IMG 20210116 WA0093

दम तोड़ती बीकानेर की इस स्कूल को विधायक सिद्धि कुमारी ने सुधार के लिए दिए सख्त निर्देश

4
(1)

बीकानेर 16 जनवरी। राजस्थान शिक्षा विभाग की एकमात्र आवासीय खेल विद्यालय सादुल स्पोर्ट्स स्कूल की दशा सुधारने को लेकर चल रहे संघर्ष में अब बीकानेर पूर्व की विधायक सिद्धि कुमारी भी जुड़ चुकी है। विधायक सिद्धि कुमारी ने शनिवार को सार्दुल स्पोर्ट्स स्कूल का औचक दौरा करते हुए वहां की वर्तमान व्यवस्थाओं का जायजा लिया। विधायक सिद्धि कुमारी ने शनिवार को सादुल स्पोर्ट्स स्कूल का औचक दौरा किया। सिद्धि कुमारी के अचानक सार्दुल स्पोर्ट्स स्कूल में पहुंचने पर स्कूल प्रशासन में हड़कंप मच गया था। विधायक ने देखा कि सार्दुल स्पोर्ट्स स्कूल की वर्तमान स्थिति बहुत ही खराब है। हॉस्टलों की बिल्डिंग की स्थिति देख विधायक सिद्धि कुमारी ने नाराजगी जताई और यहां स्कूल परिसर में अत्यधिक मात्रा में उगी कंटीली झाड़ियों को हटवाने के लिए नगर निगम की महापौर से फोन पर वार्ता कर तुरन्त सफाई करवाने को कहा। उन्होंने तुरंत ही स्कूल के प्रिंसिपल को निर्देश दिए कि पूरे स्कूल की साफ सफाई की जाए।

इस मौके पर सार्दुल स्पोर्ट्स स्कूल में व्याप्त व्यवस्थाओं के खिलाफ लंबे समय से संघर्ष कर रहे राजस्थान टीम के पूर्व कप्तान दानवीर सिंह भाटी ने स्कूल के बजट संबंधी सभी दिक्कतों के बारे में भी विधायक सिद्धी कुमारी को अवगत कराया। उन्होंने बताया कि सार्दुल स्पोर्ट्स स्कूल में मात्र 100 रुपये की डाइट प्रति बच्चा मिलती है , स्पोर्टस स्कूल में 40 साल से किट मनी मात्र 1000 रुपये बच्चों को मिल रही हैं। उन्होंने विधायक सिद्धि कुमारी को बताया कि यहां पर आवासीय खेल विद्यालय होने के बावजूद बच्चों के खाना बनाने के लिए कुक की पोस्ट तक नहीं है, अभी यहां पर चपरासी खाना बनाते हैं , भाटी ने कहा कि यहां प्रशिक्षकों के लिए योग्यता विभाग ने एनआईएस डिग्रीधारी कर रखी है जबकि वास्तविकता में आधे से ज्यादा कोच गैर एनआईएस ही है जो यहाँ लगने के योग्य नहीं है। रखरखाव के लिए राज्य सरकार से अलग से बजट दिलवाने की भी मांग की। उन्होंने कहा कि यहां खिलाड़ियों को मिलने वाले उपकरण राशि सभी 12 खेलों में सिर्फ ₹100000 ही मिलते हैं। इस पर इस पर सिद्धि कुमारी ने कहा कि वह जल्द ही सरकार से बात करेगी कि यहां के खिलाड़ियों को भी राजस्थान राज्य खेल परिषद द्वारा संचालित छात्रावासों के बराबर 300 रुपये प्रति बच्चा डाइट मनी तथा 12000 रुपये किट मनी तथा सभी खेलों के उपकरण खरीदने के लिए कम से कम 1000000 रुपये प्रति वर्ष बजट किया जाए। साथ ही वर्षों से बंद पड़ी डिस्पेंसरी को देखकर भी विधायक ने बड़ा आश्चर्य जताया। विधायिका ने खिलाड़ियों को आश्वस्त किया कि वे जल्द ही इस बंद पड़ी डिस्पेंसरी को चालू करवा देगी, छात्रावास अधीक्षक व स्टाफ क्वार्टरस की जीर्ण-शीर्ण हालात देख हैरानी जताते हुए उन्होंने कहा कि इतने टाइम से शिक्षा विभाग इस पर कोई काम क्यों नहीं कर रहा है। सिद्धि कुमारी ने मौके पर उपस्थित स्कूल के प्रिंसिपल व कर्मचारियों को स्कूल की व्यवस्था सुधारने के सख्त निर्देश दिए और उन्होंने कहा कि इसके लिए राज्य सरकार व शिक्षा विभाग से भी वह जल्द बात करेगी। ताकि यहां के खिलाड़ियों को सुविधाओं का अभाव न हो और वह अच्छे से अपना प्रशिक्षण पूरा कर सके और देश व प्रदेश का नाम रोशन कर सकें। विधायक ने कहा कि वह सरकार से मांग करेगी कि यहां के खिलाड़ियों को मिलने वाली भोजन राशि किट मनी व उपकरण राशि जल्दी बढ़ाएं व खेल मैदानों के रखरखाव के लिए अलग से बजट दे तथा यहां प्रशिक्षक पदों पर योग्य एनआईएस डिग्रीधारी व्यक्तियों को लगाए ताकि खिलाड़ियों को प्रशिक्षण में कोई कमी नहीं रहे। इस दौरान राष्ट्रीय खिलाड़ी नवल सिंह बेलासर व दिलीप बिश्नोई भी साथ में मौजूद रहे।

#MLA Siddhi Kumari #sadulsportsschool #Bikaner

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 4 / 5. Vote count: 1

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply