एमबीए पाठ्यक्रम में महिला अभ्यर्थियों का बढ़ रहा है रुझान Increasing trend of women candidates in MBA curriculum

0
(0)

बीकानेर। स्थानीय रामपुरिया महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ पंकज जैन ने अनुसार उनके महाविद्यालय में इस वर्ष एमबीए प्रथम वर्ष में अब तक हुए कुल प्रवेश में से लगभग 70% सीटों पर महिला अभ्यर्थियों ने प्रवेश लिया है। प्रवेश प्रक्रिया अभी चालू है जिसकी अंतिम तिथि 4 जनवरी 2021 है। इस वर्ष एमबीए पाठ्यक्रम ( # MBA curriculum ) में प्रवेश हेतु मिनिमम प्राप्तांक की प्रतिबद्धता में छूट दी गई है, अतः मात्र स्नातक उत्तीर्ण अभ्यार्थी भी एमबीए में प्रवेश ले सकता है। डॉ. जैन ने बताया कि संस्था के छात्रों द्वारा हाल ही में किए गए ऑनलाइन सर्वे के अनुसार महिला अभ्यर्थियों के बढ़ते हुए रुझान का मुख्य कारण कोरोना की वजह से वर्क फ्रॉम होम तथा भविष्य में कंपनियों द्वारा अधिकाधिक कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की सुविधा देना एमबीए में महिला अभ्यर्थियों के रुझान की उचित कारण है।

शहर के सुप्रसिद्ध रामपुरिया महाविद्यालय का प्रबंध अध्ययन संस्थान, राजस्थान का एक नाम चीन चुनिंदा संस्थान है जोकि मार्केटिंग, फाइनेंस, एचआर तथा डाटा साइंस जैसे विषयों में स्पेशलाइजेशन प्रदान करता है। प्रवेशित अभ्यर्थियों का यह मानना है कि डाटा साइंस विषय के साथ साथ मार्केटिंग व फाइनेंस का स्पेशलाइजेशन भविष्य में कोरोना महामारी से उत्पन्न हुई स्तिथियों के लिए प्रचुर संभावनाओं का प्रेरक होगा।

डॉक्टर जैन ने आगे बताया की आम लोगों में यह अवधारणा है की एमबीए पाठ्यक्रम सिर्फ बिज़नेस से जुड़े लोग ही करते हैं, लेकिन इसके विपरीत कोई भी स्नातक छात्र – छात्रा इसमें प्रवेश लेकर अपने व्यक्तित्व में निखार ला सकता है तथा सभी तरह के व्यावसायिक क्षेत्रों में नए सोपान कायम कर सकता है। महाविद्यालय में एमबीए तृतीय सेमेस्टर के छात्रों की ऑनलाइन क्लासेस जुलाई 2020 से प्रारंभ कर दी गई थी और लगभग सभी विषयों का शिक्षण कार्य पूर्ण कर दिया गया है।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply