IMG 20210215 WA0009

कैंसर को पराजित कर चुके बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम में दिखाया दमखम

0
(0)

बीकानेर। जीवदया फाउंडेशन के तत्वावधान में इंटरनेशनल चाइल्डहुड केंसर दिवस पर आचार्य तुलसी केंसर रिसर्च हॉस्पिटल सभागार में कैंसर उपचाराधीन बच्चों व केंसर जैसी बीमारी को पराजित कर चुके बच्चो का सांस्कृतिक कार्यक्रम और सम्मान समारोह आयोजित किया गया।
कार्यक्रम की मुख्य अतिथि नगर निगम की महापौर सुशीला कंवर ने अपने उद्बोधन में कहाँ की डॉक्टर धरती के भगवान है और बीकानेर का कैंसर हॉस्पिटल और यहाँ के उपचार पर देशभर में लोगो का भरोसा है। साथ ही उन्होंने ये कहा कि ये छोटे छोटे बच्चे जिन्होंने कैंसर से लड़कर उसको पराजित कर जीवन की जंग को जीत लिया सही मायनों में वे ही योद्धा है,महापौर ने कहा कि स्वच्छता भी स्वास्थ्य के लिए अनिवार्य है अतः अपने आस पास किसी भी स्तर पर गंदगी न रहने दे। कार्यक्रम समन्वयक जीवदया फाउंडेशन की सुधा पारीक ने जानकारी देते हुए बताया कि वर्षपर्यंत संस्था द्वारा जरूरतमंद गरीब मरीजों के लिए जांच व दवाओं की व्यवस्था की जाती है साथ ही उपचार के दौरान रखने वाली सावधानियों व आहार विहार सम्बन्धी जानकारी एक्सपर्ट द्वारा उपलब्ध कराई जाती है,इस अवसर पर केंसर जैसी बीमारी को परास्त करने वाले कैंसर विक्टर संदीप ,स्नेहा पंजाबी,सबा चिश्ती आकांक्षा वर्मा ,कौशल्या ने शानदार नृत्य की की प्रस्तुतियों से इंद्रधनुषी संस्कृति के रंग बिखेरे।
वही इशिता ,नंदिनी कंवर ,मानसी, गजरा,दृष्टि पारीक, तृप्ति पारीक ने नृत्य प्रस्तुत किये तो सागर ने गिटार से प्रस्तुति देकर समा बांध दिया।समारोह में डॉ सुरेंद्र बेनीवाल,डॉ मेघराज बरडिया,डॉ पंकज टाटिया, डॉ प्रमिला और डॉ अनुराधा पारीक ने अपने उद्बोधन में कैंसर पीड़ित बच्चों के उपचार और पहचान की जानकारी दी।
इस अवसर पर एक पोस्टर प्रतियोगिता भी रखी गई जिसके विजेता योगेश रंगा रहे वही दूसरे स्थान पर रवि उपाध्याय रहे।कार्यक्रम का शुभारंभ माँ सरस्वती के चित्र पर महापौर ने माल्यार्पण से किया उनके साथ मानव सेवा समिति के रामगोपाल व ओम जी मोदी भी मौजूद रहे,कार्यक्रम में अतिथियों का धन्यवाद और आभार ज्ञापित करते हुए फाउंडेशन की डाइटिंग विशेषज्ञ मीनाक्षी भाटिया ने बताया की आहार में हल्दी और अदरक का सेवन बहुत लाभकारी होता है। अंत में सभी बच्चो को न्यूट्रिसिन किट वितरित किये गए। कार्यक्रम में विशेष सहयोग अम्बिका पारीक और ज्योति वर्मा का रहा। वहीं कार्यक्रम का प्रभावी संचालन ज्योति प्रकाश रंगा द्वारा किया गया।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply