IMG 20210109 WA0026

डूंगर काॅलेज में कल्ला व भाटी ने किया स्पोर्ट्स काॅम्पलेक्स का उद्घाटन

0
(0)

– लगातार तीसरी बार पीटीईटी डूंगर काॅलेज को आवंटित

img 20210109 wa00278943810745993626363

बीकानेर। सम्भाग के सबसे बड़े राजकीय डूंगर महाविद्यालय में राज्य सरकार की एक करोड़ की सहायता से स्पोर्ट्स काॅम्प्लेक्स का उद्घाटन ऊर्जा मंत्री डाॅ. बी.डी. कल्ला एवं उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी के कर कमलों से सम्पन्न हुआ। प्राचार्य डाॅ. जी.पी.सिंह ने बताया कि लम्बे समय से विद्यार्थियों की मांग अब पूर्ण हो गयी है। इससे महाविद्यालय के खिलाड़ियों को वाॅलीबाल, बाॅस्केटबाल सहित अन्य खेलों के बेहतर अवसर उपलब्ध होगें। डाॅ. सिंह ने बताया कि महाविद्यालय विकास समिति के द्वारा 15 लाख की कीमत से एक भूमिगत जल संग्रहण टंकी का भी निर्माण किया गया है।
डाॅ. सिंह ने बताया कि मंत्रीगण द्वारा महाविद्यालय में अत्याधुनिक स्मार्ट साइन्स लैब का भी अवलोकन किया गया। तत्पश्चात महाविद्यालय के संकाय सदस्यों के सहयोग से लगभग तीन लाख की कीमत से निर्मित कार पार्किग स्थल का जायजा लिया गया। अपने अध्यक्षीय उद्बोधन में ऊर्जा मंत्री डाॅ .कल्ला ने स्वयं के द्वारा डूंगर काॅलेज में किये गये विकास कार्यो का उल्लेख किया। डाॅ. कल्ला ने कहा कि महाविद्यालय में एक ऑडिटोरियम का निर्माण किये जाने की आवश्यकता है जिस हेतु वे स्वयं के एक माह का वेतन देने का तैयार हैं। डाॅ. कल्ला ने कहा कि बीकानेर के डूंगर एवं महारानी सुदर्शना महाविद्यालय को गंगा सिंह विश्वविद्यालय का संघटक विश्वविद्यालय तथा इंजीनीयरिंग काॅलेजों को बीकानेर तकनीकी विश्वविद्यालय का संघटक महाविद्यालय बनाये जाने हेतु राज्य सरकार हर सम्भव प्रयास करेगी। डाॅ. कल्ला ने काॅलेज के स्टाफ एवं विद्यार्थियों से काॅलेज के विकास हेतु आर्थिक सहयोग देने की भी अपील की।
मुख्य अतिथि उच्च शिक्षा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने कहा कि छतरगढ़, बज्जु, देशनोक तथा कोलायत में नवीन महाविद्यालय स्थापित होने से बीकानेर के ग्रामीण क्षेत्र के विद्यार्थियों को उच्च शिक्षा के बेहतर अवसर मिलेंगे। भाटी ने कहा कि डूंगर काॅलेज द्वारा प्राप्त प्रयोगशालाओं, कक्षा कक्ष, ऑडिटोरियम, एथेलेटिक ट्रेक, छात्र संघ कार्यालय आदि सभी प्रस्तावों को शीघ्र ही मंजूरी दी जाएगी। उन्होंने कहा कि पीटीईटी के बेहतर संचालन को देखते हुए लगातार तीसरी बार भी डूंगर काॅलेज को ही पीटीईटी परीक्षा आयोजित करने की जिम्मेदारी दी गयी है। भाटी ने एनसीसी, एनएसएस एवं स्काउट्स व गाइड्स के समय समय पर दिये गये सहयोग की विशेष रूप से सराहना की।
इस अवसर पर इतिहास विभाग की वरिष्ठ सह आचार्य डाॅ. अनिला पुरोहित द्वारा लिखित पुस्तक “पारम्परिक अर्थव्यवस्था में राज्यों की भूमिका एवं ऋण तंत्र” विषयक पुस्तक का भी विमोचन किया गया। कार्यक्रम के अन्त में वनस्पति शास्त्र की विभागाध्यक्ष डाॅ. संध्या जैन ने धन्यवाद ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन डाॅ. साधना भण्डारी एवं डाॅ. एम.डी.शर्मा ने किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में संकाय सदस्य एवं विद्यार्थीगण उपस्थित रहे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply