राजस्थान में लाइट, बैंड, टैंट व इवेंट से जुड़े 3 लाख कारोबारियों के सामने रोजी रोटी का संकट, सीएम से लगाई गुहार

3
(2)

बीकानेर। राजस्थान में इवेंट, फूल, लाइट, जनरेटर, लवाजमा, बैंड, फोटोग्राफर, डीजे साउण्ड, आर्केस्ट्रा, केटरिंग, हलवाई व विवाह स्थल संचालको से जुड़े तीन लाख कारोबारियों के सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है। हाल ही में केन्द्र सरकार ने शादी समारोह में 50 व्यक्तियों की लिमिट को बढ़ाकर 100 कर दिया गया है, लेकिन यह सुविधा अभी राजस्थान के इन कारोबारियों को नसीब नहीं हो पाई है।  
इन कारोबारियों का कहना है कि कोरोना महामारी के कारण शादी समारोह में अधिकतम 50 व्यक्तियों के शामिल होने की अनुमति दे रखी है। जिसके कारण लाखों व्यापारी परिवारों के सामने रोजी रोटी का संकट पैदा हो गया है। इन कारोबारियों ने सीएम गहलोत से शादी समारोह में कोरोना महामारी से बचाव को लेकर 13 सुझाव भेजे हैं जिसके चलते ये समारोह आसानी से सम्पन्न हो सकते है। बीकानेर जिला टैंट व्यवसायी संघ के पदाधिकारियों का कहना है कि लॉकडाउन के कारण (जो किराये का व्यापार करते है) सीजनल व्यापार 100 प्रतिशत खत्म हो गया है, जिसके कारण उनका व व्यवसाय से जुड़े कर्मचारियों के परिवारों पर रोजी रोटी का संकट उत्पन्न हो गया है। उन्होंने बताया कि हम किराये का काम करने वाले व्यापारी बहुत ज्यादा टेंशन में है। छोटे-छोटे गांवो में हमारे साथी गम्भीर परिस्थितियों से गुजर रहे है। हमारे पास किराये के अलावा और कोई व्यापार नहीं है। केवल इसी व्यापार पर पूरा परिवार निर्भर रहता है। गाड़ियों की महिने की किश्ते, मकान, दुकान, गोदाम का किराया देना भी मुश्किल हो रहा है।
ये दिए सुझाव
– जिस जगह शादी व अन्य समारोह हो उस जगह को कार्यक्रम शुरू।
– समारोह स्थल का प्रवेश द्वार सेटेनाईजर लगे हो। मास्क पहनना अनिवार्य हो।
– शादी व अन्य समारोह की समयावधि सुबह 7 बजे से रात्रि 10 बजे तक की अनुमति हो।
– भोजन व्यवस्था केवल बिठाकर (सिटिंग अरेंजमेंट) छोटे-छोटे ग्रुप में खाना खिलाने की हो। बुफे सिस्टम नहीं हो। वेटर सोशल डिस्टेसिंग का पूर्णतः पालन करें।
– शादी व अन्य समारोह के लिये कम से कम 300-400 व्यक्तियों के शामिल होने की अनुमति हो जिससे लड़का व लड़की पक्ष के परिवारजन व रिश्तेदार शामिल हो सके।
– समारोह स्थल में पूर्ण शोसल डिस्टेसिंग का पालन होते हुए कुर्सियों पर बैठने की व्यवस्था हो।
– जिस जगह समारोह हो वह जगह प्रति मेहमान की 25 फुट के हिसाब का क्षेत्रफल अनिवार्य होना चाहिए, उदाहरण के तौर पर यदि 400 मेहमानों के लिये 10000 वर्गफुट का समारोह स्थल होना चाहिये। पार्किंग व्यवस्था अलग से हो।
– समारोह की समस्त व्यवस्था देख रहे जेसे टैन्ट, लाईट, जनरेटर, फूल-माला, इवेंट लवाजमा, बैंड, डीजे साउण्ड, केटरिंग, हलवाई, कर्मचारी सोशल डिस्टेसिंग का सम्पूर्ण पालन करते हुए समारोह को सम्पन्न करवायेंगे।
– सभी आगन्तुक मेहमानों की थर्मामीटर जांच अनिवार्य हो।
– समस्त कार्यक्रम की पूरी पालना के लिये आयोजनकर्ता व उक्त सभी सर्विस देने वाली फर्मो की जवाबदारी तय होकर आदेश जारी हो।
– शराब पान गुटका तम्बाकू व सिगरेट का सेवन व थूकना वर्जित रहे।
– 65 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों, 10 वर्ष से कम आयु के बच्चों व गर्भवती महिलाओं को इस कार्यक्रमों में शामिल होने की अनुमति नहीं मिले।
– किसी भी प्रकार की बुखार, सर्दी, खांसी, सांस लेने में कठिनाई होने पर समारोह में शामिल होने की अनुमति नहीं दी जाए।
सीएम से विशेष आग्रह
बीकानेर जिला टैंट व्यवसायी संघ के अध्यक्ष पूनमचन्द कच्छावा, सचिव राजेन्द्र काला, कोषाध्यक्ष भीमसेन शर्मा, वरिष्ठ उपाध्यक्ष बुलाकी चैधरी, प्रदेश संरक्षक द्वारका प्रसाद पचीसिया, प्रदेश उपाध्यक्ष धर्मवीर नाहटा प्रदेश उपाध्यक्ष लोकेश चतुर्वेदी प्रदेश सह सचिव मदनगोपाल पुरोहित ने सीएम गहलोत को ज्ञापन भेजकर टैन्ट व साथ जुड़े व्यवसासियों के लिये राजस्थान सरकार किसान क्रेडिट कार्ड की तर्ज पर उन्हें भी सेवा क्रेडिट कार्ड जारी करने का आग्रह किया है। साथ ही इन कारोबारियों ने सरकार को विश्वास दिलाया है कि समस्त कार्यक्रम सरकार के दिशानिर्देशों के आधार पर समय पर सम्पन्न करवाएंगे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 3 / 5. Vote count: 2

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply