IMG 20220831 WA0048

कमजोर आय वर्ग के 1 हजार 64 परिवारों को मिली फ्लैट्स की चाबी

0
(0)

*शिक्षा मंत्री डॉ बी डी कल्ला ने आवंटियों को सौंपी ‘खुशियों की चाबी’*

*राज्य सरकार कर रही है घर का सपना साकार – धारीवाल*

बीकानेर, 31 अगस्त। कमजोर आय वर्ग के 1 हजार 64 परिवारों को बुधवार को स्वर्ण जयंती विस्तार नगर योजना में नगर विकास न्यास द्वारा बनाए गए फ्लैट्स की चाबी सौंपी गई। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में कोटा से वर्चुअल माध्यम से जुड़े नगरीय विकास एवं स्वायत्त शासन विभाग मंत्री श्री शांति धारीवाल ने इस आवासीय योजना को जनता को समर्पित किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि कमजोर वर्ग के लिए मकान बहुत बड़ा सपना होता है। राज्य सरकार गरीब और वंचितों के कल्याण को प्राथमिकता पर रखकर उनके घर के सपने को साकार कर रही है । उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जन आवास योजना में नगर विकास न्यास के माध्यम से करीब 43 करोड़ रुपए व्यय कर ये फ्लैट्स बनाए गए हैं। नगरीय विकास मंत्री ने कहा कि बीकानेर में आवास से वंचित कमजोर वर्ग के और लोगों को लाभान्वित करने के लिए घडसीसर में भी नगर विकास न्यास द्वारा 792 आवास बनाए जाने प्रस्तावित हैं। श्री धारीवाल ने कहा कि राज्य सरकार जन कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से सुनियोजित विकास और जनहित के उत्थान के लिए निरन्तर प्रयासरत है।

शिक्षा मंत्री डॉ. बी. डी. कल्ला ने समस्त आवंटियों को गणेश चतुर्थी के अवसर पर घर मिलने की बधाई देते हुए कहा कि खुद का घर बनाना जीवन के सबसे बड़े संघर्षों में एक है। राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री जन आवास योजना के माध्यम से ईडब्ल्यूएस वर्ग के 512 परिवारों को डेढ़ लाख रुपए की सब्सिडी देकर मात्र 3 लाख रुपए में (300 वर्ग फुट) तथा एलआईजी के 552 फ्लैट (500 वर्ग फुट) प्रति फ्लैट मात्र 5 लाख 10 हजार रुपए में उपलब्ध करवाया है। इस योजना के तहत समस्त मूलभूत सुविधाओं के साथ सुरक्षा आदि के भी पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं।
डॉ कल्ला ने कहा कि हर व्यक्ति को अपना घर मिले, यह मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का भी सपना है। इसे साकार करने के सतत प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा की प्रशासन शहरों के संग तथा प्रशासन गांव के संग अभियान से लाखों लोगों को लाभ हुआ।

शिक्षा मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने बीकानेर को स्मार्ट सिटी घोषित करते हुए आधारभूत ढांचे के विकास के लिए 200 करोड रुपए व्यय करने की घोषणा की है। इसके साथ ही बीकानेर पूर्व और पश्चिम में सड़क निर्माण कार्य के लिए भी अलग से 10-10 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए हैं। मुक्ता प्रसाद और गंगाशहर में दो यूसीएचसी बनाए जा रहे हैं। यहां दानदाताओं की मदद से 40 करोड रुपए की लागत से पीबीएम अस्पताल में मेडिसन विंग तैयार करवाई जा रही है । उन्होंने कहा कि शहर के विकास में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी जाएगी।

डॉ कल्ला ने कहा कि मनरेगा की तर्ज पर शहरों में रोजगार के लिए इंदिरा गांधी शहरी रोजगार योजना स्वीकृत की गई है। हजारों महात्मा गांधी इंग्लिश मीडियम स्कूल खोले गए हैं। मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत दस लाख रुपए तक का इलाज निःशुल्क उपलब्ध करवाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार आमजन के दुःख -दर्द में उनके साथ खड़ी है। डॉ कल्ला ने आमजन अपने शहर को स्वच्छ बनाए रखने में योगदान देने की अपील की।
डॉ भीमराव अंबेडकर फाउंडेशन के महानिदेशक श्री मदन गोपाल मेघवाल ने कहा कि घर, व्यक्ति के लिए गरिमा पूर्ण जीवन जीने की आवश्यकता है और 1064 परिवारों को बेहद कम कीमत में घर उपलब्ध करवाकर सरकार ने इन वंचित, कमजोर वर्ग के लोगों में आत्मविश्वास जगाया है।

नगर विकास न्यास सचिव श्री यशपाल आहूजा ने योजना की जानकारी दी तथा सभी का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में अतिरिक्त जिला कलेक्टर (नगर) पंकज शर्मा, नगर विकास न्यास के अधीक्षण अभियंता सुरेश बेनीवाल, तहसीलदार कालूराम परिहार, सहायक सचिव मक्खन आचार्य अधिशासी अभियंता राजीव गुप्ता, वंदना शर्मा, रेखा आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन गणेश कलवानी ने किया।

*खुशी से झूम उठी जस्सू कंवर*
शिक्षा मंत्री डॉ. कल्ला के हाथों अपने फ्लैट की चाबी लेने पहुंचे लोगों की आंखों में ख़ुशी नजर आई। जस्सू कंवर ने बताया कि वह वर्षों से किराए के मकान में रह रही थी।आज खुद के फ्लैट की चाबी मिलने पर वह अपने घर में रहने की कल्पना कर के ही बहुत खुश हैं। यहां ना उन्हें हर माह किराया चुकाने की चिंता है ना ही मकान मालिक की रोक टोक की। जस्सू कंवर ने इस आवंटन पर सरकार का आभार प्रकट किया।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply