TID-Logo

ऑक्सफोर्ड, हार्वर्ड एवं स्टेनफोर्ड विश्वविद्यालय जैसी दुनिया की नामचीन 50 संस्थानों में अध्ययन कर सकेंगे

0
(0)

राज्य में राजीव गांधी स्कॉलरशिप फॉर एकेडमिक एक्सीलेंस योजना लागू, 22 अक्टूबर से आवेदन आमंत्रित

राज्य सरकार 200 मेधावी विद्यार्थियों के विदेश में उच्च अध्ययन का पूरा खर्चा उठाएगी

जयपुर, 6 अक्टूबर। राज्य सरकार प्रदेश के 200 मेधावी विद्यार्थियों को विदेश की चुनिंदा 50 संस्थानों में उच्च अध्ययन की सुविधा मुहैया कराएगी। इसके लिए इसी सत्र से राजीव गांधी स्कॉलरशिप फॉर एकेडमिक एक्सीलेंस (आरजीएस) योजना शुरू की गई है, जिसके लिए आगामी 22 अक्टूबर से आवेदन किए जा सकेंगे।

उच्च शिक्षा राज्य मंत्री श्री भंवरसिंह भाटी ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की जयंती पर गत 20 अगस्त को इस योजना की घोषणा की थी। विभाग ने तत्परता से कार्य करते हुए विस्तृत नियम बनाकर यह योजना इसी सत्र से लागू कर 22 अक्टूबर से आवेदन आमंत्रित किए हैं। उन्होंने बताया कि इसके तहत ऑक्सफोर्ड, हार्वर्ड एवं स्टेनफोर्ड विश्वविद्यालय जैसी दुनिया की नामचीन 50 संस्थानों से स्नातक, स्नातकोत्तर, पीएचडी एवं पोस्ट डॉक्टोरल स्तर पर अध्ययन के लिए वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। विद्यार्थियों के यात्रा किराया, ट्यूशन फीस सहित सम्पूर्ण खर्चा राज्य सरकार वहन करेगी।

30 फीसदी अवार्ड छात्राओं के लिए चिह्नित
भाटी ने बताया कि स्नातक स्तर के पाठ्यक्रमों के लिए केवल मानवीकी से संबंधित विषयों के अध्ययन के लिए ही छात्रवृृत्ति प्रदान की जाएगी। हर साल 200 मेधावी विद्यार्थियों में से 30 फीसदी अवार्ड छात्राओं के लिए चिह्नित रखते हुए 60 छात्राओं को अध्ययन सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। उन्होंने बताया कि छात्रवृृत्ति के लिए आवेदन करने से पूर्व आवेदकों का संबंधित विदेशी संस्थानों में प्रवेश होना जरूरी है। इस योजना के अन्तर्गत प्रति वर्ष 8 लाख से कम पारिवारिक आय वाले अभ्यर्थियों को प्राथमिकता दी जाएगी।

इन विषयों में मिलेगी स्कॉलरशिप
कॉलेज आयुक्त श्री संदेश नायक ने योजना के अन्तर्गत आने वाले विषयों और उनसे संबंधित अवार्ड की जानकारी देते हुए बताया कि ह्यूमैनिटीज, सोशल साइंस, एग्रीकल्चर एंड फोरेस्ट साइंस, नेचर एंड एनवायरमेंटल साइंस एवं लॉ के लिए 150, मैनेजमेंट एंड बिजनस एडमिनिस्ट्रेशन एवं इकोनॉमिक्स एंड फाइनेंस के लिए 25 और प्योर साइंस एवं पब्लिक हेल्थ विषयों के लिए 25 विद्यार्थियों को स्कॉलरशिप दी जाएगी। इन विषयों में स्थान रिक्त रहने की दशा में इंजीनियरिंग एंड रिलेटेड साइंस, मेडिसिन तथा एप्लाइड साइंस में अधिकतम 15 उम्मीदवारों को छात्रवृृत्ति दी जा सकेगी।

आरजीएस पोर्टल पर कर सकेंगे आवेदन
श्री नायक ने बताया कि आवेदन राज्य सरकार के विशेष आरजीएस पोर्टल/वेबसाइट पर प्राप्त किए जाएंगे और पोर्टल पर ही आवेदकों का चयन किया जाएगा। पात्र आवेदकों के 200 से अधिक आवेदन मिलने पर छात्रवृृत्ति के लिए लॉटरी के माध्यम से चयन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि आवेदन एवं योजना से संबंधित अधिक जानकारी विभागीय वेबसाइट https://hte.rajasthan.gov.in/ पर देखी जा सकती है।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply