विद्यालय समय परिवर्तन व वाट्सएआप पर शिक्षकों की उपस्थिति मांगने को लेकर शिक्षको में रोष, Resentment among teachers for demanding change of school time and attendance of teachers on WhatsApp

0
(0)

बीकानेर। राज्य सरकार के शिक्षा विभाग के आदेशानुसार राज्य में दिनाँक 18 जनवरी से कक्षा 9 से 12 तक छात्रों के लिए स्कूल खोले जा रहे है।जिसमे कोरोना गाइड लाइन के अनुसार प्रार्थना सभा या अन्य कोई सामूहिक गतिविधि नही करवाते हुए अध्ययन -अध्यापन कार्य सम्पादित करवाया जाना है। वर्तमान में विद्यालय समय 10 से 4 बजे तक का है किंतु शासन के द्वारा जारी गाइड लाइन के तहत इसे कक्षा 10 व 12 के लिए प्रातः 9.30 से 3.30 एवं कक्षा 9 व 11 के लिए प्रातः 10 से 4 तक किया गया है।जिसको लेकर राजस्थान के शिक्षको में रोष व्याप्त होने के कारण संगठन का शिष्ट मंडल प्रमुख शासन सचिव स्कूली शिक्षा ,शासन सचिवालय जयपुर से मिला ।
संगठन की महिला मंत्री डॉ अरुणा शर्मा ने बताया कि संगठन के प्रतिनिधि मंडल ने प्रमुख शासन सचिव महोदया स्कूली शिक्षा श्रीमती अपर्णा अरोरा को ज्ञापन सौप कर अवगत करवाया की विद्यालयो में अध्यनरत बालकों के पाठ्यक्रम को पूर्व विभाग द्वारा 50 प्रतिशत कम कर दिया है ऐसे में स्कूल समय मे परिवर्तन का आदेश औचित्यपूर्ण नही है।
विद्यार्थियों को अलग अलग समय स्कूल में प्रवेश देने की व्यवस्था स्कूल स्तर पर ही होनी चाहिये।
प्रदेशमंत्री रवि आचार्य ने मांग करते हुये कहा कि विद्यालय समय 10 से 4 ही रखा जाकर ही शिक्षण कार्य करवाया जाय विद्याथियों के लिये शिक्षण व्यवस्था सरकारी गाइड लाइन की पालना से हो इस हेतु सम्बधित संस्था प्रधान के माध्यम से निर्णय लिया जाना चाहिये ताकि विद्यालय भवन,क्षेत्र की भौगोलिक परिस्थिति , क्लास छात्र संख्या अनुसार करने से निर्धारित समय में ही पूर्ण हो सकेगा और आधा घंटा अधिक बुलाने का कोई औचित्य नही है इसलिए इस पर पुनर्विचार कर राहत प्रदान करे।

वाट्सएप पर उपस्थिति मांगना शिक्षकों का अपमा
राजस्थान शिक्षक संघ (राष्ट्रीय) की महिला मंत्री श्रीमति अरुणा शर्मा व संगठन के प्रतिनिधि मंडल ने संभागीय आयुक्त जयपुर द्वारा वाट्सएप पर प्रतिदिन उपस्थिति रजिस्टर की फोटो प्रति मांगने को शिक्षको का अपमान व शिक्षा विभाग के नियमो के विपरीत बताते हुए प्रमुख शासन सचिव महोदया स्कूल शिक्षा को ज्ञापन सौपा।
ज्ञापन में बताया कि शिक्षा विभाग में शिक्षकों की उपास्थि पहले से ही ऑनलाइन चल रही है ।बावजूद अव्यहारिक आदेश जारी करना संभागीय आयुक्त की सामन्तशाही प्रवृति होना प्रतीत हो रहा है।
अतः संगठन संभागीय आयुक्त जयपुर के द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में शिक्षकों की उपस्थिति को प्रतिदिन वाट्सएप पर उच्चाधिकारी को भेजने के आदेश को तत्काल निरस्त करवाने की मांग करता है।
प्रतिनिधि मंडल में संगठन की अरुणा शर्मा, चंद्रप्रकाश शर्मा,शिवशंकर शर्मा, प्रदीप कुमार गुप्ता तथा श्रीनिवास शर्मा उपस्थित थे।
संगठन के प्रदेशाध्यक्ष सम्पतसिंह, प्रदेश महामंत्री अरविंद व्यास प्रदेश संगठन मंत्री प्रहलाद शर्मा एव प्रदेशमंत्री रवि आचार्य ने संयुक्त रूप से कहा कि विभाग द्वारा नीत नए-नए आदेश जारी कर शिक्षको को अनावश्यक परेशान किया जा रहा है। संगठन ऐसे मनमाने आदेश निकालने की प्रवृत्ति पर अंकुश लगाने की मांग करता है। साथ ही समय परिवर्तन के आदेश में तत्काल संशोधन करने एवं वाट्सएप पर उपस्थिति मांगने के संभागीय आयुक्त के आदेश को तत्काल निरस्त करवाकर शिक्षकों को राहत प्रदान करने की मांग की।

#Resentment #teachers #school time #WhatsApp

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply