TID-Logo

कुम्हारी कारीगरों को वितरित किए जाएंगे विद्युत चालित चाक

5
(1)

बीकानेर, 5 दिसंबर। जिले के शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र के व्यक्तियों को रोजगार के नए अवसर उपलब्ध कराने के उद्देश्य से ग्रामोद्योग विकास योजना के तहत वर्ष 2022-23 के दौरान कुम्हार सशक्तिकरण कार्यक्रम अंतर्गत खनिज आधारित उद्योगों के लिए 200 कुम्हारी कारीगरों के लिए 200 विद्युत चालित चाक का वितरण किया जाना है।
जिला उद्योग केन्द्र की महाप्रबंधक मंजू नैण गोदारा ने बताया कि इसके लिए सदस्यों एवं लाभार्थियों का चयन, जिला उद्योग एवं वाणिज्य केन्द्रों, खादी और ग्रोमोद्योेग बोर्ड, नाबार्ड, आदिवासी विकास निगम, महिला बाल विकास, राजीविका, खादी संस्थाओं/एनजीओ आदि के माध्यम से आवेदन 20 दिसंबर तक ’पहले आओ पहले पाओ’ की तर्ज पर आमंत्रित किये जाते हैं। उन्होंने बताया कि गरीबी रेखा के नीचे को निःशुल्क, अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति से 10 प्रतिशत व सामान्य वर्ग एवं अन्य पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थी से 20 प्रतिशत प्रति लाभार्थी स्वयं का अंशदान जमा करवाकर योजना का लाभ उठा सकते हैं। प्रशिक्षण की व्यवस्था एवं विद्युत चालित चाक का वितरण खादी और ग्रामोद्योग आयोग, जयपुर द्वारा करवाया जायेगा तथा ‘पहले आओ पहले पाओ’ के आधार चयन निर्धारित समिति द्वारा किया जाएगा। आवेदक अधिक जानकारी के लिए कार्यालय समय में जिला उद्योग एंव वाणिज्य केन्द्र, रानीबाजार एवं क्षेत्रिय कार्यालय, खादी और ग्रामोद्योग आयोग बीकानेर में सम्पर्क कर सकता है।

*कृषि उपभोक्ता बकाया विद्युत बिलों का भुगतान करे अन्यथा विद्युत कनेक्शन विच्छेद होगा*

बीकानेर, 5 दिसम्बर। जिले के 22,544 कृषि उपभोक्ताओं के विद्युत बिलों की 153.04 करोड़ रूपये की राशि बकाया चल रहीं है। कृषि उपभोक्ता समय पर बकाया बिल की राशि जमा कराऐ अन्यथा कृषि कनेक्शन काटने की कार्यवाही की जायेगी।
बीकानेर जिला वृत क्षेत्र के अधीक्षण अभियन्ता डिस्कॉम राजेन्द्र सिंह मीना ने कृषि उपभोक्ताओं को बकाया बिल राशि का भुगतान किए जाने का आग्रह किया है। उaन्होंने बताया कि बीकानेर जिला-वृत क्षेत्रान्तर्गत वर्तमान में लगभग 50 हजार कृषि उपभोक्ता है। इनमें से 22544 उपभोक्ताओं के विरूद्ध विद्युत बिलों की 153.04 करोड़ रूपये की राशि बकाया चल रहीं है। उन्होंने बताया कि  क्षेत्र में माह नवम्बर के अन्त तक 50 हजार से 1 लाख रूपये के मध्य 4293 कृषि उपभेक्ताओं में 29.25 करोड़ रूपये की राशि बकाया है एवं 1 लाख से ज्यादा राशि के 4488 कृषि उपभोक्ताओं में 91.92 करोड़ रूपये बकाया है। उन्होंने वर्तमान परिस्थितियों के मद्देनजर क्षेत्र के सभी बकाया राशि वाले कृषि उपभोक्ताओं से कहा कि वे शीघ्रताशीघ्र अपनी बकाया राशि जमा करावें एवं मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना में रूपये एक हजार प्रतिमाह का लाभ लेंवे। उन्होंने बताया कि बकाया राशि जमा नहीं करवाने की स्थिति में विभाग विद्युत कनेक्शन विच्छेद करने व ट्रांसफार्मर हटाने जैसी कार्यवाही कर सकता है।

*गुणवत्ता के साथ समय पर पूरा हो शहर में सड़क मरम्मत ,नवीनीकरण का काम- जिला कलक्टर*
*साप्ताहिक समीक्षा बैठक में जिला कलक्टर ने दिए निर्देश*

बीकानेर, 5 दिसंबर। जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने शहर की सड़कों की मरम्मत ,नवीनीकरण कार्य में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखते हुए समय पर कार्य करवाने के निर्देश दिए । जिला कलक्टर ने सोमवार को साप्ताहिक समीक्षा बैठक में कहा कि नगर निगम ,सार्वजनिक निर्माण विभाग तथा नगर विकास न्यास समन्वय करते हुए यह सुनिश्चित करें कि शहर में सड़क निर्माण, पेचवर्क कार्य में कहीं भी डुप्लीकेशन नहीं हो, साथ ही गुणवत्ता के साथ किसी भी प्रकार का समझौता स्वीकार नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि क्वालिटी रिपोर्ट के बाद ही भुगतान किया जाना सुनिश्चित हो ।
बैठक में जिला कलक्टर ने विभिन्न विभागों के नियमित कार्यों के साथ-साथ बजट घोषणाओं की समीक्षा की और आवश्यक निर्देश दिए। सार्वजनिक निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता मुकेश गुप्ता ने बताया कि नॉनपेचबल मिसिंग लिंक के कार्य प्रारंभ कर दिए गए हैं। पेंच वर्क का काम पूरा कर लिया गया है ,विलेज कनेक्टिविटी , विकास पथ के विभिन्न कार्य पूर्ण कर लिए गए हैं ।उन्होंने विभाग द्वारा करवाए जा रहे विभिन्न कार्यो की विस्तार से जानकारी दी।
भगवती प्रसाद कलाल ने कहा कि कहा कि बिजली विभाग डिमांड नोटिस जारी हो चुके सभी प्रकरणों में कृषि कनेक्शन समय पर देना सुनिश्चित करें।
नगर निगम के काम की समीक्षा करते हुए जिला कलक्टर ने कहा कि डोर टू डोर कचरा संग्रहण कार्य में वाहनों पर जीपीएस लगाए जाने की शत-प्रतिशत मॉनिटरिंग हों, सड़कों पर कचरा ना दिखे ।सार्वजनिक प्रकाश व्यवस्था की शिकायत के लिए नियमित सिस्टम बनाते हुए सुनिश्चित करें कि यदि निर्धारित समय में कार्य पूरा नहीं होने पर संबंधित ठेकेदार पर जुर्माना लगे। उन्होंने पोल नंबरिंग करवाने के निर्देश भी दिए। जिला कलक्टर ने पॉलिथीन जब्ती ,निराश्रित पशुओं धरपकड़ कार्य की समीक्षा करते हुए कहा कि गलियों में पशु घूमते मिलने पर संबंधित मालिक पर अधिकतम जुर्माना लगाएं । उन्होंने जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग, वन, आईजीएनपी सहित अन्य विभागों के कार्यों की समीक्षा की तथा अवैध खनन रोकने के लिए वन विभाग को गश्ती बढ़ाने के निर्देश दिए।
बैठक में नगर निगम आयुक्त गोपाल राम बिरदा, अधीक्षण अभियंता नगर विकास न्यास सुरेश बेनीवाल, अधीक्षण अभियंता पीएचईडी राजेश पुरोहित सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

*जेजेएम के कार्य में ढिलाई पर ठेकेदारों पर करीब 3.50 करोड़ रुपए का जुर्माना*
जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने जल जीवन मिशन के तहत जिले में अब तक हुए कार्यों की समीक्षा की और कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यह सरकार का महत्वकांक्षी प्रोजेक्ट है, इसके मद्देनजर सख्त मॉनिटरिंग करते हुए ठेकेदारों को समय पर गुणवत्ता के साथ काम पूरा करने के लिए निर्देश दें। उन्होंने कहा कि जिले में अब तक हुई प्रगति असंतोषजनक है। बार-बार नोटिस के बावजूद ठेकेदार यदि निर्धारित समय में काम पूरा नहीं करता है तो उसे ब्लैक लिस्ट करने के लिए प्रस्ताव भिजवाया जाए। विलेज वॉटर सैनिटेशन कमेटी द्वारा जुटाई गई सहयोग राशि पर भी जिला कलक्टर ने असंतोष प्रकट किया और कहा कि इस कार्य में तेजी लाने के लिए जनप्रतिनिधियों के साथ नियमित रूप से संवाद करें ।
बैठक में पीएचईडी अधीक्षण अभियंता राजेश पुरोहित ने बताया गया कि नवंबर माह में मिशन के तहत 2100 नये कनेक्शन जारी किए गए हैं , साथ ही ओटीएम के नियमित कार्यों में लापरवाही बरतने पर संबंधित ठेकेदारों के विरुद्ध करीब 3 करोड 50 लाख रुपए के शास्ति आरोपित की गई है।
जिला कलक्टर ने जिले की डिग्गियों की नियमित सफाई, ढाणियों के 29 प्रस्ताव को रि वेरीफाई करने के भी निर्देश दिए।
उन्होंने कहा कि जहां जे जे एम के काम पूरे कर दिए गए हैं उनकी रिपोर्ट को पोर्टल पर अपडेट किया जाए। जिला कलक्टर ने पेयजल लीकेज रोकने के लिए प्रोएक्टिव होकर काम करने के निर्देश दिए।

*आयुष्मान चिरंजीवी ईकेवाईसी कार्य को लेकर शहरी क्षेत्र के चिकित्सा अधिकारियों को सख्त निर्देश*

बीकानेर, 5 दिसंबर। आयुष्मान भारत चिरंजीवी  योजना के लाभार्थियों की ऑनलाइन केवाईसी के संदर्भ में स्वास्थ्य भवन सभागार में शहरी क्षेत्र के चिकित्सा अधिकारियों की बैठक आयोजित हुई। बैठक में सीएमएचओ डॉ मोहम्मद अबरार पंवार द्वारा शहरी क्षेत्र में ईकेवाईसी कार्य में गति लाने तथा दिसंबर माह में ही शत प्रतिशत लाभार्थियों की ई केवाईसी पूर्ण करने के निर्देश दिए। इसके लिए उन्होंने समस्त आशाओं के साथ-साथ अन्य कार्मिकों को भी प्रशिक्षण देने तथा मोबाइल नंबर मैप करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने स्पष्ट किया कि ईकेवाईसी के बिना संबंधित व्यक्ति को राजस्थान के बाहर आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत किसी प्रकार का लाभ नहीं मिल पाएगा।
उल्लेखनीय है कि जिले में कुल 7,73,349 व्यक्ति है जो सामाजिक आर्थिक जातिगत जनगणना 2011 के अंतर्गत आते हैं और जिनका ईकेवाईसी किया जाना है। यही जिले का लक्ष्य है। जिले में 1,191 आशा सहयोगिनियाँ, 102 कम्युनिटी हेल्थ ऑफिसर तथा 1,426 आंगनबाड़ी कार्यकर्ता कार्यरत है जिनके माध्यम से उक्त कार्य करवाया जा रहा है।
बैठक में उपनिदेशक बीकानेर जोन डॉ राहुल हर्ष द्वारा चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में अधिकाधिक आमजन को जोड़ने के लिए डोर टू डोर सर्वे कार्य के दौरान आमजन को प्रेरित करने के निर्देश दिए गए। आरसीएचओ डॉ राजेश कुमार गुप्ता द्वारा टीकाकरण की प्रगति समीक्षा की गई। उन्होंने स्पष्ट किया कि समस्त उपलब्ध कोवैक्सीन को समय पर उपयोग कर लिया जाए ताकि एक भी डोज एक्सपायर ना हो। बैठक में डिप्टी सीएमएचओ स्वास्थ्य डॉ लोकेश गुप्ता, डीटीओ डॉ सी एस मोदी, डॉ रमेश कुमार गुप्ता, डॉ एम ए दाऊदी, डीपीएम सुशील कुमार, यूपीएम नेहा शेखावत, डीपीसी ईशान पुष्करणा, बीएएफ बीकानेर डॉ सुरेश स्वामी सहित शहरी क्षेत्र के चिकित्सा अधिकारी, पीएचएम, एसीडीओ मौजूद रहे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 5 / 5. Vote count: 1

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply