IMG 20230115 WA0036

यूआईटी के पूर्व अध्यक्ष स्व. मक्खन जोशी की स्मृति में ‘हमारे बुजुर्ग, हमारा अभिमान’ कैंपेन प्रारंभ

0
(0)

*बुजुर्ग हमारी विरासत, इनकी सेवा सुश्रुषा करना हमारा कर्तव्य : केंद्रीय कला संस्कृति राज्य मंत्री*

बीकानेर। नगर विकास न्यास के पूर्व अध्यक्ष स्व. मक्खन जोशी की 22वीं पुण्यतिथि के अवसर पर शनिवार को ‘हमारे बुजुर्ग, हमारा अभिमान’ कैंपेन शुरू हुआ। जस्सोलाई तलाई स्थित आनंद भवन में आयोजित कार्यक्रम के मुख्य अतिथि केंद्रीय कला एवं संस्कृति राज्यमंत्री अर्जुनराम मेघवाल थे। उन्होंने कहा कि बुजुर्ग हमारी विरासत हैं। इनकी सेवा-सुश्रुषा करना हमारा कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि वृद्धजनों की देखरेख करना हमारी परंपरा का अंग है। स्व. मक्खन जोशी की स्मृति में वर्षभर के लिए ऐसा अभियान चलाना सराहनीय है।

उन्होंने कहा कि संस्था द्वारा सामाजिक सरोकारों के कार्य स्वतंत्र रूप से किए जा रहे हैं। यह दूसरों के लिए प्रेरणादाई है।अध्यक्षता करते हुए गायत्री मंदिर के अधिष्ठाता पंडित जुगल किशोर किराडू ‘पुजारी बाबा’ ने कहा कि आज के दौर में बुजुर्गों के प्रति सम्मान में कमी आई है। यह समाज के लिए घातक है। उन्होंने कहा कि ऐसे अभियानों युवाओं के मन में बुजुर्गों के प्रति सम्मान की भावना बढ़ेगी।
विशिष्ट अतिथि के रूप में बोलते हुए लेखा सेवा के सेवानिवृत्त अधिकारी पन्नालाल हर्ष ने कहा कि ऐसी संस्थाओं का आगे आना अच्छी पहल है। यह संस्थाएं सरकारों द्वारा बुजुर्गों के लिए चलाए जा रहे कार्यक्रमों की जानकारी भी उपलब्ध करवाए।

श्री मक्खन जोशी वेलफेयर सोसाइटी के सचिव अविनाश जोशी ने अभियान की रूपरेखा के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि अभियान के तहत वर्ष भर बुजुर्गों की सेवा तथा उन्हें संबल प्रदान करने के कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। उन्होंने संस्था की अब तक की गतिविधियों के बारे में बताया।
इससे पहले सोसायटी अध्यक्ष शांति प्रसाद बिस्सा ने स्वागत उद्बोधन दिया। उन्होंने स्व. मक्खन जोशी के व्यक्तित्व और कृतित्व पर प्रकाश डाला। अतिथियों ने स्व. मक्खन जोशी के तैल चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित करते हुए, उन्हें नमन किया। पूर्व पार्षद नरेश जोशी ने आभार जताया। कार्यक्रम का संचालन संजय आचार्य ‘वरुण’ ने किया। इस अवसर पर शहर भाजपा महामंत्री मोहन सुराणा, नरेश नायक, न्यायाधीश बुलाकी व्यास, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ मोहम्मद अबरार पवार और सुधा आचार्य बतौर अतिथि मौजूद रहे।

कार्यक्रम में गोकुल जोशी, गुमानसिंह राजपुरोहित, कोडाराम चौधरी, राजेश रंगा, महेश व्यास, जेठानंद व्यास, भंवर पुरोहित, दिलीप जोशी, सोहनलाल चावरिया, चोरूलाल सुथार, सुशील किराडू, पूर्व पार्षद भगवती प्रसाद गौड़, दिलीप पुरी, प्रताप सिंह, अमित व्यास बेसिक, जतिन सहल, नारायण व्यास, विजय मोहन जोशी, गिरिराज जोशी, कर्मचारी नेता हेमाराम जाट, अशोक हर्ष, भरत पुरोहित, किशन स्वामी, किशन ओझा सहित अनेक लोगों की भागीदारी रही।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply