IMG 20210108 WA0057

अब मांगें मानने का सिग्नल दिखने पर ही रूकेगा रेल कर्मियों का आन्दोलन, आज भी किया डीआरएम ऑफिस के सामने जोरदार प्रदर्शन Now the movement of railway workers will stop only after seeing the signal to accept the demands, even today in front of the DRM office vigorous demonstration

0
(0)

बीकानेर। बीकानेर में कामरेड अनिल व्यास के नेतृत्व में रेल कर्मियों का आन्दोलन जोर पकड़ता जा रहा है। प्रदर्शन को देख लगता है कि अब यह आन्दोलन मांगें माने जाने के बाद ही रूकेगा। ऑल इंडिया रेल फेडरेशन ( Airf ) के आह्वान पर पूरे देश मे 1 से 15 जनवरी तक सघन अभियान पखवाड़ा मनाया जा रहा है। इसी क्रम में नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे एम्प्लॉइज यूनियन के चारों मंडल बीकानेर, जयपुर, अजमेर व जोधपुर के सभी मंडल कार्यालयों, स्टेशनों ओर उपमंडलों में सरकार की श्रम विरोधी काले कानून और नीतियों के खिलाफ कर्मचारियों मे भारी रोष के साथ विरोध किया। इसी क्रम में लगातार 1 से 7 जनवरी तक बीकानेर मंडल में भी सभी स्टेशनों और कार्यालयों मे विरोध हो रहा है। आज 8 जनवरी को नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे एम्प्लॉइज यूनियन के जोनल अध्यक्ष कॉमरेड अनिल व्यास की अगुवाई में मंडल रेल प्रबंधक कार्यालय के मैन गेट पर रेल कर्मचारियों ने विरोध किया और ओल्ड पेंशन स्कीम (OPS) को चालू करने तथा न्यू पेंशन स्कीम ( NPS) को बंद करने के साथ रेल निजीकरण मुर्दाबाद के नारे लगाए।
इस विरोध प्रदर्शन को संबोधित करते हुए कॉम अनिल व्यास ने कहा देश की स्थिति बड़ी गम्भीर है। सरकारी तंत्र को कुछ पूंजीपतियों ने अपने हाथ में लेने के लिए सरकार पर अपना दबाव बना लिए है। आज जब देश में सभी आवागमन के लिए परिवाहन के साधनों को खोल दिया है एक मात्र रेल को चालू नहीं किया है जब कि ये देश के लिए अतिआवश्यक है। कोविड का सहारा लेकर इसे निजी हाथों में देने का पूरा खाका तैयार कर रही है। अगर सरकार ने इस विषय में कोई कर्मचारी विरोधी निर्णय लेती है और प्राइवेट ट्रेनों का संचालन करती है तो ऑल इंडिया रेलवे मैन्स फेडरेशन AIRF के बैनर तले इसका पुरजोर विरोध होगा जिसके लिए कर्मचारियो ने कमर कस ली है। रेल का निजीकरण कर्मचारियों को कतई बर्दाश्त नहीं। जो कर्मचारी NPS में है सरकार इसे जल्द बंद करे और ऑल पेंशन स्कीम OPS को पुनः बहाल करें।

कॉम ब्रजेश ओझा शाखा सचिव बीकानेर ने सभी कर्मचारियों को संगठित होकर आने वाली चुनौतियों के लिए तैयार रहने के लिए कहा सरकार अगर अपनी हटधर्मिता से बाज़ नही आई और कोई भी कर्मचारियों के विरुद्ध कोई फैसला लिए ओर रेल निजीकरण का कुछ भी प्रयास किया तो भविष्य मे कर्मचारी भी हर संघर्ष के लिए तैयार है। आज मंडल कार्यालय मे कोविड की आड़ मे कर्मचारियों की कई मांगो पर प्रशासन चुपी सादे है। इससे कर्मचारियों मे भारी रोष है। अगर मंडल रेल प्रबंधक ने ओर संबंधित अधिकारियों ने यूनियन की लंबित मांगों को समय रहते पूरा नही किया गया तो अति शीघ्र ही लंबित मांगों के लिए संबंधित अधिकारियों का घेराव किया जायेगा।

कॉम गणेश वशिष्ठ शाखा सचिव लालगढ़ ने युवा कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा OPS ओल्ड पेंशन स्कीम हमारा हक है इसे हम हर हाल में लेकर रहेंगे। सभी इस के लिए तैयार रहे।

युवा साथी कॉमरेड दिनेश सिंह शाखा सचिव वर्कशॉप ने कहा कि पुरानी पेंशन स्कीम से ही युवा साथियों का भविष्य सुरक्षित है समय रहते अगर इसे बहाल नही किया तो हम युवा इसके लिए एक बड़ा आंदोलन करेंगे।

इस प्रदर्शन में विजय श्रीमाली , मोहम्मद सलीम क़ुरैशी, दिनेश सिंह ,आनन्द मोहन , मुस्ताक अली, दीनदयाल, सोंनु कुमार, भैरू रतन पुरोहित, महावीर गुर्जर नोरतम , जितेंद्र, पवन,धर्मेंद्र, राजेंद्र चंदेला,बसंत नायक ,प्रदीप चौधरी, विजय पाल, मोहम्मद उमर, मांगीलाल, सोहनलाल, लक्ष्मण, खेमचंद, लोकपाल, शिवलाल, नंदकिशोर ,अल्ताफ़ खान, कैलाश सोलंकी , मनोज रावत, प्रदीप चौहान, अमित कुमार, अरुण कुमार, जगदीश, किशन ,सुरेश, पवन कुमार, श्रीराम, दीनदयाल, शशिकांत, रामहँस मीणा, निरंजन , सुरेंदर लील , कृष्ण रामावत, सेवानंद, राकेश, किशन, विकास शर्मा , अमित सोलंकी, भीम सिंह, विकास मारू, शंकर तेतरवाल , सूरज किरण, मुकुल ,ललित, शशिमोहन, सोंनु,नवीन, रघुवेन्द्र सिंह, गुड्डू , विष्णु, राधा किशन , सेवा निवृत्त मोहम्मद हसन, लालचंद इनखिया,रवि शंकर पांडे आदि बहुत से कर्मचारी ने विरोध प्रदर्शन किया।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply