राहु का वृषभ राशि मे प्रवेश
खुशियों की होगी बौछार, मगर राजनीति में घमासान

0
(0)

बीकानेर।
23 सितम्बर 2020 बुधवार को राहु, वृषभ राशि मे प्रवेश करेगा । फिलहाल कोरोना के तांडव ,आर्थिक मंदी ,सामाजिक और धार्मिक उन्माद से राहत मिलने का शुभ योग बन रहा है । 30 नवम्बर तक सारी स्थितिया सामान्य हो जाएगी । देशी एवं विदेशी व्यापार में वृद्धि , विकास दर में वृद्धि ,रोजगार के साधनो में वृद्धि तथा राजनीति के क्षेत्र में घमासान का योग बन रह है । सरहद पर सुलह होगी । प्राकर्तिक प्रकोप तथा आगजनी की घटनाओं से आमजन को परेशानी होगी ।

वृषभ राशि के राहु का प्रभाव निम्न राशियों पर स प्रकार रहेगा –

मेष- धन लाभ होगा कुछ रुकावटे
आएगी ,परिवार में दुर्घटनाओं का योग ,स्वास्थ्य पीड़ा ,सम्पति विवाद ।

वृष- धन लाभ ,कार्यो में सफलता ,स्त्री सन्तान का सुख ,अनावश्यक भय और चिंताएं बनी रहेगी ,मकान सुख मिलेगा ।

मिथुन- यह समय अनुकूल नही है ,कोई ना कोई समस्या बनी रहेगी ।यात्राएं ,खर्च अधिक ,आखों की पीड़ा का योग है।

कर्क- धन लाभ के आसार बनेंगे ,रुके हुए कार्यो में सफलता ,घर मे मांगलिक कार्य होंगे, शुभ समाचार मिलेंगे, सन्तान पक्ष में सुख।

सिंह- भाग्य वृद्धि,धन लाभ, पिता को कष्ट,आर्थिक लाभ के अवसर मिलेंगे , मान सम्मान के लिए संघर्ष करना पड़ेगा ।

कन्या- कुछ बाधाओं की बावजूद कार्यो में सफलता, स्त्री और सन्तान के लिए शुभदायी ,शारीरिक पीड़ा का योग ।

तुला- यह समय कष्टदायी है । स्वस्थ्य पीड़ा ,कर्ज योग ,कार्यो में रुकावटे ,स्वयं ओर परिवार जनों को शारीरिक पीड़ा ।

वृश्चिक- मुकदमे आदि में विजय ,कार्य क्षेत्र में संघर्ष के कारण परेशानी ,धन नाश का योग ,स्वास्थ्य पीड़ा बनी रहेगी ।

धनु- मान सम्मान मिलेगा ,आर्थिक लाभ मेहनत के अनुकूल नही होगा ,सेहत कमजोर रहेगी ,शत्रुओ से परेशानी होगी ।

मकर- आर्थिक लाभ ,सन्तान की उन्नति , नवीन कार्य योजनाओं में सफलता , घर मे मांगलिक कार्य होंगे ,खर्च अधिक होगा ।

कुम्भ- स्वयं और माता के स्वास्थ्य की चिंता, लाभ से अधिक खर्च ,भूमि विवाद से परेशानी तथा कर क्षेत्र में अच्छी सफलता मिलेगी ,मान सम्मान मिलेगा ।

मीन- धन लाभ, प्रतिष्ठा मिलेगी ,घर मे शुभ समाचार मिलेंगे । कुछ पारिवारिक समस्याओं से जूझना पड़ेगा ,यात्राओ में नुकसान का योग ।

जिन जातकों के गोचर में तथा जन्म पत्रिका में राहु अशुभ फलदायी है वे लोग इस समय निम्न उपाय करें-

👉 1 काले या भूरे रंग की कम्बल किसी जरूरत मंद को रविवार के दिन दान करे ।
👉शनिवार के दिन प्रदोषकाल में 2 सरसो के तेल का अखण्ड दीपक घर मे स्थापित करे ।
👉 400 ग्राम कला उड़द 200 ग्राम काला तिल शनिवार को तालाब में प्रवाहित करे ।
👉 सरसो के तेल का दान प्रति शनिवार करे ।
👉 पांच लोंग और कपूर एक साथ जलाकर उस राख को लाल कपड़े में बांधकर अपनी तिजोरी में रखे ।
👉 जिनको स्वाथ्य पीड़ा या ऊपरी छाया के दोष से पीड़ा हो वे लोग एक किलो लकड़ी का कोयला, एक किलो नमक काले कपड़े में बांधकर घर से पश्चिम दिशा में निर्जन जगह पर गाड़ दे शनिवार को प्रदोष काल मे ।
👉 शनिवार को 500 ग्राम गेंहू का दलिया सुबह पक्षियों को डाले ।

ये फलादेश गोचर ग्रहानुसार है। सटीक जानकारी आपकी जन्मपत्रिका से ही बताई जा सकती है ।
विशेष जानकारी के लिए सम्पर्क करें-
पंडित गिरवर प्रसाद बिस्सा
मो. 9413481194

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply