बीकानेर तकनीकी विवि में पात्र शोधार्थियों को एआईसीटीई से अनुमोदित डाॅक्टोरल फैलोशिप की शुरूआत

0
(0)

बीकानेर। बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. एच.डी.चारण ने बताया कि बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय इसी सत्र से 5 ब्रांचों में कुल 8 सीटों पर पात्र शोधार्थियों को ए.आई. सी.टी. अनुमोदित डाॅक्टोरल फैलोशिप (ADF) प्रदान करेगा।
बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय के निदेशक अकादमिक डाॅ. यदुनाथ सिंह ने बताया कि इस योजना के मुख्य उद्देश्य स्टार्ट-अप के लिये अग्रणी संस्थानों और उद्योगों के बीच सहयोगात्मक अनुसंधान को बढ़ावा देना एवं तकनीकी अनुसंधान के लिये प्रतिभाओं का पोषण करना है। ग्रीन टेक्नोलोजी, बिग डेटा, मशीन लर्निंग, ब्लाॅक चेन, डेटा साईन्सेज, आर्टिफिशियल इन्टेलिजेन्स, उर्जा उत्पादन एवं भण्डारण, इलेक्ट्रोनिक्स और फोटोनिक्स, न्यूक्लियर इंजीनियरिंग एण्ड एलाइड टेक्नोलाॅजी, रोबोटिक्स एवं मैकाट्रोनिक्स, उर्जा दक्षता, नवीकरणीय और सतत उर्जा, इलेक्ट्राॅनिक्स और हाईब्रिड मोबिलिटी, स्मार्ट सिटीज़, हाउसिंग एण्ड ट्रांसपोर्टेशन, इन्टरनेट ऑफ थिंग्स, थ्री-डी प्रिन्टिंग, क्वान्टम कम्प्यूटिंग, कृषि और खाद्य उद्योग के लिये स्मार्ट टेक्नोलाॅजीज़, जलशोधन, संरक्षण और प्रबन्धन, सार्वजनिक नीति, सामाजिक और संगठनात्मक मनोविज्ञान और व्यवहार एवं साईबर सुरक्षा आदि शोध के लिये व्यापक क्षेत्र हैं।
बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय में इस कार्य हेतु नियुक्त प्रभारी अधिकारी कपिल पाण्डे ने बताया कि यह फेलोशिप योजना 3 वर्षों की अवधि के लिये लागू होगी जिसे शोधार्थी के प्रदर्शन के आधार पर तकनीकी विश्वविद्यालय की सिफारिश पर ए.आई.सी.टी.ई. द्वारा कुल एक वर्ष (प्रत्येक छह माह के दो स्लाॅट में) के लिये विस्तारित भी किया जा सकता है। शोध छात्रों को फैलोशिप के अलावा एच.आर.ए. एवं कन्टीजेन्सी भी प्रदान की जाएगी जो इसप्रकार होगी-
फैलोशिप प्रथम दो वर्षों के लिये 31,000/-रूपये एवं तृतीय वर्ष के लिये 35,000/- रूपये होगी, एच.आर.ए. की दर भारत सरकार के नियमानुसार शहर/स्थान के अनुसार देय होगी एवं विविध व्ययों की पूर्ति हेतु कन्टीजेन्सी राशि 15,000/- रूपये प्रतिवर्ष देय होगी।
इस फैलोशिप हेतु वे ही शोध छात्र पात्र होंगे जिन्होंने पिछले पांच वर्षों में GATE/NET परीक्षा उत्तीर्ण कर ली हो एवं जिनके द्वारा क्रमशः बैचलर एवं मास्टर्स में न्यूनतम CGPA 7.5 या 75 प्रतिशत अंक प्राप्त किये गये हों। वहीं एस.सी./एस.टी./पी.एच उम्मीदवारों के लिये CGPA 7 या 70 प्रतिशत अंकों की अनिवार्यता होगी। इस फैलोशिप में उम्मीदवार की आयु प्रवेश की तारीख को 30 वर्ष से कम होनी चाहिए हालांकि एस.सी./एस.टी./महिलाओं/पी.एच उम्मीदवारों के लिये 5 वर्ष की आयु छूट भी लागू होगी।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply