IMG 20210222 WA0010

झूठे शपथ पत्र के आधार पर प्रवेश देने और लेने वालों के खिलाफ प्राईवेट स्कूल्स ने कसी कमर, लीगल कार्रवाई की कर रहे हैं तैयारी

1
(1)

गंगाशहर की सभी प्राईवेट स्कूल्स हुए एकजुट

बीकानेर। बिना टी सी स्कूल में प्रवेश देने वाले स्कूल संचालकों व संस्था प्रधानों के विरुद्ध कार्रवाई के लिए उपनगरीय गंगाशहर क्षेत्र के सभी प्राईवेट स्कूलों के संचालक एकजुट हो गए हैं। झूठे शपथ पत्र या स्वघोषणा पत्र के आधार के खेल को बढ़ावा देने वाले लोगों के विरुद्ध कार्रवाई के लिए सभी स्कूलों के संचालकों ने कमर कस ली है। सभी मिलकर इस अवैधानिक काम को अंजाम देने वालों को कानूनी तरीके से सबक सीखाने की ठान चुके हैं। उपनगरीय क्षेत्र गंगाशहर के गोपेश्वर बस्ती, खेतेश्वर बस्ती, चौपड़ा बाड़ी, पुरानी लेन, नई लेन, पाबू चौक, इंद्रा चौक, चौधरी कॉलोनी, सुजानदेसर मार्ग, शिवा बस्ती व घड़सीसर के समस्त गैर सरकारी शिक्षण संस्थाओं ने संकल्प लिया है कि “बिना टी सी प्रवेश ना लेंगे – न ही लेने देंगे”। इस संबंध में एक आवश्यक मिटिंग का आयोजन राजस्थान राज्य भारत स्काउट व गाइड के स्थानीय संघ कार्यालय, गंगाशहर में किया गया। मिटिंग में सर्व सम्मति से सभी ने संकल्प लिया कि गंगाशहर परिक्षेत्र की कोई भी प्राईवेट स्कूल 21 फरवरी से अपने यहां अपने स्कूल की एंट्री कक्षा के अतिरिक्त किसी भी कक्षा में बिना टी सी प्रवेश नहीं देंगे। इस सामूहिक संकल्प से इस क्षेत्र की सभी सरकारी स्कूलों में जाकर उन्हें बताया जाएगा कि क्षेत्र की समस्त प्राईवेट स्कूल्स बिना टी सी प्रवेश नहीं लेंगे, इसलिए आपके स्कूल्स में भी बिना टी सी प्रवेश नहीं दिए जाएं। इस मुहिम के संयोजक गिरिराज खैरीवाल ने बताया कि यदि किसी प्राईवेट या सरकारी स्कूल द्वारा इस संकल्प की अवहेलना की जाएगी तो जिस स्कूल के स्टूडेंट्स को बिना टी सी प्रवेश दिया जाता है तो प्रवेश लेने वाले स्कूल के विरुद्ध उस स्कूल के संचालक की अगुवाई में क्षेत्र की सभी स्कूल्स के संचालक मिलकर नियमानुसार कार्रवाई का संपादन करेंगे। सबसे पहले इस नियम की अवहेलना करने वाले स्कूल संचालक को उसकी स्कूल जाकर समझाया जाएगा, उसके बाद भी नहीं मानने पर नियमानुसार कार्रवाई सभी प्राईवेट स्कूल्स द्वारा मिलकर संबंधित स्कूल के विरुद्ध की जाएगी। मुहिम के उप संयोजक बालकिशन सोलंकी ने बताया कि गंंगाशहर परिक्षेत्र की सभी 60 प्राईवेट स्कूल्स को मिटिंग में आने के लिए सूचना दी गई थी। इनमें से चालीस स्कूलों के संचालक मिटिंग में सम्मिलित हुए जबकि किसी कारणवश मिटिंग में नहीं आ सकने वाले कुछ स्कूल संचालकों ने फोन पर अपनी सहमति दी। शेष रही स्कूल्स के संचालकों को उनके स्कूल जाकर इस मुहिम से जोड़ा जाएगा। इस अवसर पर गिरिराज खैरीवाल व बालकिशन सोलंकी ने इस मुहिम के संबंध में विस्तृत जानकारी दी। उमाचरण सुरोलिया, रामचंद्र आचार्य, मनोज कुमार राजपुरोहित, शैलेष भादाणी व रघुनाथ बेनीवाल ने विचार व्यक्त करते हुए उपस्थित स्कूल संचालकों को इस विषय में सहयोग के लिए आह्वान किया। प्रभुदयाल गहलोत ने मिटिंग की अध्यक्षता की। श्रवण कुमार भांभू, ओमदान चारण, सवाई सिंह राजपुरोहित, महावीर जैन, कन्हैयालाल साध, राजीव कुमार भाटी, सिकंदर यादव, सूरज रतन तंवर, श्यामलाल कुमावत, लोकेश कुमार मोदी, उमानाराम प्रजापत, राकेश कुमार जोशी, राकेश पंवार, विनोद सिंह राजपुरोहित, हनुमान सिंह गहलोत, अभिषेक आचार्य, विनोद कुमार गौड़, इंद्राज प्रजापत, शिव कुमार शर्मा, केवल चंद भूरा, बजरंग लाल, विष्णु दत मारू, राजकुमार दैया, महेश गुप्ता, सुनील डागा, अशोक कुमारी शर्मा इत्यादि की सक्रिय उपस्थिति रही।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 1 / 5. Vote count: 1

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply