IMG 20230302 WA0033

शिक्षा मंत्री डॉ. कल्ला को सौंपा वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स का सर्टिफिकेट

0
(0)

*’नो बैग डे’ पर ‘चैस इन स्कूल एक्टीविटी’ में शिक्षा विभाग ने स्थापित किया कीर्तिमान*

*पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की जयंती (19 नवम्बर 2022) पर प्रदेशभर में हुआ था आयोजन*

*बिसात के चौसठ खानों पर 33 जिलों में 57 हजार 461 स्कूलों में 38 लाख 21 हजार विद्यार्थियों ने चलाएं मोहरें*

जयपुर, 02 मार्च। वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स, लंदन की ओर से राजस्थान सरकार के शिक्षा विभाग द्वारा गत वर्ष पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की जयंती (19 नवम्बर 2022) पर ‘नो बैग डे’ के तहत ‘चैस इन स्कूल एक्टिविटी’ के नवाचार में 38 लाख 21 हजार 9 विद्यार्थियों की भागीदारी को सर्टिफाइड किया गया है। शिक्षा विभाग की इस विशिष्ट उपलब्धि पर वर्ल्ड रिकॉर्ड का प्रमाण पत्र गुरुवार को शिक्षा संकुल में आयोजित एक कार्यक्रम मेें शिक्षा मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला को वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स, लंदन के इंडिया चैप्टर में राजस्थान के वाइस प्रेसीडेंट श्री प्रथम भल्ला ने सुपर्द किया।

शिक्षा मंत्री डॉ. कल्ला के नाम संदेश में वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स, लंदन के इंडिया चैप्टर द्वारा कहा गया है कि शिक्षा विभाग के इस इंसिएटिव को उनके द्वारा अपने रिकॉर्ड में दर्ज किया गया है। इसके तहत प्रदेश के सभी 33 जिलों में 57 हजार 462 स्कूलों में गत नवम्बर माह के तीसरे शनिवार को ‘नो बैग डे’ का आयोजन किया गया। इस मौके पर पूरे प्रदेश में 38 लाख 21 हजार 9 विद्यार्थिर्यों ने दिमागी कसरत के खेल शतरंज की बिसात के चौसठ खानों पर मोहरे चलाएं। एक ही दिन में एक साथ 38 लाख 21 हजार 9 विद्यार्थियों के ऊंटों की तिरछी, घोड़ों की कुलांचे भरने वाली, हाथियों की सीधी और वजीरों की कूटनीतिक चालों ने राजस्थान के शिक्षा विभाग का नाम विश्व पटल पर स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज करा दिया। उल्लेखनीय है कि वर्ल्ड बुक ऑफ रिकार्ड्स का दुनियां के सभी महाद्वीपों में ग्लोबल नेटवर्क है। इसके द्वारा विभिन्न विद्याओं में वर्ल्ड रिकार्ड्स के माध्यम से प्रतिभा और क्षमता का आंकलन करते हुए अंतरराष्ट्रीय स्तर का प्रमाण पत्र जारी किया जाता है।

इस मौके पर शिक्षा मंत्री ने बताया कि प्रदेश में विभाग की टीम पूरी स्पिरिट के साथ शैक्षणिक स्तर में प्रगति एवं बच्चों के सर्वांगीण विकास की दिशा में कार्य कर रही है। इसी की बदौलत विभाग ने ‘चैस इन स्कूल एक्टिविटी’ सहित पांच विश्व रिकार्ड बनाए हैं। इस मौके पर राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद के आयुक्त डॉ. मोहन लाल यादव ने विभाग के शिक्षकों, अधिकारियों और कार्मिकों की टीम को बधाई दीं। बीकानेर से वीसी के माध्यम से जुड़े स्कूल शिक्षा निदेशक गौरव अग्रवाल ने बताया कि प्रदेश के स्कूलों में शतरंज को बढ़ावा देने के लिए शतरंज एसोसिएशन की ओर से उपलब्ध कराई गई अंग्रेजी एवं हिंदी की चैस बुक्स को भी स्कूलों में भिजवाया जाएगा। इस मौके पर राजस्थान स्टेट ओपन स्कूल के निदेशकक प्रवीण लेखरा, राजस्थान स्कूल शिक्षा परिषद के निदेशक डॉ. अनिल पालीवाल एवं राकेश गुप्ता, अतिरिक्त निदेशक ममता दाधीच, सचिव स्टेट ओपन स्कूल राजेन्द्र हंस सहित विभागीय अधिकारी, कार्मिक, शिक्षकगण एवं विद्यार्थी मौजूद रहे।
——

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply