IMG 20221224 WA0026

नापासर को आदर्श गांव बनाने में कस्बेवासियों को लेना होगा संकल्प : नीरज के पवन

0
(0)

*प्रशासन व जिला परिषद करेगी भरपूर मदद*

बीकानेर । नापासर गांव के निवासियों में नापासर को आदर्श गांव के रूप में विकसित करने की भावना में जिला प्रशासन कोई कसर नहीं छोड़ेगा बस जरूरत है कस्बेवासियों को संकल्प लेने की । यह बात संभागीय आयुक्त नीरज के पवन ने कही। आयुक्त नापासर बीकानेर पंचायत समिति के प्रधान लालचन्द आसोपा, सरपंच प्रतिनिधि रतीराम तावनिया ,ग्राम सेवक पटवारी के साथ गणमान्य व्यक्तियों के साथ हुई मीटिंग को संबोधित कर रहे थे। नापासर के प्रतिनिधिमंडल ने संभागीय आयुक्त नीरज के पवन और जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल से कहा कि बीकानेर के सबसे नजदीकी गांव नापासर को अगर आदर्श गांव बनाया जाए तो बीकानेर संभाग में एक अलग पहचान होगी। उन्होंने कहा कि कस्बे के मुख्य मार्गों पर खोखे एवं रेहड़ी वालों ने कब्जे कर रखे हैं जिनमें अधिकांश बंद पड़े है तो कुछ ने अपने गोदाम बना रखे है। इससे आवागमन अवरुद्ध होने के साथ साथ कचरा भी फैला रहता है । जिस पर संभागीय आयुक्त ने बीडीओ को एक दिवस में कब्जे हटाने के निर्देश प्रदान किए । साथ ही कस्बे के गांधी चौक, नेहरू चौक, मूंधड़ा चौक एवं नेताजी पार्क का सौन्दर्यकरण करवाने, सार्वजनिक स्थानों पर सुलभ शौचालय बनाने जिसमे मुख्य बाजार, चुंगी चौकी, पंचायत बस स्टैंड शामिल है। गीता देवी बागड़ी स्कूल की तरफ, मृत पशुओं के निराकरण के लिए उचित जगह का चयन करना ताकि जगह जगह मृत पशुओं को नहीं डाले कचरा निस्तारण के लिए स्थान चिन्हित करने अभी वर्तमान में पकौड़ी तलाई, पंडरिया तलाई रीको में जैसी जगह मिली कचरा डाल देते है। ऐसे स्थानों को चिन्हित किया जाए। जलदाय विभाग द्वारा तोड़ दी गई मुख्य सड़कों की मरम्मत करवाएं। साथ ही देशनोक बाई पास सड़क, रामसर रोड सड़क का निर्माण किया जाय। शौचालय से वंचित परिवारों में शौचालय निर्माण करवाना, सीवरेज लाइनों की नियमित सफाई करवाना ताकि बारिश के समय लोगों को परेशानी न हो । जलदाय विभाग द्वारा तोड़ी गयी सड़कों को वापस मरम्मत करवाना, सार्वजनिक ऐतिहासिक जमीनों जिनमें कस्बेवासियों के खेल कूद के काम आने वाली जगहों को भूमाफियाओं के कब्जे से मुक्त करवाना है। आयुक्त नीरज के पवन व जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने गंभीरता से लेते हुए प्रति घर से कचरा संग्रहण हेतु 50 रुपये मासिक, होटल से 200 रुपये मासिक, वैवाहिक स्थल से 1000 रुपये वसूलने के निर्देश प्रदान किए। साथ ही भामाशाहों के सहयोग से गंदे पानी के निस्तारण हेतु एसटीपी प्लांट लगाने के सुझाव दिए । वहीं जगह जगह कचरा पात्र रखवाने के निर्देश दिए । नियमित कचरा फैलाने वाले घरों एवं दुकानों को नोटिस देते हुए चालान काटे जाए । बीकानेर जिला उद्योग संघ अध्यक्ष द्वारकाप्रसाद पचीसिया एवं नापासर उद्योग संघ अध्यक्ष किशन मोहता ने बताया कि नापासर में कृषि उपज मंडी की घोषणा हुए 10 साल हो गए हैं और मंडी बन चुकी है लेकिन अभी तक दुकानों का आवंटन नहीं हो पाया है । नापासर प्रधान लालचंद आसोपा ने गिरते जलस्तर को देखते हुए नापासर में जलाशय बनाने हेतु भूमि आवंटन की मांग रखी , वही बीकानेर पंचायत समिति जिला परिषद प्रशासन हर समय मदद करेगा । इस अवसर पर अतिरिक्त संभागीय आयुक्त ए एच गोरी, जिला परिषद सीईओ नित्या के, तहसीलदार कालूराम पड़िहार, जिला उद्योग केंद्र महाप्रबंधक मंजू नैन गोदारा, बीडीओ दिनेश मिश्रा, नापासर के दमालाल झंवर, सरपंच प्रतिनिधि रतिराम तावनिया, वीरेंद्र किराड़ू, सन्तोष आसोपा, कालूराम सुथार, नापासर पटवारी ओमप्रकाश मांजू ग्राम सेवक सुरेश मेघवाल आदि उपस्थित हुए ।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply