IMG 20220130 WA0017

गोचर की रक्षा के लिए प्रत्येक घर की भागीदारी सुनिश्चित हो- स्वामी चन्द्रशेखर नन्द

0
(0)

बीकानेर 30 जनवरी। गोचर , ओरण व चारागाह की जमीन पर कब्जों को नियमन करने के राज्य सरकार के फैसले के बाद से बीकानेर में पूर्व मंत्री देवी सिंह भाटी शरह नथानियान गोचर भूमि में चल रहे बेमियादी धरने पर 18 वें दिन धरना जारी रहा। धरना स्थल पर विभिन्न समाजों के मौजीज, आमजन, साधु – संत व मातृशक्ति भी अब मुखर होकर भाटी के गोचर बचाओ आन्दोलन में उनके साथ खड़ी हैं । आज धरना स्थल पर दिव्य ज्योति जागृति संस्थान के स्वामी चन्द्रशेखर नन्द महाराज ने उपस्थित गो भक्तों से कहा देवी सिंह भाटी इस अवस्था में भी गोधन सवर्धन के लिए मौसम की प्रवाह न करते हुए धरने पर जमे हुए है इनका इतिहास रहा है कि जिस काम को हाथ में लिया उसे पूरा किया । गायों के वोट नहीं लगते लेकिन हमारे सामने है कि एक नेता गायों के लिए खड़ा है । इस प्रदेश में हजारों की तादाद में नेता है बड़ी – बड़ी पार्टियां है लेकिन गोवंश की बात करने वाला एकमात्र देवीसिंह भाटी हैं । आज जब गो भूमि पर सरकारें अपने नियमों की कटारे चला रही है ऐसे समय में भाटी ढाल बनकर सामने आये है तो समाज का यह दायित्व भी है कि प्रत्येक घर से एक आदमी भाटी जी के साथ जुड़े तो राजस्थान की क्या किसी भी सरकार को झुकना ही पड़ेगा । महामण्डलेश्वर सरजूदास महात्यागी राम – झरोखा सुजानदेसर ने कहा कि गोचर बचाने के लिए पुरा संत समाज देवी सिंह भाटी के साथ खड़ा है । जरूरत पड़ी तो साधु – संत भाटी के साथ सड़कों पर भी उतरेगें।

पुष्प वर्षा से स्वागत

आज धरना स्थल पर दिव्य ज्योति जागृति संस्थान के स्वामी चन्द्रशेखर नन्द जी महाराज , महामण्डलेश्वर श्री सरजूदास जी महात्यागी राम – झरोखा सुजानदेसर , कथावाचक सुनील व्यास, पंडित गिरिराज जोशी , गीताप्रेस पुस्तक प्रचारक पं . प्रभुदयाल राजपुरोहित सहित ग्रामीण व शहरी क्षेत्र से सैकड़ों की तादाद में गो भक्तों ने गोचर बचाओं आन्दोलन को अपना मुखर समर्थन दिया । आज धरना स्थल पर आये साधु – संतों का अंशुमानसिंह भाटी , रामकिशन आचार्य पूर्व जिलाध्यक्ष भाजपा , समाजसेवी देवकिशन चांडक ने पुष्प वर्षा कर स्वागत किया ।

भाटी को भेंट की चांदी की गाय

भाटी के प्रवक्ता सुनील बांठिया ने बताया कि रविवार को धरना स्थल पर विभिन्न समाजों ने अपना समर्थन भाटी को दिया । राष्ट्रीय वाल्मिकी क्रान्ति कारी मोर्चा के अध्यक्ष घनश्याम लोहिया , नरेन्द्र पंडित , जगदीश सोलंकी , अशोक चावरिया , श्याम सुन्दर शियोता , सुभाष बाल्मिकी व अमित तेजी ने अपने पचासों कार्यकर्ताओं के साथ धरना स्थल पर पहुंच कर अपना समर्थन जताया । इस अवसर पर मोर्चे के पदाधिकारियों ने एक चांदी की गाय भाटी को भेंट कर इस आन्दोलन को अपना समर्थन दिया । इस मौके पर पदाधिकारियों ने कहा कि गायों के लिए भाटी का यह धरना अनुकरणीय है अन्य जनप्रतिनिधियों को भी इस मांग को मुखर करना चाहिए ।

चूरू से आए समर्थक

गोरक्षा दल आजाद ग्रुप राजलदेसर , चुरू के अध्यक्ष प्रदीप पाण्डे , पवन कड़वासरा , प्रदीप पांडर , विकास भार्गव , आदित्य व नारायण पारीक अपने बीसियों कार्यकर्ताओं के साथ गो माता के जयकारे नारे लगाते हुए राजलदेसर से सीधे धरना स्थल पर पहुंचे व कहा कि जिस दिन भी भाटी आदेश देगें वो अपने जिले में भी आन्दोलन की गति को बढ़ा देंगे।

भांग प्रेमियों ने दी भजनों की प्रस्तुति

श्री श्यामोजी वंशज मूंधाड़ा भोजक , सेवग मग ब्राहम्ण के अध्यक्ष जेठमल सेवग , महामंत्री एडवोकेट शिवचन्द भोजक , बजरंग लाल सेगव , विनोद कुमार भांजक अपने कार्यकर्ताओं के साथ पहुंचे व भाटी से कहा कि बीकानेर का सेवग समाज गोधन को बचाने के लिए उनके प्रयासों से अभिभूत है व भाटी की एक आवाज पर समाज उनके साथ खड़ा रहेगा । परमार्थ सेवा समिति के अविनाश व्यास , चन्द्रशेखर शर्मा व सुनील ओझा ने भी धरना स्थल पर आकर भाटी को समर्थन दिया । बीकानेर मोटर पार्ट्स डीलर एसोसिएशन के अध्यक्ष ओम आचार्य , सचिव नारायण पुगलिया व अन्य पदाधिकारियों ने धरने का समर्थन किया । धरना स्थल पर मास्टर मदन जैरी के नेतृत्व में भाग प्रेमियों का एक दल धरना स्थल पर पहुंचा व भजनों की प्रस्तुति दी ।

गोचर पर सरकार का कोई हक नहीं
धरना स्थल पर उपस्थित जन समुदाय को सम्बोधित करते हुए पूर्व मंत्री देवी सिंह भाटी ने कहा कि राज्य सरकार अतिक्रमणकारियों को प्रोत्साहन न दें । गोवंश के लिए जमीन दानदाताओं की दी हुई है जिसपर सरकार का कोई हक नहीं हैं । सरकार को चाहिए कि वो अब तक गोचर , ओरण में जितने भी कब्जे हुए है उसकी पैमाईश करवाकर गोचर से सटती जमीन चाहे वो निजी हो या सरकारी उसे अवाप्त कर गोचर के लिए आवंटित करें । हमारा उद्देश्य किसी को बेघर करना नहीं है सरकार समय रहते अपनी सही टाऊन प्लानिंग करें ।

ग्रामीणों का रहा जमघट
रविवार को भी ग्रामीण क्षेत्र से गोचर , ओरण बचाने के इस धरने को समर्थन देने का सिलसिला अनवरत जारी रहा । रविवार को गिराजसर , देवड़ों की ढाणी , पैथड़ों की ढाणी , खारी चारनान , गजनेर , चाण्डासर , कतरियासर , कोडमदेसर , नोखा , देशनोक , राजलदेसर , नागौर , आम्बासर , परबतसर , जायल , उदासर , किल्चू देवड़ान , गीगासर , राजासर भाटियान से सैकड़ों ग्रामीण धरना स्थल पर पहुंचे। पहुंचने वाले मुख्य लोगों में भाजपा देहात जिला महामंत्री महिला मोर्चा विमला उपाध्याय , भाजपा शहर जस्सुसर गेट मण्डल महामंत्री सरला राजपुरोहित , बजरंग सेना जिला प्रभारी अन्नपूर्णा , धरमू बन्ना बरसलपुर , मोहनलाल पंचारिया पूर्व सरपंच , अध्यक्ष गंगाशहर गोचर भूमि बंशीलाल तंवर , पूर्व पार्षद हिम्मतसिंह शेखावत , जितेन्द्र सोलंकी , हरूराम गेधर पूर्व सरपंच खारी , बजरंग पंचारिया भेलू , भंवरसिंह राठौड़ भेलू , मांगुराम नायक चारणवाला, गणेश सुथार कतरियासर, प्रभु कुम्हार कानासर, अलका बिश्नोई , शायर कंवर , सुमित्रा पारीक, लक्ष्मी देवी राजपुरोहित, पुष्पा सुथार ने भजनों की प्रस्तुति दी।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply