TID-Logo

देशनोक-नापासर सड़क मार्ग निर्माण हेतु 225 लाख रुपये की वित्तीय एवं प्रशासनिक स्वीकृति जारी-उच्च शिक्षा मंत्री भाटी Financial and administrative approval of Rs 225 lakh for construction of Deshnok-Napasar roadway issued – Higher Education Minister Bhati

0
(0)

बीकानेर 26 दिसम्बर । उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने बताया है कि, सार्वजनिक निर्माण विभाग राजस्थान सरकार जयपुर द्वारा देशनोक-नापासर सड़क निर्माण हेतु 225 लाख रुपये की वित्तीय स्वीकृति जारी कर दी गई है।
उच्च शिक्षा मंत्री भाटी ने कहा उनके विधानसभा क्षेत्र अन्तर्गत देशनोक निवासियों के साथ-साथ नापासर मार्ग से करणी माता मंदिर आने वाले सैंकड़ों गांवों के निवासियों एवं श्रद्धालुओं की लम्बे समय से इस मार्ग के निर्माण की मांग पूरी हो गई है, इसके लिये वे निरन्तर प्रयासरत थे, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से भी उन्होंने इस मार्ग हेतु कुछ समय पूर्व ही आग्रह किया था जिस पर मुख्यमंत्री ने स्वीकृति दी थी तथा अल्प समय में ही इस मार्ग हेतु प्रशासनिक एवं वित्तीय स्वीकृति जारी कर क्षेत्रवासियों को नववर्ष की सौगात दी है।
भाटी ने कहा कि गावों मे सड़क मागों का अत्यधिक महत्व है, इसलिये वे श्रीकोलायत विधानसभा क्षेत्र के सभी ग्रामों में सड़क मार्गों के निर्माण, नवीनीकरण, मरम्मत आदि की अधिकाधिक स्वीकृति हेतु सम्बंधित विभाग प्रमुख एवं मंत्रीयों के सम्पर्क में है, इसमें उन्हें काफी सफलता भी प्राप्त हुई हैं, चाहे वह गौडू-बज्जू सांखला फांटा मार्ग हो या अन्य सम्पर्क सड़के अन्य क्षेत्र की अपेक्षा कोलायत में अधिक स्वीकृतियां जारी हुई है ।शीघ्र ही अन्य सड़क मार्गो की स्वीकृतियां भी जारी होगी।
देशनोक एवं नापासर क्षेत्र के निवासियों को सड़क मार्ग निर्माण के आदेश जारी होने की सूचना मिलने पर उन्होंने अत्यधिक खुशी जताते हुए उच्च शिक्ष मंत्री भंवर सिंह भाटी का आभार व्यक्त किया तथा कहा कि मंत्री भाटी क्षेत्र में निरन्तर विकास कार्य करवा रहे है। देशनोक में राजकीय महाविद्यालय, नगर पालिका के माध्यम से नवीन विकास चिकित्सा, शिक्षा, विद्युत आदि सभी समस्याओं का तेजी से समाधान हो रहा है।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply