IMG 20221214 WA0030

चिकित्सा अधिकारी प्रभारी अपने क्षेत्र के मेडिकल स्टोर्स का नियमित करें निरीक्षण : कलक्टर

0
(0)

*12 से 25 सप्ताह के दौरान सोनोग्राफी करवाने वाली गर्भवती की नियमित ट्रैकिंग की जाए*

*जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक आयोजित*

*पुकार अभियान को लेकर बनी शॉर्ट फिल्म का हुआ विमोचन*

बीकानेर, 14 दिसंबर। प्रत्येक प्राथमिक एवं सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी का यह दायित्व है कि वह अपने क्षेत्र में मौजूद मेडिकल स्टोर का समय-समय पर निरीक्षण करें वहां देखें कि अवैध रूप से गर्भ समापन संबंधी दवाओं का विक्रय तो नहीं हो रहा ? क्या किसी प्रकार की मशीन द्वारा गर्भ में भ्रूण के लिंग की जांच जैसा कृत्य तो नहीं हो रहा ?  यह कहना था जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल का वे बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की मासिक समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि 12 से 25 सप्ताह के दौरान सोनोग्राफी करवाने वाली प्रत्येक गर्भवती महिला की नियमित ट्रैकिंग की जाए तथा जन्म पर लिंगानुपात में कहीं पर भी कमी परिलक्षित होने पर उसके कारणों की पड़ताल की जाए।

जिला कलक्टर द्वारा बैठक के दौरान जिला स्तर पर किए गए नवाचार पुकार अभियान पर निर्मित शॉर्ट फिल्म का विमोचन किया गया। उन्होंने पुकार अभियान में गुणवत्ता को सर्वोपरि बनाए रखते हुए आयोजन के निर्देश दिए। जिला कलेक्टर द्वारा मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में अधिकाधिक परिवारों को जोड़ने के निर्देशों के बावजूद कम प्रगति पर नाराजगी व्यक्त की गई। उन्होंने स्पष्ट किया कि प्रत्येक फील्ड वर्कर के फोन में योजना का विज्ञापन होना चाहिए और उन्हें आमजन को कम से कम एक बार दिखाया जाना चाहिए ताकि वह प्रेरित होकर योजना से जुड़ सकें। उन्होंने आयुष्मान चिरंजीवी कार्ड ईकेवाईसी अभियान में जिले के 33 वे स्थान से उठकर 21 वे पायदान पर पहुंचने पर संतोष व्यक्त किया साथ ही दिसंबर माह में शत प्रतिशत ई केवाईसी कार्य पूर्ण करवाने के निर्देश दिए। जिला कलक्टर ने मदर मिल्क बैंक जल्द से जल्द शुरू करवाने, राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम में तय समय सीमा में सर्वे स्वास्थ्य परीक्षण पूर्ण करवाने, मिशन अगेंस्ट एनीमिया के अंतर्गत 28 दिसंबर तक दूसरा जांच पूर्ण कर ऑनलाइन करने, जन्म के पहले घंटे में शिशु को स्तनपान सुनिश्चित करवाते हुए वजन दर्ज करने,  मच्छरों की रोकथाम व मौसमी बीमारियों पर पुख्ता नियंत्रण करने, शहरी क्षेत्र की आंगनबाड़ियों को नए वार्ड अनुसार मैप करवाने तथा खाली आंगनवाड़ी केंद्रों के लिए आशा सहयोगिनियों का चयन पूर्ण करवाने जैसे निर्देश दिए।

इससे पूर्व सीएमएचओ डॉ मोहम्मद अबरार पंवार द्वारा समस्त फ्लैगशिप कार्यक्रमों तथा सेवाओं की प्रगति समीक्षा प्रस्तुत की गई। बैठक में डिप्टी सीएमएचओ परिवार कल्याण डॉ योगेंद्र तनेजा, डिप्टी सीएमएचओ स्वास्थ्य डॉ लोकेश गुप्ता, आरसीएचओ डॉ राजेश कुमार गुप्ता, डॉ नवल किशोर गुप्ता, डॉ सी एस मोदी, जिला कार्यक्रम प्रबंधक सुशील कुमार सहित विभिन्न कार्यक्रमों के प्रभारियों द्वारा संबंधित योजनाओं व कार्य की समीक्षा की गई। बैठक में समस्त ब्लॉक सीएमओ बीपीएम व विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी मौजूद रहे। शेष चिकित्सा अधिकारी संबंधित पंचायत समिति से ही वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से बैठक मैं शामिल हुए।

*ब्लॉक खाजूवाला रहा पहले स्थान पर*
जिला स्तर पर पहली बार सभी ब्लॉक की रैंकिंग जारी की गई । प्रथम स्थान पर रहने के लिए ब्लॉक खाजूवाला के ब्लॉक सीएमओ डॉ मुकेश मीणा, बीपीएम हेतराम बेनीवाल, द्वितीय स्थान पर रहने पर कोलायत ब्लॉक बीपीएम अल्ताफ हुसैन तथा तृतीय स्थान पर आने पर श्री डूंगरगढ़ ब्लॉक सीएमओ डॉ जसवंत बेनीवाल व बीपीएम राकेश थालोड को सम्मानित किया गया। जिला कलेक्टर ने अगली जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक सबसे नीचे रहने वाले ब्लॉक में आयोजित करने की बात भी कही। इसी प्रकार मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना में प्रथम स्थान पर रहने के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पांचू से डॉ संतोष का, दूसरे स्थान पर रहे प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रीडी प्रभारी व तृतीय स्थान पर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बज्जू के लिए डॉ केआर धतरवाल का सम्मान किया गया। उल्लेखनीय है कि जिला मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना में लगातार आठवें माह तथा मुख्यमंत्री निशुल्क जांच योजना में लगातार पांचवें माह प्रथम स्थान पर काबिज है। इसके लिए जिला कलेक्टर ने डॉ नवल किशोर गुप्ता व डॉ सीएस मोदी को भी बधाई प्रेषित की।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply