यूआईटी की कॉलोनियों में बुनियादी सुविधाएं विकसित हो-मेहता, कलक्टर

5
(1)

जिला कलक्टर ने किया नगर विकास न्यास कॉलोनियों का निरीक्षण

बीकानेर 13 जुलाई। जिला कलक्टर नमित मेहता ने कहा कि नगर विकास न्यास की आवासीय कॉलोनियों में पानी, बिजली, सड़क सीवरेज जैसी सभी आवश्यक आधारभूत सुविधाएं विकसित की जाए। मेहता ने सोमवार को नगर विकास न्यास अधिकारियों के साथ न्यास की विभिन्न आवासीय कॉलोनियों और व्यावसायिक भूमि का निरीक्षण करते हुए यह निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि न्यास द्वारा विकसित की गई  आवासीय कॉलोनियों में सड़क, पानी, बिजली, सीवरेज जैसी सुविधाएं उपलब्ध होने से ही लोगों का इन काॅलोनियों के प्रति रूझान बढ़ सकेगा। शहर के विकास और उचित दरों पर लोगों को आवास उपलब्ध करवाने के लिए न्यास अधिकारियों को अतिरिक्त सक्रियता सेे काम करने के निर्देश देते हुए मेहता ने कहा कि यूआईटी के पास जो भी जमीन और मेजर प्रोजेक्ट्स हैं उन में बुनियादी सुविधाओं को विकसित करने के लिए एस्टीमेट प्लान तैयार करें और इस आधार पर सुविधाओं को विकसित करते हुए इन कॉलोनियों में आॅक्शन प्रक्रिया प्रारम्भ की जाए।
संचालन निजी ऑपरेटर को देने की संभावना तलाशें
मेहता ने नगर विकास न्यास द्वारा करणी नगर में बनाए गए नए अंबेडकर भवन का निरीक्षण किया और कहा कि सामुदायिक और सामाजिक कार्यों के लिए यह भवन काफी महत्वपूर्ण है, भवन काफी अच्छा बना है, इसके संचालन का कार्य किसी निजी ऑपरेटर के जरिए करवाते हुए यह सुनिश्चित किया जाए कि लोगों को उचित दरों पर इस भवन का उपयोग करने की सुविधा मिल सके। उन्होंने कहा कि अंबेडकर भवन के शेष काम में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखते हुए शीघ्र ही पूरा कर लिया जाए।
प्राइवेट बस स्टेण्ड के पास खाली पड़ी जमीन का ऑक्शन करें
मेहता ने प्राइवेट बस स्टैंड के पास स्थित यूआईटी की जमीन का भी निरीक्षण किया और अधिकारियों से कहा कि इस जमीन के आॅक्शन के लिए प्लान तैयार करें। जमीन की लंबाई-चैड़ाई का पूरा लेखा-जोखा तैयार कर इसे नपवाएं और यदि कहीं अतिक्रमण है तो तुरंत हटवाएं और यूआईटी की सम्पत्ति का बोर्ड लगवाएं।  जिला कलेक्टर ने एनआरआई कॉलोनी का भी निरीक्षण किया। उन्होंने यूआईटी सचिव को कहा कि इस काॅलोनी में प्लाॅट के डिमार्केशन का काम करवाते हुए और यहां सड़क बनाने का काम चालू करवाएं। मेहता ने ट्रांसपोर्ट नगर एक्सटेंशन में खाली पड़ी जमीन का भी निरीक्षण किया और कहा कि यहां 200 से अधिक प्लॉट खाली पड़े हैं इनके आॅक्शन प्लान पर काम शुरू करें। साइट का मेप देखते हुए मेहता ने कहा कि इससे पूर्व यह सुनिश्चित हो कि यहां सड़क निर्माण कार्य प्रारम्भ हो तथा पार्क आदि भी विकसित करवाएं जाएं। आॅक्शन के लिए जो भूमि आरक्षित नहीं की गई वहां वाॅटर बाॅडी बनाई जाए।
मुख्यमंत्री जन आवास योजना में देखा तैयार फ्लैट
जिला कलेक्टर ने नगर विकास न्यास द्वारा बनवाए जा रहे मुख्यमंत्री जन आवास योजना 2015 के तहत स्वर्ण जयंति विस्तार आवासीय योजना में अफोर्डेबल  हाउसिंग  प्रोजेक्ट के तहत प्रगतिरत कार्य का भी निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान मेहता ने कहा कि इन फ्लैट्स का अधिकतम लाभ कम आय वर्ग के लोगो को मिल सके, इसके लिए ब्लाॅक वाइज काम पूरे करें। मेहता ने इस योजना के तहत तैयार फ्लैट का निरीक्षण किया और बिल्ड अप एरिया की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि यहां तैयार फ्लैट के आवंटन के बाद जब लोग यहां रहने लगेंगे तो अन्य लोग भी प्रेरित होंगे। साथ ही न्यास द्वारा आसपास विकसित काॅलोनियों में भी बसावट होने लगेगी। उन्होंने कहा कि काम की गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाए, गुणवत्ता के साथ कोई समझौता नहीं होना चाहिए। यहां पानी सप्लाई के लिए ट्यूबवैल निर्माण भी करवाने के निर्देश दिए। यूआईटी सचिव मेघराज सिंह मीना ने बताया कि इस प्रोजेक्ट के तहत  1 हजार 64 फ्लैट्स का निर्माण किया जा रहा है। इनमें से 512 ईडब्ल्यूएस तथा 552 एलआईजी के फ्लैट्स है।  जिला कलेक्टर नमित मेहता ने जोड़बीड आवासीय कॉलोनी का भी निरीक्षण किया और कहा कि इस कॉलोनी में पानी, बिजली, सड़क जैसी आधारभूत सुविधाओं का सेक्टर वाइज डेवलपमेंट करें और शीघ्र- अति- शीघ्र ऑक्शन प्रक्रिया चालू करें। निरीक्षण के दौरान अधीक्षण अभियंता संजय माथुर, अधिशाषी अभियंता याकूब भाटी उपस्थित थे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 5 / 5. Vote count: 1

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply