TID-Logo

समर्थन मूल्य पर मूंग, उड़द, सोयाबीन की 1 से एवं मूंगफली की 18 नवम्बर से खरीद

0
(0)

ऑनलाइन पंजीयन 20 अक्टूबर से होगा प्रारम्भ, 868 केन्द्रों पर होगी खरीद

जयपुर, 06 अक्टूबर। सहकारिता मंत्री श्री उदय लाल आंजना ने बुधवार को बताया कि प्रदेश में समर्थन मूल्य पर मूंग, उड़द, सोयाबीन एवं मूंगफली की खरीद के लिये ऑनलाइन पंजीकरण बुधवार, 20 अक्टूबर से शुरू किया जा रहा है। 868 से अधिक खरीद केन्द्रों पर मूंग, उड़द एवं सोयाबीन की 1 नवम्बर से तथा 18 नवम्बर से मूंगफली खरीद की जाएगी। सहकारिता मंत्री ने बताया मूंग के लिए 357 उड़द के लिए 168 मूंगफली के 257 एवं सोयबीन के लिए 86 खरीद केन्द्र चिह्नित किए गए हैं। श्री आंजना ने बताया कि किसानों को किसी प्रकार की असुविधा नहीं हो इसके लिए ऑनलाइन पंजीकरण की व्यवस्था ई-मित्र एवं खरीद केन्द्रों पर प्रातः 9 बजे से सायं 7 बजे तक की गई है। उन्होंने बताया कि केन्द्र सरकार को मूंग की 3.61 लाख मीट्रिक टन, उडद 61807 मीट्रिक टन, सोयाबीन 2.93 लाख तथा मूंगफली 4.27 लाख मीट्रिक टन की खरीद के लक्ष्य की स्वीकृति भारत सरकार ने दी है। पंजीकरण के अभाव में किसानों से समर्थन मूल्य पर खरीद संभव नहीं होगी। श्री आंजना ने बताया कि वर्ष 2021-22 के लिए मूंग के लिए 7275 रुपये एवं उड़द के लिए 6300 रुपये, मूंगफली के लिए 5500 रुपये एवं सोयाबीन के लिए 3950 रुपये प्रति क्विंटल समर्थन मूल्य घोषित किया है। किसानों को अपनी उपज बेचने में किसी प्रकार की परेशानी न हो इसके लिए खरीद केन्द्रों पर आवश्यकतानुसार तौल-कांटें लगाये जायेंगे एवं पर्याप्त मात्रा में बारदाना उपलब्ध कराया जाएगा। प्रमुख शासन सचिव सहकारिता श्री दिनेश कुमार ने बताया कि किसान को जनआधार कार्ड नम्बर, खसरा गिरदावरी की प्रति एवं बैंक पासबुक की प्रति पंजीयन फार्म के साथ अपलोड करनी होगी। जिस किसान द्वारा बिना गिरदावरी के अपना पंजीयन करवाया जायेगा, उसका पंजीयन समर्थन मूल्य पर खरीद के लिये मान्य नहीं होगा। यदि ई-मित्र द्वारा गलत पंजीयन किये जाते या तहसील के बाहर पंजीकरण किये जाते है तो ऐसे ई-मित्रों के खिलाफ कठोर कानूनी कार्यवाही की जाएगी। श्री कुमार ने बताया कि किसान एक जनआधार कार्ड में अंकित नाम में से जिसके नाम गिरदावरी होगी उसके नाम से एक पंजीयन करवा सकेगा। किसान इस बात का विशेष ध्यान रखे कि जिस तहसील में कृषि भूमि में उसी तहसील के कार्यक्षेत्र वाले खरीद केन्द्र पर उपज बेचान हेतु पंजीकरण करावें। दूसरी तहसील में यदि पंजीकरण कराया जाता है तो पंजीकरण मान्य नही होगा। प्रबंध निदेशक राजफैड श्रीमती सुषमा अरोडा ने बताया कि किसान पंजीयन कराते समय यह सुनिश्चित कर ले कि पंजीकृत मोबाईल नम्बर, से जनआधार कार्ड से लिंक हो जिससे समय पर तुलाई दिनांक की सूचना मिल सके। किसान प्रचलित बैंक खाता संख्या सही दे ताकि ऑनलाइन भुगतान के समय किसी प्रकार की परेशानी किसान को नहीं हो। उन्होंने बताया कि किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए हेल्प लाइन नम्बर 1800-180-6001 भी 20 अक्टूबर से प्रारंभ हो जाएगा।

जिला चिकित्सालय में कैंसर रोग की पहचान, जांच एवं परामर्श शिविर का हुआ आयोजन
बीकानेर, 6 अक्टूबर। कैंसर रोग की पहचान, जांच एवं परामर्श शिविर का आयोजन बुधवार को एस.डी.एम. राजकीय जिला चिकित्सालय में किया गया।
राजकीय जिला चिकित्सालय के अधीक्षक डॉ. प्रवीन चतुर्वेदी ने बताया कि एन.सी.डी. शिविर प्रभारी डॉ. संजय खत्री एवं विषय विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम द्वारा आयोजित इस शिविर में रोगियों की जांच की गई एवं आवश्यक उपचार उपलब्ध करवाते हुए लोगों को गैर संचारी रोगों के लक्षणों तथा बचाव के उपायों के बारे में जानकारी दी गई। शिविर में मुख्यतया पुरूषों के मुंह, फेंफड़े, ग्रासनली और अमाशय के कैंसर तथा स्त्रियों के गर्भाशय, स्तन और मुंह कैंसर, हर्दय रोग सुगर, ब्लड प्रेसर से सम्बन्धित सभी जांच की गई एवं आवश्यक बचाव एवं उपचार बताए गए।
उन्होंने बताया कि शिविर में 353 मरीजों की स्क्रीनिंग की गई, जिसमें 3 महिलाओं का पेप्स स्मियर लिया गया तथा उच्च रक्तचाप के 2 नए रोगी मिले। फिजियों थेरेपी में डॉ. ऋिषी शर्मा द्वारा 23 मरीजों को थेरेपी दी गई, उन्हें सलाह व उपचार मौके पर ही दिया गया। शिविर में 3 लोगों की ईसीजी की गई एवं 14 मरीजों को लिपिड प्रोफाइल किया गया। शिविर में डॉ. वी.के. गांधी, डॉ. रश्मि जैन, डॉ. जसविंदर गिल, डॉ. हिमांशु दाधीच ने अपनी सेवाएं दी। उन्होंने बताया कि शिविर में जिला एनसीडी इकाई से इन्द्रजीत ढ़ाका, धनाराम (लेबटेक्निशियन) उमेश पुरोहित, निशान्त मारू ने सहयोग किया एवं आईईसी मेटिरियरल का प्रचार प्रसार आमजनता में किया।

जिला बाल संरक्षण इकाई की बैठक 12 अक्टूबर को
बीकानेर, 6 अक्टूबर। समेकित बाल संरक्षण योजना (आई.सी.पी.एस.) एवं किशोर न्याय (देखभाल एवं संरक्षण) अधिनियम 2000 तहत जिला स्तर पर बाल संरक्षण के लिए गठित जिला बाल संरक्षण इकाई की बैठक जिला कलक्टर नमित मेहता की अध्यक्षता में 12 अक्टूबर को प्रातः 11 बजे कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की जाएगी। यह जानकारी बाल अधिकारिता विभाग एवं जिला बाल संरक्षण इकाई की सहायक निदेशक कविता स्वामी ने दी।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply