औद्योगिक इकाईयों और उद्यमियों को बेहतर सुविधाएं मिलने से ही उद्यमी और निवेश के लिए प्रोत्साहित होंगे- मेहता

0
(0)

बीकानेर। जिला कलक्टर नमित मेहता ने कहा कि जिले के सभी औद्योगिक क्षेत्रों में आधारभूत सुविधाओं के समुचित विकास के लिए सम्बंधित अधिकारी नियमित रूप से क्षेत्रों का भ्रमण कर औद्योगिक संघों के साथ समन्वय करते हुए कार्य करें।
        मेहता ने मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित औद्योगिक विवाद एवं शिकायत निवारण तंत्र की बैठक में ये निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि बीकानेर में औद्योगिक विकास की असीम संभावनाएं है। औद्योगिक इकाईयों और उद्यमियों को बेहतर सुविधाएं मिलने से ही उद्यमी और निवेश के लिए प्रोत्साहित होंगे और स्थानीय लोगों हेतु रोजगार के अवसर सृजित हो सकेंगे।
       मेहता ने कहा कि  करणी नगर, रानी बाजार सहित जिन भी औद्योगिक क्षेत्रों के डम्पिंग यार्ड नहीं है, वहां डम्पिंग यार्ड के लिए अतिरिक्त प्रयास करते हुए शीघ्र निर्माण करवाया जाए। डम्पिंग यार्ड के चारो तरफ फेसिंग का कार्य करवाया जाए। मेहता ने कहा कि नापासर औद्योगिक क्षेत्र सहित जहां भी पेयजल समस्या है 4-5 सामूहिक प्वांइट की पहचान की जाए और रीको या संघ को टयूबवैल खुदवाने की अनुमति दे दी जाए। उन्होंने इसके लिए आवेदन भिजवाने के निर्देश दिए। जिला कलक्टर ने नगर विकास न्यास को रानी बाजार इंडस्ट्री एरिया में रोड़ नम्बर 5 पर पेचवर्क का कार्य गुणवत्तापरक तरीके से शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यदि कोलोनाइजर द्वारा रखरखाव राशि नहीं दी गई है तो न्यास के पास पड़े काॅलोनाइजर के खाली पड़े भूखंड का आॅक्शन किया जाए।
साफ-सफाई के लिए करें पुख्ता व्यवस्था
       जिला कलक्टर मेहता ने कहा कि सभी औद्योगिक क्षेत्रों में साफ-सफाई की पूर्ण व्यवस्था रखें। यदि कहीं पर सफाई कार्य उचित तरीके से नहीं हो रहा है तो उद्योग संघ के साथ एमओयू करते हुए यह सुनिश्चित करवाएं कि सफाई की पूरी व्यवस्था हो। नोखा औद्योगिक क्षेत्र में नगरपालिका सफाई कार्य करवाने के लिए तैयार हो तो सफाई कार्य का बजट रीको नगरपालिका को सौंप दें। बारिश के मद्देनजर यह सुनिश्चित किया जाए कि सफाई नियमित हो, नालों की भी नियमित सफाई हो जिससे पानी एकत्र ना हो।
नमित मेहता ने कहा कि नगर विकास न्यास द्वारा जोड़ बीड़ में 500 बीघा लैंड यूज परिवर्तन के प्रकरण में शीघ्र कार्यवाही की जाए। जिला कलक्टर ने कहा कि ड्राइपोर्ट के लिए निर्माण के लिए जिस भी अनुशंषा की आवश्यकता है उसके लिए आवेदन भिजवाएं जिससे सक्षम स्तर पर अनुशंषा की जा सके।
राजकौशल पोर्टल के बारे में दें जानकारी
जिला कलक्टर ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा सभी श्रेणियों के कामगारों के पंजीकरण और उन्हें रोजगार उपलब्ध करवाने के उददेश्य से राज कौशल पोर्टल विकसित किया गया है। इस पोर्टल का अधिकतम उपयोग हो इसके लिए नियोक्ताओं तथा श्रमिकों को इसकी जानकारी आवश्यक है। आरएसएलडीसी को इस सम्बंध में निर्देश देते हुए मेहता ने कहा कि इस पोर्टल का श्रमिकों को अधिकतम लाभ मिले इसके लिए उचित प्रचार प्रसार होना चाहिए। इस पोर्टल पर 52 लाख श्रमिकों और 11 लाख नियोक्ताओं का डाटा उपलब्ध है। आरएसएलडीसी कार्यशाला के जरिए उद्यमियों को जानकारी दें। औद्योगिक इकाईयां अपने श्रमिकों को इसकी जानकारी दें और पंजीकरण में मदद करवाएं। जिला कलक्टर ने कहा कि ग्रामीण हाट में एक स्थायी दुकान बनाकर भी श्रमिकों को अपना पंजीकरण करवाने और रोजगार दिलवाने में मदद की जाए।  बैठक में औद्योगिक संघों के प्रतिनिधियों द्वारा जिप्सम के पट्टे जारी करने, आतिश मार्केट विकसित करने की प्रक्रिया पूर्ण करने की मांग रखी गई। बैठक के पश्चात उद्योग संघों के प्रतिनिधियों ने जिला कलक्टर नमित मेहता का अभिनंदन किया। बैठक में अतिरिक्त जिला कलक्टर (प्रशासन) ए एच गौरी, जिला उद्योग केन्द्र महाप्रबंधक मंजू नैण गोदारा, औद्योगिक विवाद एवं शिकायत तंत्र के सदस्य रमेश कुमार अग्रवाल सहित डी पी पच्चीसिया, गोपीकिशन गहलोत, महेश कोठारी, सुंदर जोशी, किशोर पारीक उपस्थित थे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply