IMG 20210315 WA0118

निजीकरण का चारों ओर विरोध अवध आसाम एक्सप्रेस के सामने कार्मिकों का जोरदार प्रदर्शन

0
(0)

बीकानेर। सरकारी उपक्रमों के निजीकरण का अब चारों ओर जोरदार विरोध हो रहा है। यही वजह है कि केंद्रीय कर्मचारी संघर्ष समिति बीकानेर इंटक, एटक, एचएमएस, सीटू, राज-सीटू, एक्टू आदि के आह्नान पर आज बीकानेर में श्रमिकों ने रेलवे परिसर लालगढ़ रेलवे स्टेशन पर अवध आसाम ट्रेन के सामने प्रदर्शन किया। देश में कर्मचारियों एवं श्रमिकों के साथ सरकारी उपक्रम को निजी हाथों में देने और श्रम विरोधी नीतियों के खिलाफ अपने असंतोष को व्यक्त किया। इस अवसर पर एच एम एस नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे एम्प्लाइज यूनियन रेल के जोनल अध्यक्ष कॉमरेड अनिल व्यास, आल इंडिया बैंक एम्प्लॉयस असिस्टेंट के कर्मचारी नेता वी के शर्मा योगी, एटक के श्रमिक नेता अब्दुल रहमान कोहरी, प्रसन कुमार, हेमंत किराडू, जय शंकर आदि ने संबोधित किया। उन्होंने कहा की रेलवे, बैंक, बीमा सहित सभी सार्वजनिक क्षेत्र के उद्योगों को निजी हाथों में सौंपने का जो सरकार ने निर्णय लिया है वह देश की आम जनता और समूचे कर्मचारी एवं श्रमिक वर्ग के हित में नहीं हैं। उन्होंने कहा की केंद्र सरकार देशवासियों के प्रति अपनी ज़िम्मेदारी से बचने का काम कर रही है। तभी सेवा क्षेत्र को चाहे वह शिक्षा हो, स्वास्थ्य हो,रेल ,बैंक, एलआईसी, यातायात हो या वित्त संबंधी हो उन्हे प्राइवेट सेक्टर में दिया जा रहा है। देशभर के किसान आंदोलन कर रहे हैं लेकिन सरकार अपनी जिद पर अड़ी हुई है जो घोर निराशाजनक हैं। सरकार सभी सरकार विभागों को निजी हाथों मे देकर आने वाली युवा पीढ़ी के साथ अन्याय कर रही हैं। इससे शिक्षित और कुशल युवाओं के सभी अवसर समाप्त हो जाएंगे। देश मे सभी संसद ,विधायक , जब जब ये सांसद और विधायक बनते है उन्हें उतनी बार पेंशन का लाभ मिलता है।
उन्होंने कहा कि 24, 25, 26 मार्च को देशभर के श्रमिक संगठनो के आह्नान पर सरकार की श्रमिक व किसान विरोधी नीतियों के विरुद्ध धरना दिया जाएगा।
इस अवसर कॉम विजय श्रीमाली कॉम ब्रजेश ओझा, मोहम्मद सलीम क़ुरैशी , गणेश वशिष्ठ, दिनेश सिंह अमरनाथ सेवक, राकेश, आनंद मोहन, पवन कुमार बीकानेरी आशा नैनवल, इंदु कवर राठौड़, रामेश्वर, संजय कुमार, राजेन्द्र चंदेला दिलीप कुमार,दीप शिखा, दीन दयाल, सुभाष, रघुवेन्द्र सिंह, सुभाष, सोंनु कुमार,स्वाति अरोड़ा, नवरत्न,नंद किशोर भाटी, विजय मीना, सेवानंद सहित अनेक विभाग से बहुत से कर्मचारी उपस्थित थे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply