TID-Logo

इन परिवारों को 15 फरवरी तक मिलेगा निःशुल्क राशन

0
(0)

बीकानेर, 09 फरवरी। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग, जयपुर के आदेश 21 जनवरी 2021 द्वारा बीकानेर जिले के पुनःसर्वे में जिन परिवारों को राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना के अन्तर्गत खाद्यान्न नहीं मिल रहा है (नाॅन एन.एफ.एस.ए.) एवं उन परिवारों को जिन्हे एक बार भी उक्त योजना का खाद्यान्न निःशुल्क प्राप्त नहीं हुआ है, उन परिवारों को राज्य सरकार के आदेषानुसार 10 किलोग्राम प्रति व्यक्ति गेहूं एवं 02 किलोग्राम चना प्रति परिवार दिया जा रहा है। इस संबंध में जिला रसद अधिकारी यशवंत भाकर ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा उक्त नाॅन एनएफएसए पंजीकृत परिवारों को खाद्यान्न दिये जाने की अंतिम तिथि 15 फरवरी निर्धारित की गई है।

भाकर ने बताया कि शासन सचिव, खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग, जयपुर द्वारा सोमवार को आयोजित जिला रसद अधिकारियों की विडियो कान्फ्रेंस के दौरान प्रदत्त निर्देशों में नाॅन एनएफएसए पंजीकृत उपभोक्ताओं को राषन दिए जाने के कार्य की प्रगति समीक्षा की गई थी। इस संबंध में राज्य सरकार के पूर्व में प्रदत्त निर्देशानुसार किए गए पुनः सर्वे में राज्य में 4.14 लाख परिवारों को पंजीकृत किया गया था। बीकानेर जिले में पुनःसर्वे में 21,152 परिवारों को पंजीकृत किया गया था। बीकानेर जिले को योजना के अन्तर्गत 7074.34 क्विंटल गेहूं तथा 331.14 क्विंटल चना आवंटित किया गया है।
भाकर ने बताया कि इन परिवारों को 79,118 सदस्यों के अनुसार 2 माह का 10 किलोग्राम गेहूं प्रति व्यक्ति एवं 2 किलोग्राम चना प्रति परिवार वितरण किया जा रहा है। जिले के समस्त उचित मूल्य दुकानदारों को नाॅन एनएफएसए श्रेणी के पंजीकृत परिवारों को निःशुल्क खाद्यान्न वितरण योजना के तहत राशन वितरण किये जाने के निर्देष प्रदान किए गए हैं। लाभार्थी उक्त योजना के तहत निःशुल्क खाद्यान्न प्राप्त करते समय अपना जन आधार कार्ड या आधार कार्ड लेकर उचित मूल्य दुकान पर जाऐंगे तथा खाद्यान्न प्राप्त करते समय मोबाइल फोन पर लाभार्थी का आधार या जन आधार नम्बर लगाने पर ओटीपी प्राप्त होने पर निःशुल्क राशन वितरण किया जाएगा। यदि किसी लाभार्थी का जन आधार या आधार से दर्ज नम्बर परिवर्तित हो गया है तो उसी समय अपना नया नम्बर अपडेट करवा कर उस पर ओटीपी प्राप्त किया जाएगा। उन्होंने बताया कि सभी उचित मूल्य दुकानों पर वितरण के समय कोविड-19 निर्देषों की पालना सुनिष्चित की जाएगी।

जीयो टैगिंग से खाद्यान्न वितरण में होगी पारदर्षिता
राज्य सरकार के निर्देषानुसार अब जिले की समस्त उचित मूल्य दुकानों की जियो टेगिंग की जा रही है। जीयो टेगिंग होने के बाद प्रत्येक दुकान के भोगौलिक दृष्टि से उसके अवस्थित होने के स्थल का चिन्हिकरण होगा एवं उपभोक्ता आसानी से दुकान की जानकारी प्राप्त कर सकेगा। इसके अलावा गोदाम से उचित मूल्य दुकान तक राशन सामग्री की डोर स्टेप डिलीवरी की प्रक्रिया अधिक पारदर्शी होगी तथा सम्पूर्ण प्रक्रिया की माॅनिटरिंग संभव हो सकेगी। इस संबंध में भाकर ने बताया कि बीकानेर में स्थित कार्यषील 854 उचित मूल्य दुकानों में से अब तक 451 दुकानों की जीयो टेगिंग की जा चुकी है। बीकानेर में उचित मूल्य दुकानों की जीयो टेगिंग का कार्य वर्तमान में प्रगति पर है एवं अब तक 51.99 प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त किया जा चुका हैं।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply