Screenshot 20220629 221345 WhatsApp

निशुल्क कत्थक प्रशिक्षण शिविर का समापन

0
(0)

बीकानेर । जिला प्रशासन बीकानेर के तत्वावधान में 23 मई से 23 जून आयोजित निशुल्क कत्थक प्रशिक्षण शिविर बीकानेर की समस्त बालिकाओं के लिए हुआ। कोटगेट स्थित सादुल स्कूल में, उसका समापन संभागीय आयुक्त डॉ नीरज के पवन की उपस्थिति में रविंद्र रंग मंच पर आज 28 जून को हुआ। कार्यक्रम में अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त वीणा जोशी द्वारा प्रशिक्षित 60 से अधिक छात्राओं ने और उनकी माताओं ने भी प्रशिक्षण शिविर में हिस्सा लिया था और शिक्षा प्राप्त की 1 महीने तक चले इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में बीकानेर में पहली बार कत्थक की बुनियादी और प्रदर्शन की शिक्षा इतने कम समय में दी गई। कथक गुरु वीणा जोशी की अद्वितीय अविस्मरणीय कोरियोग्राफी को देखकर मुख्य अतिथि संभागीय आयुक्त डॉ नीरज के पवन ने आश्चर्यचकित होकर सहजता से पूछ लिया क्या यही बेटियां हैं बालिकाएं हैं जो पहले दिन मैंने देखी थी। कार्यशाला के प्रथम दिन विद्यालय में अर्थात उन्होंने यह कहा कि यह प्रदर्शन और यह कार्यक्रम अद्भुत है। डॉक्टर नीरज के पवन ने यह कहा कि संगीत जहां एक तरफ भीतर व्यक्ति को आप महान बनाता है। वहीं दूसरी तरफ संगीत समाज में समरसता को एक हारमोनी को पैदा करता है। कार्यक्रम में खचाखच भरे रविंद्र रंगमंच में नृत्यांगन शीर्षक में बीकानेर के चारों तरफ से बालिकाओं ने हिस्सा लिया। सभी जाति वर्ग और सभी उम्र की समस्त भेदभाव ऊंच-नीच को इस संसार में संगीत ही समाप्त कर सकता है। ऐसा आज के कार्यक्रम से संदेश ना केवल बीकानेर को पूरी पृथ्वी को इस कार्यक्रम के माध्यम से गया इस जीवंत कार्यक्रम में नवरत्न जोशी और तेजस जोशी ने तबला संगत की हारमोनियम पर नगमा संगत कृष्ण कुमार जोशी ने कि जो कत्थक में अत्यंत आवश्यक अंग होता है। दामोदर जी तवर ने सितार वादन किया एवं कत्थक के कठिन बोल का वाचन वीणा जोशी ने ने स्वयं किया।

कार्यक्रम का संचालन चार्टर्ड अकाउंटेंट साहिल कालरा ने किया और पदमा जोशी ने किया जो कि मुख्य अतिथि कार्यक्रम में डॉक्टर नीरज के पवन के साथ पर्यटन विभाग के डिप्टी डायरेक्टर भानु प्रताप सिंह शिक्षा विभाग से मनोज तवर डॉ दीप्ति वाहल डॉक्टर ए पी वाहल, बजरंग जोशी, संजय जोशी, विश्व प्रसिद्ध प्रसिद्ध यूट्यूबर एवं संगीतज्ञ वीरेंद्र किराडू, पंकज जिंदल रंगमंच कलाकार भारती चौधरी आदि गणमान्य व्यक्तियों की उपस्थिति में कार्यक्रम संपन्न हुआ। कार्यक्रम के अंत में मानव चेतना जागृति प्रन्यास एवं अद्वैत ज्योतिष शोध संस्थान के फाउंडर आचार्य राजेंद्र जोशी ने सभी आए हुए अतिथियों का धन्यवाद ज्ञापित किया एवं बीकानेर में संगीत की परंपरा और बीकानेर का संगीत किस प्रकार पूरी पृथ्वी को लाभान्वित किया सकता है इस पर अपने विचार रखे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply