हेयर कटिंग व्यवासायी डिस्पोजल आइटम काम में ले

0
(0)

बीकानेर, 17 अगस्त। संयुक्त निदेशक चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाएं डाॅ.देवेन्द्र चौधरी ने कहा कोरोना संकट काल के दौरान सभी व्यवसाय पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा हैं। इस दौरान दुकाने बंद रहने पर छोटे व्यवसाइयों का रोजगार छिन गया है। ऐसे समय में राज्य सरकार के कुशल प्रबंधन की वजह से जरूरतमंदों को राहत पैकेज दिए गए। चयनित लोगों के बैंक खातों में नगद राशि डाली गई।
डाॅ.चौधरी सूचना एवं जनसम्पर्क कार्यालय द्वारा सोमवार को सूचना केन्द्र में सैलून संचालकों के साथ कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर चल रहे विशेष जागरूकता अभियान के तहत आयोजित संगोष्ठी में मुख्य वक्ता के रूप में बोल रहे थे। डाॅ.चैधरी ने कहा कि लाॅकडाउन खुला है, ऐसे में यह न समझा जाए कि कोरोना संक्रमण समाप्त हो गया हैं। हमें सावधानी रखते हुए अपना व्यवसाय चलाना है। राज्य सरकार द्वारा जारी एडवाइजरी की पालना करते हुए हेयर कटिंग सैलून चलाने है। उन्होंने सुझाव दिया है इस व्यवसाय से जुड़े दुकानदार डिस्पोजल गाउन काम में ले और अपने हाथ बार-बार सेनेटाइज करें। दुकानों के बाहर पोस्टर चस्पा कर बताए कि इस दुकान में कोरोना एडवाइजरी की शत प्रतिशत पालना की जाती है। उन्होंने बीकानेर को कोरोना मुक्त करने पर जोर दिया और कहा कि प्रत्येक गली और मौहल्ले के लोगों को आगे आकर अपनी जांच करवानी चाहिए। जांच के बाद स्थिति साफ हो जायेगी।
संगोष्ठी में सूर्य सैन जागरूकता मंच के जिला अध्यक्ष जयनारायण मारू ने कहा कि कोविड-19 के दौरान जारी एडवाइजरी की हेयर सैलून, हेयर ब्यूटी सैलून और ब्यूटी पाॅर्लर संस्थानों ने पालना की है। इस दौरान सैन समाज ने लाॅकडाउन से आगे बढ़कर अपने प्रतिष्ठान स्वयं बंद रखे। लाॅकडाउन खुलने के बाद सभी दुकानदारों ने मास्क लगाएं और सोशल डिस्टेंसिंग की पालना की। उन्होंने कहा कि जिले में हेयर सैलून की दुकान से एक भी व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि लम्बे समय तक व्यवसाय बंद रहने पर सैन समाज की आर्थिक स्थिति कमजोर हुई है। उन्होंने बताया कि समाज के 80 प्रतिशत लोग हेयर कटिंग व्यवसाय से जुडे़ हैं और अधिकतर बीपीएल श्रेणी में है। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के दौरान अन्य व्यवसाय के लोगों को जो आर्थिक पैकेज दिये गए है, वैसा ही विशेष आर्थिक पैकेज सरकार हेयर सैलून व्यवसाय को भी दे।
हेयर ब्यूटी सैलून के संयोजक मुकेश मारू, हेयर ब्यूटी सैलून वैलफेयर सोसायटी बीकानेर के अध्यक्ष श्रवण मारू तथा एच.बी.ओ.राजस्थान के सचिव प्रभु सेन ने कहा कि लाॅकडाउन खुलने के बाद हेयर सैलून की दुकानों में सावधानी रखते हुए अपना व्यवसाय शुरू किया गया। इस दौरान दुकान व अपने औजार को बराबर सेनेटाइज किया जा रहा हैं। प्रत्येक ग्राहक का नाम, मोबाइन नम्बर रजिस्टर में दर्ज किए गए। उन्होंने कहा कि राहत के नाम पर हेयर सैलून व्यवसाइयों को एक बार गेहंू मिला है,जो आगे भी दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि अधिकतर लोग रविवार को हेयर कटिंग करवाते हैं, अतः हेयर कटिंग की दुकानों को निषेधाज्ञा से मुक्त रखा जाना चाहिए।
सूचना एवं जनसम्पर्क कार्यालय उपनिदेशक विकास हर्ष ने सेन समाज को आश्वस्त किया किया कि संगोष्ठी में मिले सुझाव सक्षम स्तर पर बताए जायेंगे। उन्होंने कि बीकानेर ने पहली बार कफ्र्यू लगा है और वह भी स्वास्थ्य को लेकर । उन्होंने कहा कि इस संक्रमण का अभी तक कोई उपचार नहीं है, इससे सावचेत रहना ही इसका उपचार है। पीसीपीएण्ड डीटी के जिला समन्वयक महेन्द्र चारण ने आभार व्यक्त किया।
संगोष्ठी में हेयर कटिंग व्यवसाय से जुड़े हुकमाराम सेन,टीकाराम मारू, शंभू मारू, किसन मारू आदि उपस्थित रहे।  

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply