TID-Logo

जिले में बनेंगे 29 स्मार्ट लाइब्रेरी, युवा कर सकेंगे प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी

0
(0)

*जिला कलेक्टर ने ग्रामीण क्षेत्र में 25 तथा शहर में एक ई-लाइब्रेरी भवन बनाने की दी स्वीकृति*

बीकानेर, 4 दिसंबर। जिले के शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के युवा अब स्मार्ट लाइब्रेरी में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर सकेंगे। जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद कलाल की पहल पर ग्रामीण क्षेत्र में ऐसी 28 तथा बीकानेर शहर में एक स्मार्ट लाइब्रेरी बनाई जाएगी। ग्रामीण क्षेत्र में 25 पुस्तकालय बनाए जाने की वित्तीय स्वीकृतियां तथा नियमानुसार पहली किश्त हस्तांतरण के आदेश जारी कर दिए गए हैं। ग्रामीण क्षेत्र के यह पुस्तकालय संबंधित पंचायत समिति और ग्राम पंचायत की ओर से बनाए जाएंगे।
जिला कलेक्टर ने बताया कि शहरी और ग्रामीण क्षेत्र के युवा निजी पुस्तकालयों की तर्ज पर सुसज्जित सरकारी पुस्तकालयों में प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर सकें, इसके मद्देनजर यह पहल की गई है। ग्रामीण क्षेत्रों में बनने वाले ऐसे प्रत्येक भवन के निर्माण पर 25 से 27 लाख रुपए व्यय होंगे।

उन्होंने बताया कि नोखा के थावरिया, सिंजगुरु हिम्मटसर और बिलनियावास, बज्जू खालसा के बीकमपुर, रणजीतपुरा और बज्जू खालसा, श्रीडूंगरगढ़ के कल्याणसर नया, लखासर और मोमासर, श्रीकोलायत के हदां और श्रीकोलायत, पूगल के पूगल, छत्तरगढ़ और एक डीएलएसएम, खाजूवाला के दंतौर और 22 केवाईडी, बीकानेर के कालासर और उदासर, पांचू के ढिंगसरी, पांचू और पारवा तथा लूणकरणसर के शेखसर, शेरपुरा और ढाणी पांडूसर में ऐसे भवन निर्माण की वित्तीय स्वीकृतियां जारी कर दी गई हैं। उन्होंने बताया कि खाजूवाला के 14 बीडी, बीकानेर के नापासर और श्रीकोलायत के झझू में पुस्तकालय भवन बनाने की स्वीकृति शीघ्र ही जारी कर दी जाएगी। उन्होंने बताया कि सभी स्थानों पर भवन निर्माण की समय सीमा भी निर्धारित की गई है तथा इसकी प्रगति की नियमित समीक्षा की जाएगी।

*सूचना केंद्र परिसर में बनेगा ई-लाइब्रेरी और वरिष्ठ जनों के लिए मनोरंजन कक्ष*
जिला कलेक्टर ने बताया कि शहरी क्षेत्र के युवा भी स्तरीय ई-लाइब्रेरी में बैठकर प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर सकें, इसे ध्यान रखते हुए स्टेशन रोड स्थित सूचना केंद्र परिसर में अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त ई-लाइब्रेरी बनाई जाएगी। यह 50 से अधिक बैठक क्षमता की होगी। यहां संदर्भ पुस्तकों के आलावा ई-कंटेंट की सुविधा भी रहेगी।
जिला कलेक्टर ने कहा कि सेवानिवृत्त कार्मिक अथवा अन्य वरिष्ठ नागरिक विभिन्न समाचार पत्र-पत्रिकाएं पढ़ सकें तथा विभिन्न इनडोर खेल खेलने के साथ अन्य माध्यमों से मनोरंजन कर सकें इसे ध्यान रखते हुए यहां वृद्धजनों के लिए मनोरंजन कक्ष भी बनाया जाएगा।
इसके साथ ही सूचना केंद्र के मीटिंग हॉल का रिनोवेशन किया जाएगा, जिससे प्रेस वार्ता सहित अन्य गतिविधियां यहां संचालित की जा सके। उन्होंने बताया कि इन कार्यों पर लगभग 65 लाख रुपए खर्च होंगे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply