कम्युनिटी वेलफेयर सोसायटी : इंसा तो क्या पंक्षी भी भूखा न जाए,

0
(0)
screenshot 20200421 192013 gmail2077906780213537090

बीकानेर। कोरोना महामारी के जहां एक ओर पूरा विश्व इस महामारी की त्रासदी झेल रहा है। वहीं दूसरी ओर हमारे शहर बीकानेर में भी लॉक डाउन के कारण से लोग अपने घरों में बैठे हैं जिसकी वजह से पशु पक्षियों के लिए दाने पानी की भी दिक्कत आ रही है। इसी को ध्यान में रखते हुए कम्युनिटी वेलफेयर सोसायटी द्वारा 5000 पालासिए शहर के विभिन्न भागों में लगाए जाएंगे। जिससे पक्षी अपनी प्यास बुझा पाए तथा 1 क्विंटल दाना पक्षियों के लिए रोज डाला जाएगा। 5 क्विंटल हरा चारा आवारा पशुओं के लिए वह 50 किलो आटे की रोटी रोज बनाकर आवारा कुत्तों, पशु पक्षियों के भूख और प्यास का प्रबंध किया जाएगा। संस्था के प्रदेश प्रभारी उमा सुधारने जानकारी देते हुए बताया कि कम्युनिटी वेलफेयर सोसायटी अभी रोजाना 3500 व्यक्तियों के लिए 23 मार्च 2020 से रोजाना भोजन के पैकेट बनाकर वितरण कर रही है। संस्था के अध्यक्ष कन्हैया लाल भाटी ने बताया कि संस्था द्वारा  अभी तक करीब 5000 मास्क व सैनिटाइजर भी  वितरण किए गए हैं। आगे भी कार्यकर्ताओं द्वारा बनाए जा रहे हैं   मास्क का वितरण जारी रहेगा। संस्था के कार्यकर्ता द्वारा निशुल्क भोजन बनाकर वितरण करने वाली अन्य संस्थाओं व मोहल्लों को सैनिटाइज किए जाने का कार्य भी किया गया। संस्था ने हिमालया कंपनी के प्रदेश प्रतिनिधि रोहित श्रीमाली द्वारा उपलब्ध करवाई गई हिमालया कंपनी की साबुनों का वितरण भी किया गया। कार्यकर्ता मुरली गहलोत अशोक कच्छावा, विनोद चांवरीया, गौरीशंकर भाटी, सुरेश, अर्चना नागर, सुशील सिंह भाटी, पन्नालाल सोलंकी, भीमराज सेवक आदि तन मन से सुबह 6 बजे से लेकर शाम 8 बजे तक निरंतर सेवाएं दे रहे हैं। भामाशाह व जन सहयोग से यह पुनीत कार्य संस्था द्वारा किया जा रहा है। इस विपदा की घड़ी में  मनुष्य हो या पशु पक्षी कोई भूखा न रहे इसी उद्देश्य के साथ संस्था के समस्त सदस्य इस पुनीत कार्य में लगे हुए हैं।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply