IMG 20230104 WA0014

राजकीय नेत्रहीन विद्यालय को सौ से ज्यादा ब्रेल साहित्य पुस्तकें भेंट की

0
(0)

लुईस ब्रेल जयन्ती

बीकानेर । कार्यालय अतिरिक्त जिला परियोजना समन्वयक, समग्र शिक्षा, बीकानेर में दृष्टिबाधित बालक-बालिकाओं के मसीहा लुईस ब्रेल की 214वीं जयन्ति के उपलक्ष्य में आज समग्र शिक्षा कार्यालय में कार्यरत अमित साध संदर्भ व्यक्ति (विशेष शिक्षक) द्वारा राजकीय नेत्रहीन विद्यालय बीकानेर को सौ से ज्यादा ब्रेल साहित्य पुस्तकें भेंट की गई। यह पुस्तकें अमेरिका के विसकाॅन्सिन स्थित मिलवौकी पब्लिक स्कूल के शिक्षक जूली हाॅपमेन एवं नैंसी केराल स्टरलिंग द्वारा अमित साध के प्रोत्साहन पर लगभग दो लाख से ज्यादा रूपये की पुस्तकें विशेष रूप से दृष्टि बालक-बालिकाओं हेतु पुस्तकालय के लिये भेजी गई। यह पुस्तकें कार्यालय में श्री गजानन्द सेवग, एडीपीसी, समसा की अध्यक्षता में हुए कार्यक्रम में नेत्रहीन विद्यालय के प्राचार्य अल्ताफ अहमद खान को सुपुर्द की गई।

इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि सुनिल बोड़ा, एडीओ, एपीसी कृष्ण मोहन शर्मा एवं एपीसी कैलाश धवल, पीओ शिवशंकर चैधरी, विष्णु जोशी, रामदान चारण, भुवनेवश्वर साध, अजय बारहठ, दिनेश जनागल उपस्थित थे। गजानन्द सेवग ने बताया कि इस तरह के प्रोत्साहन दृष्टिबाधित बालक-बालिकाओं में आत्मविश्वास पैदा करते हैं। सुनिल बोड़ा ने बताया कि अमित साध इससे पूर्व भी अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दृष्टिबाधित बालक-बालिकाओं के लिये निरंतर कार्य करते रहते हैं जैसे इंग्लेण्ड में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय काॅन्फ्रेस में प्रस्तुति, जर्मनी स्थित जर्मन पब्लिकेशन स्प्रींगर में आलेख, एडवांस इन इंर्फोमेंशन कम्यूनिकेशन टेक्नाॅलोजी एंड कम्प्युटिंग मे पत्र वाचन आदि कार्य कर चुके हैं। एपीसी कृष्ण मोहन शर्मा ने लुईस ब्रेल के जीवन पर प्रकाश डाला। शिवशंकर चैधरी ने बताया कि ऐसे सामाजिक कार्य समाज एवं शिक्षकों को एक नई दिशा देते हैं तथा समाज को इस तरह कार्य को लगातार करना चाहिए। एपीसी कैलाश धवल ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply