IMG 20210406 WA0016

कोरोना एडवाइजरी का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ ज्वाइंट एनफोर्समेंट टीमें करेंगी सख्त कार्यवाही

1
(1)

जिला कलक्टर ने दिए निर्देश, बर्दाश्त नहीं होगी गाइडलाइन की अवहेलना
बीकानेर, 6 अप्रैल। कोविड एडवाइजरी की अनुपालना नहीं करने वालों के खिलाफ ज्वाइंट एनफोर्समेंट टीमें (जेईटी) सख्त कार्यवाही करेंगी। इन टीमों में संबंधित थाना क्षेत्र के एरिया मजिस्ट्रेट, थानाधिकारी और नगर निगम के अधिकारियों को सम्मिलित किया गया है। यह टीमें प्रतिदिन दो बार अपने-अपने क्षेत्रों का दौरा करेंगी और कोविड एडवाइजरी की पालना सुनिश्चित करवाएगी।
जिला कलक्टर नमित मेहता ने मंगलवार को कलक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए अगले पंद्रह दिन बेहद चुनौतीपूर्ण हैं। इस दौरान प्रत्येक अधिकारी को अधिक मुस्तैदी के साथ काम करना होगा। उन्होंने कहा कि कोविड एडवाइजरी की पालना करवाना हमारी सबसे बड़ी जिम्मेदारी है। इसमें किसी भी स्तर पर शिथिलता नहीं बरती जाए। गाइडलाइन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ जेईटी द्वारा सख्त रुख अपनाए। उन्होंने बताया कि बीकानेर नगरीय क्षेत्र में सात और श्रीडूंगरगढ़, नोखा और देशनोक में एक-एक जेईटी का गठन किया गया है। इन टीमों द्वारा प्रतिदिन की गई कार्यवाही की सूचना अतिरिक्त कलक्टर (नगर) को देनी होगी।
जिला कलक्टर ने कहा कि इसके साथ ही एंटी कोविड टीमें (एसीटी) भी गठित की गई हैं। इनमें बीएलओ, एएनएम, जीएनएम, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं आदि को सम्मिलित किया गया हैं। यह ज्वांइट एनफोसमेंट टीमों के निर्देशानुसार कार्य करेंगी। उन्होंने कहा कि मास्क नहीं लगाने वालों के खिलाफ अधिक से अधिक चालान तथा एडवाइजरी का उल्लंघन करने वाले प्रतिष्ठानों को अस्थाई रूप से सीज किया जाए। राज्य सरकार की गाइडलाइन के अनुसार जिम, स्वीपिंग पूल और सिनेमाघर बंद रहें और रात्रि 9 बजे तक दुकानें भी बंद हो जाएं, यह सुनिश्चित किया जाए।
बढ़ाएं सेम्पलिंग और टीकाकरण
जिला कलक्टर ने कहा कि जिले में प्रतिदिन कम से पंद्रह सौ सैम्पल लिए जाएं। कोरोना पाॅजिटिव पाए जाने की स्थिति में नियमानुसार आइसोलेशन की कार्यवाही हो। पांच से अधिक पाॅजिटिव पाए जाने पर मिनी कंटेटमेंट जोन बनाया जाए। पाॅजिटिव मरीजों की कांटेक्ट ट्रेसिंग पूर्ण सावधानी से की जाए। उन्होंने प्रतिदिन कम से कम बीस हजार लोगों के वैक्सीनेशन के निर्देश दिए तथा कहा कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा न्यूनतम पांच दिनों का वैक्सीनेशन प्लान तैयार किया जाए। इसका व्यापक प्रचार प्रसार हो। उन्होंने रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड और एयरपोर्ट पर आने बाहर से आने वाले लोगों की रेंडम सैंपलिंग के निर्देश दिए।
एमसीएच विंग में व्यवस्थाएं रहें चाक चौबंद
मेहता ने कहा कि राज्य सरकार की अधिसूचना के अनुसार पीबीएम अस्पताल की एमसीएच विंग को कोविड डेडिकेटेड अस्पताल घोषित किया गया है। इसके मद्देनजर यहां की सभी व्यवस्थाएं चाक चौबंद रहें, यह सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने कहा कि पीबीएम अधीक्षक विंग की सभी संसाधनों का एसेसमेंट कर लें। कार्मिकों का बेहतर प्रबंधन किया जाए तथा आॅक्सीजन एवं दवाइयों की पर्याप्त व्यवस्था हो, इसकी जांच की जाए। उन्होंने अधिसूचित निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए नियमानुसार 25 प्रतिशत बैड आरक्षित करवाने के लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देशित किया। जिला स्तरीय, पीबीएम तथा सीएमएचओ स्तर के नियंत्रण कक्ष एक्टिव करने के निर्देश दिए।
होमगार्ड जवान रखेंगे कंटेंटमेंट जोन पर नजर
पुलिस अधीक्षक प्रीति चंद्रा ने कहा कि कोविड गाइडलाइन की पालना के लिए पुलिस प्रशासन पूर्णतया मुस्तैद है तथा अवहेलना करने वालों के खिलाफ कार्यवाही अमल में लाई जा रही है। उन्होंने बताया कि कंटेंटनमेंट जोन में पालना सुनिश्चित करवाने के लिए होमगार्ड के सौ जवानों को थानावार नियुक्त किया गया है। वहीं बीट कांस्टेबल भी इस पर नजर रखेंगे। उन्होंने कहा कि ज्वाइंट एनफोर्समेंट टीम स्तर पर व्हाट्सएप्प ग्रुप बनाए जाएं तथा आपसी समन्वय रखते हुए टीम भावना के साथ कार्य करें।
बैठक में प्रशिक्षु आईएएस कनिष्क कटारिया, अतिरिक्त जिला कलक्टर (शहर) अरुण प्रकाश शर्मा अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) बलदेव राम धोजक, यूआईटी सचिव नरेंद्र सिंह पुरोहित, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी ओम प्रकाश मेहरा, पीबीएम अस्पताल अधीक्षक डॉ परमिंदर सिरोही, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुकुमार कश्यप तथा एरिया मजिस्ट्रेट मौजूद रहे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 1 / 5. Vote count: 1

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply