल परियोजनाओं से प्रदेश के 15 जिलों को लाभान्वित होंगे। इनमें श्रीगंगानगर की 6, सवाई माधोपुर की 5, उदयपुर की 5, पाली की 5, जैसलमेर की 4, बीकानेर की 2, जोधपुर की 2, धौलपुर की 3, भरतपुर, बाड़मेर, डूंगरपुर, प्रतापगढ़, अलवर एवं झुंझुनूं की एक-एक पेयजल परियोजना शामिल हैं। बैठक में अन्य परियोजनाओं एवं विभिन्न कार्यों से जुड़ी निविदाओं को भी मंजूरी दी गई।

539 गांवों के लिए ट्रांसमिशन लाइन को मंजूरी
वित्तीय समिति ने बीसलपुर-दूदू जलापूर्ति परियोजना के अंतर्गत 539 गांवों एवं 5 कस्बों की पेयजल की मांग को पूरा करने के लिए पानी ले जाने वाली सूरजपुर से सांभर ट्रांसमिशन पाईप लाइन की 265 करोड़ 96 लाख रूपए की परियोजना को प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति दी गई।
बीकानेर शहर के लिए पैकेज-2 की निविदा स्वीकृत
वित्तीय समिति की बैठक में मुख्यमंत्री की घोषणा के अंतर्गत बीकानेर शहर की पुनर्गठित बड़ी पेयजल योजना के पैकेज-2 के अंतर्गत 266 करोड़ 02 लाख रूपए की निविदा को मंजूरी दी गई।

बैठक में श्रीगंगानगर के 11-12 एलएनपी में जल जीवन मिशन के तहत 6 करोड़ 46 लाख रुपए की निविदा, भरतपुर जिले के गांव सिनसिनी एवं सोनगांव के लिए 5 करोड़ 92 लाख रुपए की ग्रामीण पेयजल परियोजना की निविदा को मंजूरी दी गई। साथ ही, सीकर जिले की खंडेला तहसील के कांवट गांव में 5 करोड़ 67 लाख रूपए की ग्रामीण पेयजल आपूर्ति योजना से संबंधित कार्यों की निविदा को भी मंजूरी दी गई।
——–

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply