IMG 20210124 WA0088

सुखद होंगे आर्थिक सुधार के परिणाम, विज्ञान और खेल में बढ़ेगा भारत का वर्चस्व

0
(0)

बीकानेर। 26 जनवरी 2021 को 72 वे गणतंत्र का प्रवेश मिथुन लग्न में आर्द्रा नक्षत्र एवं वैधृत योग में हो रहा है । वर्ष में मुंथेश शनि सूर्य और गुरु के साथ अष्टम में है । ग्रहयोगानुसार कार्यपालिका ,विधायिका और न्यायपालिका के क्रियाकलापों और निर्णयों पर प्रश्न खड़े होंगे । विपक्ष आमजन के विद्रोह के स्वर तेज होंगे । राजनीतिक पार्टियों के शीर्ष नेताओं की क्षति का योग। पंडित गिरवर प्रसाद बिस्सा के अनुसार कई राज्यों में सत्ता परिवर्तन के योग बन रहे है । पूर्वोत्तर राज्यों में प्राकृतिक आपदाओं से विशेष परेशानी होगी। विज्ञान और खेल के क्षेत्र में भारत का वर्चस्व बढ़ता जाएगा । कला और साहित्य जगत में अपूरणीय क्षति होगी ।
सरकार द्वारा आर्थिक सुधार कार्यक्रमों के परिणाम सुखद नहीं होगे । बेरोजगारी से देश को निजात नहीं मिलेगी । जी.डी. पी. में ओर गिरावट आ सकती है । बाजार में तेजी का रुख रहेगा । आम आदमी महंगाई से परेशान होगा । आर्थिक घोटाले उजागर होंगे । कुछ और बैंकों का मर्ज होगा । आर.बी.आई द्वारा कठोर फैसलो से बैंकों पर आर्थिक प्रतिबद्ध लगेंगे ।
विदेशनीति में भारी बदलाव होगा । कई राष्ट्रों से किये अनुबंध भंग होंगे ।आयात निर्यात में 30 प्रतिशत कमी आएगी ।
फरवरी में षड ग्रही योग ,30 अप्रेल से सितम्बर 2021 तक मंगल शनि का षडाष्टक योग और सम सप्तक योग बना रहेगा । सो आतंकवादी घटनाएं ,आगजनी ,भूकम्प, भूस्खलन, हवाई दुर्घटनाएं किसी सुनामी या संक्रमण रोग से पीड़ा बनी रहेगी ।
वैज्ञानिकों के अथक प्रयास से निर्मित वेक्सीन कोरोना के बदलते स्वरूप पर कामयाबी पाने और बॉडी में इम्युनिटी बढ़ाने में कामयाब होगी। इस काल खंड के ग्रहयोगानुसार बहुत मुश्किल है । पड़ोसी देशों से गहमा-गहमी का खेल चलता रहेगा । पड़ोसी देशों से युद्ध की भी आशंका बनी रहेगी । समुद्री मार्गो पर चौकस रहना जरूरी है ।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply