TID-Logo

मिट्टी की कलाकृतियां एक विचार, टेराकोटा आर्ट अपनाएं कलाकार-डाॅ कल्ला

1
(1)

– 40 इलेक्ट्राॅनिक चाक किए वितरित

बीकानेर, 19 जनवरी। जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डॉ बी डी कल्ला ने कहा कि मिट्टी से बनी कलाकृतियां एक विचार है। मिट्टी से बर्तन, मूर्तियों बनाने की कला को भावी पीढ़ी तक पहुंचाने के लिए फाइन आर्ट से जोड़ते हुए आधुनिक तकनीक अपनाने की आवश्यकता है। मंगलवार को गंगाशहर स्थित सामुदायिक भवन में खादी ग्रामोद्योग ओर से मिट्टी के बर्तन बनाने में जुटे कलाकारों को इलेक्ट्रॉनिक और सौर ऊर्जा से चलने वाले चाक वितरण समारोह में डॉ बी डी कल्ला ने यह बात कही। डाॅ कल्ला ने कहा कि मिट्टी को शक्ल देने का काम कुम्हार करता है, वह सृजक है। अपनी इस कला की गंभीरता को पहचानते हुए नए कलाकार इसे वर्तमान युग के अनुरूप नई तकनीक से जोड़ें। कलाकार टेराकोटा आर्ट अपनाएं, इससे उनकी आय बढ़ेगी और इस कला को भी एक नया रूप मिल सकेगा।
डॉ कल्ला ने कहा कि इलेक्ट्रॉनिक चाक के जरिए इस कला को एक नया रूप देने का प्रयास किया गया है। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी ने हर हाथ को काम देने के लिए खादी को एक विचार के रूप में स्थापित किया। मिट्टी भी हमें जड़ों से जोड़ती है और पर्यावरण संरक्षण में भी इसकी अहम भूमिका है। मिट्टी के बर्तन और कलाकृतियां बनाने में जुटे कलाकार इस कला को एक नया आयाम देकर अपनी आजीविका सुधारने के साथ-साथ और लोगों को भी इससे जुड़ने के लिए प्रेरित कर सकते हैं।

टीका लगाएं, मास्क भी जरूर लगाएं

इस अवसर पर डॉ कल्ला ने कहा कि कोरोना से लड़ाई में राजस्थान सरकार ने हर संभव प्रयास कर आमजन को राहत दी है टीकाकरण अभियान में भी राजस्थान सरकार आगे रहेगी। आमजन से कोरोना एडवाइजरी अनुपालन की अपेक्षा करते हुए उन्होंने कहा कि टीका लगाएं, लेकिन मास्क भी जरूर लगाएं। सौर ऊर्जा से भी चाक चलाए जाने की बात कहते हुए उन्होंने कहा कि सौर ऊर्जा आज की आवश्यकता है, प्रदेश में सौर ऊर्जा उत्पादन की अपार संभावनाएं है और अगले 3 साल में राज्य सरकार ने सौर ऊर्जा के माध्यम से 30 हजार मेगावाट बिजली उत्पादन का लक्ष्य रखा है। इस अवसर पर त्रिलोकी कल्ला, चंपालाल गेदर, गोपाल गहलोत, रामदयाल पंचारिया, शिवचंद परिहार, सुशील सुथार, नंदू गहलोत सहित विभिन्न गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।

आमजन के पुलिस से जुड़ाव में स्वागत कक्ष की भूमिका रहेगी अहम-डाॅ कल्ला
सिटी कोतवाली, नयाशहर और गंगाशहर थाने में किया स्वागत कक्ष का लोकार्पण

बीकानेर 19 जनवरी। जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डॉ बी डी कल्ला ने कहा कि पुलिस थाने आम आदमी की सुरक्षा के लिए है। आमजन को पुलिस के समक्ष अपनी समस्या रखते समय सहज महसूस करवाना पुलिस की पहली जिम्मेवारी है और इसी के मध्य नजर विभिन्न थानों में स्वागत कक्ष का निर्माण किया गया है।
उर्जा मंत्री ने नया शहर थाने में नवनिर्मित स्वागत कक्ष के लोकार्पण अवसर पर यह बात कही। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पहल पर विभिन्न थानों में स्वागत कक्ष निर्माण का काम करवाया जा रहा है। इनका उद्देश्य जनता और पुलिस के बीच दूरी को कम करना है। स्वागत कक्ष में आकर कोई भी व्यक्ति सहज रूप से अपनी शिकायत दर्ज करवा सकता है साथ ही यहां नागरिक अधिकारों के बारे में भी पोस्टर चस्पा करवाए जाएंगे, जिससे लोगों को अपने अधिकारों की जानकारी के साथ-साथ शिकायत दर्ज करवाने की प्रक्रिया की भी जानकारी मिले और पुलिस अधिकारी, कार्मिक अच्छी तरीके से आमजन की बात सुनते हुए उसकी मदद कर सकें।
डाॅ कल्ला ने स्वागत कक्ष में फर्स्ट एड बॉक्स अनिवार्य रूप से रखवाये जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि स्वागत कक्ष में सभी आवश्यक व्यवस्थाएं मौजूद रहें, साथ ही यहां पुलिस कार्मिक राउंड द क्लोक ड्यूटी के अनुरूप तैनात रहे जिससे आम आदमी पुलिस के साथ एक अपनापन महसूस कर सकंे और थाने में प्रवेश करते समय आमआदमी को डर ना लगे। इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक प्रीति चंद्रा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर शैलेंद्र सिंह सहित विभिन्न थाना अधिकारी उपस्थित रहे। इससे पूर्व डाॅ कल्ला ने सिटी कोतवाली और गंगाशहर पुलिस थाने में निर्मित स्वागत कक्ष का भी लोकार्पण किया।

7 लाख रुपए की लागत से बना स्वागत कक्ष नगर विकास न्यास द्वारा सिटी कोतवाली, नया शहर थाना और गंगा शहर थाना में स्वागत कक्ष का निर्माण कार्य करवाया गया है। प्रत्येक थाने में इस कार्य पर 7 लाख रुपए की लागत आई है।

20 लाख की लागत से जस्सूसर गेट से गजनेर सड़क हुई नवीनीकृत
डाॅ बीडी कल्ला ने किया लोकार्पण
कहा, गुणवत्ता से ना हो कोई समझौता
बीकानेर 19 जनवरी। जस्सूसर गेट से गजनेर रोड़ को नवीनीकृत कर इसे आमजन के लिए खोल दिया गया है। मंगलवार को ऊर्जा, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डॉ बी डी कल्ला ने इस कार्य का लोकार्पण किया। इस अवसर पर डॉ कल्ला ने कहा कि शहर के अंदरूनी हिस्सों तक पहुंचाने वाली इन सड़कों के सौंदर्य करण और इन्हें सुविधाजनक बनाए जाने पर विशेष काम किया जाए। उन्होंने बताया कि करीब 20 लाख रुपए की लागत से सार्वजनिक निर्माण विभाग द्वारा इस सड़क का नवीनीकरण करवाया गया है। भविष्य में इस सड़क को वॉल टू वॉल बनाते हुए डिवाइडर का निर्माण भी करवाया जाएगा।
डाॅ कल्ला ने बताया कि सार्वजनिक निर्माण विभाग के स्पेशल रिनोवेशन कार्यक्रम के तहत इस सड़क को नवीनीकृत किया गया है। इस सड़क से शहर की बड़ी आबादी अंदरूनी हिस्सों तक पहुंचती है। आमजन की सुविधा का विशेष ध्यान रखते हुए इसे नवनिर्मित करवाया गया है। डाॅ कल्ला ने कहा कि सड़कों के निर्माण में गुणवत्ता के साथ किसी तरह का कोई समझौता न किया जाए, इसे लेकर अधिकारी विशेष ध्यान दें। इस अवसर पर सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता सहित विभिन्न अधिकारी उपस्थित रहे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 1 / 5. Vote count: 1

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply