Screenshot 20211226 201755 WhatsApp

पत्रकार सुरक्षा कानून के लिए राज्य सरकार गंभीर- ऊर्जा मंत्री भाटी

0
(0)

बीकानेर में जार का प्रांतीय सम्मेलन संपन्न

✍ मूलचन्द पेसवानी

बीकानेर। जर्नलिस्ट एसोसिएशन ऑफ राजस्थान का प्रदेश स्तरीय पत्रकार सम्मेलन आज बीकानेर में पाणिग्रहण होटल में समारोह पूर्वक संपन्न हुआ। प्रदेश के ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी के मुख्य अतिथि में आयोजित इस सम्मेलन की अध्यक्षता एन यू जे आई के राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य रिछपाल पारीक ने की। समारोह में विशिष्ट अतिथि के रूप में बीकानेर पूर्व क्षेत्र की विधायक सिद्धि कुमारी, नोखा विधायक बिहारीलाल बिश्नोई, श्री डूंगरगढ़ विधायक गिरधारी महिया, नगर निगम बीकानेर की महापौर सुशीला कंवर राजपुरोहित, उरमूल डेयरी के चेयरमैन रूपा राम जाखड़, विप्र फाउंडेशन के राष्ट्रीय सचिव दीपक पारीक, यूआईटी के पूर्व चेयरमैन महावीर रांका, यूआईटी के पूर्व चेयरमैन हाजी मकसूद अहमद, भाजपा के जिला प्रभारी माधव सहित जनप्रतिनिधि व प्रशासनिक अधिकारी तथा वरिष्ठ पत्रकार मौजूद रहे।

जार के प्रदेश अध्यक्ष हरीवल्लभ मेघवाल ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए प्रदेश के पत्रकारों की मांगों का जिक्र करते हुए कहा कि केंद्र व राज्य सरकार इस दिशा में अनदेखी कर रही है । उन्होंने कहा कि पत्रकार सुरक्षा कानून अविलंब बनना चाहिए ताकि पत्रकारों की प्रताड़ना को रोका जा सके । उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने योजनाओं का संचालन को किया परंतु समय-समय पर उनमें कटौती की जा रही है। पत्रकारों के लिए कोई सर्वमान्य नीति तैयार होनी चाहिए। प्रदेश के ऊर्जा मंत्री को इस इस दिशा में पहल कर मुख्यमंत्री तक अपनी बात को रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि जार प्रदेश में पत्रकारों का सर्वमान्य सबसे बड़ा संगठन है और वह अपने संगठन के माध्यम से पत्रकारों की समस्याओं को उठाते रहेंगे।

मुख्य अतिथि ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने संबोधित करते हुए कहा कि लोकतंत्र में मीडिया की भूमिका को नकारा नहीं जा सकता और बिना मीडिया के लोकतंत्र भी सशक्त नहीं हो सकता। भाटी ने कहा कि आज मीडिया के कई आयाम हैं मीडिया के प्रति युवाओं में भी करियर का रुझान बढ़ा है। इसी को देखते हुए मुख्यमंत्री ने जयपुर में हरिदेव जोशी पत्रकारिता संचार विश्वविद्यालय पुन चालू करवाया जो देश में नया आयाम स्थापित करेगा।

कोविड-19 में पत्रकारों की भूमिका की सराहना करते हुए भाटी ने कहा कि वास्तव में पत्रकारों ने कोरोना वारियर्स के रूप में काम किया जो सराहनीय रहा। उन्होंने पत्रकारों की वाजिब समस्याओं का जिक्र करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री हमेशा से ही पत्रकारों के प्रति संवेदनशील रहे हैं और उन्होंने कई योजनाएं भी पत्रकारों के लिए चालू की है। पत्रकारों की सुरक्षा के लिए भी राज्य सरकार गंभीर है। ऐसी घटना की पुनरावृत्ति नहीं हो राज्य सरकार ऐसी पुख्ता व्यवस्था करेगी। उन्होंने कहा कि बीकानेर के अधिवेशन में पत्रकारों की मांगों के संबंध में जारी बीकानेर घोषणा पत्र को वो मुख्यमंत्री तक पहुंचाएंगे और त्वरित गति से कार्रवाई कर राहत पहुंचाने का काम करेंगे।
कार्यक्रम में विधायक गिरधारी लाल ने कहा कि देश में पत्रकारिता ने आज नया मोड़ ले लिया है। अधिवेशन में मंथन होना चाहिए और पत्रकारों को अपनी ताकत पहचान कर कलम की धार को तेज करना चाहिए । संगठित होकर ही समस्याओं का समाधान हो सकेगा।

नोखा के विधायक बिहारी विश्नोई ने पत्रकारों की समस्याओं को वाजिब बताते हुए कहा कि उन्होंने कॉविड के दौर में पत्रकारों को कोरोना वॉरियर्स घोषित करने के लिए सबसे पहले मुख्यमंत्री को पत्र लिखा था । वर्तमान अधिवेशन में जारी बीकानेर घोषणा पत्र के संबंध में उन्होंने आश्वस्त किया कि वह इस संबंध में विधानसभा के पटल पर इन मांगों को रखेंगे और राज्य सरकार पर दबाव बनाएंगे ताकि उनका समाधान हो। बीकानेर विधायक सिद्धि कुमारी ने कहा कि कलम में ताकत है मीडिया टफ प्रोफेशनल है। ऐसे आयोजन पत्रकारिता क्षेत्र में जागरूकता पैदा करेंगे और ऐसा होते रहना चाहिए।

बीकानेर की महापौर सुशीला कंवर ने कहा कि पत्रकारों की समस्याओं के समाधान के लिए वो सजग है। शहर के पत्रकारों के लिए कोई भी उनके पास मांग आएगी तो वह अपने स्तर पर समाधान का प्रयास करेगी।
जार बीकानेर के जिला अध्यक्ष श्याम मारु ने शुरुआत में सभी का स्वागत करते हुए प्रदेश भर के पत्रकारों के संबंध में प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में तैयार किए गए बीकानेर घोषणा पत्र के बारे में जानकारी सदन में रखी । उन्होंने कहा कि इस मांग पत्र को मुख्यमंत्री व प्रधानमंत्री तक पहुंचाया जाएगा और आवश्यकता पड़ी तो विधायकों और सांसदों तक भी अपनी बात को पहुंचाएंगे। उन्होंने सभी पत्रकारों से बीकानेर अधिवेशन में पधारने पर स्वागत करते हुए आभार ज्ञापित किया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए वरिष्ठ पत्रकार एवं nuji की राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य रिछपाल पारीक ने कहा कि पत्रकारों को अपनी पत्रकारिता के धर्म का निर्वहन ईमानदारी व निष्ठा के साथ करना चाहिए। इसी से पत्रकार अपनी ताकत के बल पर समाज में विशेष पहचान बनाए हुए हैं । इसी पहचान को कायम रखते हुए हमें अपनी मांगों को मनवाने होगा।
समारोह को संबोधित करते हुए पत्रकार साथियों ने विभिन्न जिलों की रिपोर्ट प्रस्तुत की तथा अपने अपने क्षेत्र की समस्याओं से अवगत कराया। बाद में सर्वसम्मति से जार के बैनर तले एक संयुक्त मांग पत्र तैयार कर राज्य सरकार व केंद्र सरकार को भिजवाने का निर्णय लिया गया। जार के प्रदेश उपाध्यक्ष भवानी शंकर जोशी ने सभी का आभार ज्ञापित किया। कार्यक्रम में जार के प्रदेश के विभिन्न जिलों से आए पत्रकारों के अलावा बीकानेर प्रेस क्लब के पत्रकार साथियों ने भी शिरकत की।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply