Screenshot 20221224 213752 WhatsApp

रंगीला स्मृति शतरंज प्रतियोगिता शुरु महिला वर्ग में तोषिका और प्रिया ने जीता खिताब

0
(0)

*पुरुष वर्ग में दक्ष, आकाश और वैभव संयुक्त बढ़त पर*
*वरिष्ठ साहित्यकार रंगा और अंतरराष्ट्रीय आर्बिटर रामकुमार ने की शुरुआत*

बीकानेर, 24 दिसंबर। खेल लेखक स्व. झंवर लाल व्यास ‘रंगीला’ की स्मृति में 16वीं जिला स्तरीय शतरंज प्रतियोगिता शनिवार को नालंदा स्कूल में प्रारंभ हुई। पहले दिन 120 शातिरों ने भागीदारी निभाई।
प्रतियोगिता संयोजक एडवोकेट जुगल किशोर व्यास ने बताया कि अंडर 14 महिला वर्ग में तोषिका जोशी ने सभी पांच मुकाबले जीतकर प्रथम स्थान हासिल किया। वहीं दिव्या ओझा, यशिका चौधरी और डिंपल ओझा ने चार-चार अंक हासिल किए। प्रोग्रेसिव गणना के आधार पर दिव्या दूसरे और यशिका तीसरे स्थान पर रही।

इसी प्रकार अंडर-20 महिला वर्ग में प्रिया सांखला ने सभी चार मुकाबले जीतकर प्रथम स्थान हासिल किया। इस वर्ग में राधिका पुरोहित, सरला खीचड़ और युक्ति हर्ष ने तीन-तीन अंक प्राप्त किए। प्रोग्रेसिव गणना के आधार पर राधिका और सरला क्रमशः दूसरे और तीसरे स्थान पर रही।
व्यास ने बताया कि पुरुषों के अंडर-14 वर्ग में दक्ष सक्सेना ने सबसे ज्यादा 4 अंक हासिल कर पहले दिन बढ़त बनाई। वहीं चैतन्य कुमार व्यास और जयदीप पुरोहित ने 3.5- 3.5 अंक हासिल किए। नौ शातिरों ने तीन-तीन अंक प्राप्त किए। अंडर-20 वर्ग में आकाश स्वामी और वैभव डूडेजा ने चार-चार अंक हासिल कर संयुक्त बढ़त बनाई। वहीं राघव आचार्य, श्रेष्ठ जैन, कमल शर्मा, नितिन जोशी, वासुदेव, विकास ठाकुर ने तीन-तीन अंक प्राप्त किए। पुरुषों के सीनियर वर्ग में 10 शातिर एक-एक अंक के साथ संयुक्त बढ़त पर रहे।

प्रतियोगिता में सबसे वरिष्ठ शातिर के रूप में 68 वर्षीय राम किशन चौधरी तथा सबसे छोटे शातिर के रूप में 5 वर्षीय अनंत नारायण व्यास और जेसिका सुराणा ने भी मोहरे चलाए।
इससे पहले वरिष्ठ साहित्यकार कमल रंगा और शतरंज के अंतरराष्ट्रीय आर्बिटर रामकुमार ने मोहरे चलाकर प्रतियोगिता का उद्घाटन किया। रंगा ने कहा कि बच्चों के मानसिक विकास में शतरंज अत्यंत महत्वपूर्ण है। राज्य सरकार द्वारा स्कूली खेलों में शामिल किया गया है। ऐसे में अधिक से अधिक बच्चों को शतरंज खेलने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए।

राम कुमार ने कहा कि रंगीला फाउंडेशन द्वारा लगातार यह आयोजन करना अनुकरणीय है। इससे युवा शातिरों को आगे बढ़ने के अवसर मिलेंगे। इस अवसर पर रंगीला के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित किया गया। कार्यक्रम में आर्बिटर के रूप में डी.पी. छीपा, एस.एन. करनानी, भानु आचार्य, उषा ओझा और हनी जोशी शामिल रहे।
उद्घाटन अवसर पर फाउंडेशन अध्यक्ष एडवोकेट बसंत आचार्य, संरक्षक दुर्गा शंकर आचार्य, राजेश रंगा, हरि नारायण आचार्य, मोहित व्यास, रोहित व्यास, केशव आचार्य, विनीत व्यास आदि मौजूद रहे। पहले दिन के कार्यक्रम का संचालन मधुसूदन व्यास ने किया। दूसरे दिन के मुकाबले प्रातः 11 बजे से खेले जाएंगे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply