IMG 20220819 WA0018

ऊर्जा मंत्री ने श्रीकोलायत की बेटियों को दी कन्या महाविद्यालय की सौगात

4
(1)

*श्रीकोलायत के पांचवें महाविद्यालय का हुआ भव्य उद्घाटन*
*क्षेत्र को बनाएंगे एजुकेशन हब : भाटी*

बीकानेर, 19 अगस्त। ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने शुक्रवार को श्रीकोलायत के पहले राजकीय कन्या महाविद्यालय का लोकार्पण कर क्षेत्र की बेटियों को बड़ी सौगात दी।
इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री ने कहा कि क्षेत्र की मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति उनकी सर्वोच्च प्राथमिकता है। इसके लिए वे पूर्ण तत्परता से कार्य कर रहे हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत द्वारा पेश किए गए चारों बजट भाषणों में श्रीकोलायत के लिए अधिक से अधिक घोषणाएं करवाने के साथ इनका समय पर क्रियान्वयन करवाया गया है। उन्होंने कहा कि पिछड़ा क्षेत्र होने के कारण उन्होंने मुख्यमंत्री से श्रीकोलायत का विशेष ध्यान रखने का आग्रह किया और मुख्यमंत्री ने श्रीकोलायत को सदैव उम्मीद से कहीं अधिक दिया।

ऊर्जा मंत्री ने कहा कि देश की आजादी से लेकर दिसंबर 2018 तक श्रीकोलायत में एक भी महाविद्यालय नहीं था। पिछले साढ़े तीन वर्षों में क्षेत्र को पांच महाविद्यालय मिले, जो एक कीर्तिमान है। उन्होंने कहा कि श्रीकोलायत को एजुकेशन हब बनाना उनका सपना है, जिसे साकार किया जाएगा। उन्होंने बताया कि श्रीकोलायत स्नातकोत्तर महाविद्यालय का भवन बनकर तैयार है। यहां 3 करोड़ रुपए की लागत से नया साइंस ब्लॉक स्वीकृत हुआ है। बज्जू, देशनोक और हदां के महाविद्यालयों के लिए भूमि और राशि स्वीकृत करवा दी गई है। राजकीय कन्या महाविद्यालय के लिए 16 बीघा जमीन और भवन निर्माण के लिए 4.5 करोड़ रुपए स्वीकृत किए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि सरकार के इन सभी प्रयासों के अच्छे परिणाम तब आएंगे, जब हम अपने बच्चों को अधिक से अधिक शिक्षा के अवसर देंगे।

उन्होंने कहा कि पिछले साढ़े तीन वर्षों में विधानसभा की 75 स्कूलों को उच्च माध्यमिक स्कूलों के रूप में क्रमोन्नत किया गया है। श्रीकोलायत की बालिका उच्च माध्यमिक स्कूल के लिए 13 बीघा जमीन और भवन निर्माण के लिए राशि स्वीकृत करवा दी गई है। श्रीकोलायत के उप जिला चिकित्सालय के लिए जमीन स्वीकृत करवा दी गई है। ऊर्जा मंत्री ने कहा कि राजस्थान, देश का पहला राज्य है, जहां मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा जैसी योजना लागू की गई है। इस योजना से प्रत्येक परिवार को दस लाख रुपए तक का कैशलेश स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध करवाया गया है। प्रदेशवासियों को 50 यूनिट बिजली प्रतिमाह फ्री दी जा रही है। सरकारी कर्मचारियों के लिए पुरानी पेंशन योजना लागू कर ऐतिहासिक निर्णय लिया गया है। इन सभी निर्णयों से आमजन का सरकार के प्रति विश्वास बढ़ा है। डॉ. भीमराव अंबेडकर फाउंडेशन के महानिदेशक मदन गोपाल मेघवाल ने कहा कि राज्य सरकार ने शिक्षा, चिकित्सा, सड़क, पेयजल सहित प्रत्येक क्षेत्र में ऐतिहासिक कार्य किए हैं। सरकार अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति को मुख्य धारा में जोड़ने की भावना से कार्य कर रही है।

इस अवसर पर राजकीय डूंगर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. जी.पी. सिंह, राजकीय विधि महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. भगवाना राम बिश्नोई, झंवर लाल सेठिया, रूपा राम मेघवाल, कप्तान मोहन लाल गोदारा, कॉलेज की नोडल प्राचार्या डॉ. शालिनी मूलचंदानी ने भी विचार व्यक्त किए।
इससे पहले ऊर्जा मंत्री ने महाविद्यालय के प्रशासनिक, मानविकी और शैक्षणिक भवन का लोकार्पण किया और इनका अवलोकन भी किया। इस अवसर पर मंत्री भाटी ने महाविद्यालय परिसर में खेजड़ी का पौधा लगाया। उन्होंने डॉ. शालिनी मूलचंदानी की पुस्तक ‘पुनर्नवा’ का विमोचन किया।
इस अवसर पर श्रीकोलायत पंचायत समिति प्रधान पुष्पादेवी सेठिया, उपनिवेशन उपायुक्त कन्हैया लाल सोनगरा, विकास अधिकारी दिनेश कुमार भाटी, कॉलेज शिक्षा के सहायक निदेशक डॉ. राकेश हर्ष, राजेश चूरा, गणपत राम सीगड़, संदीप चांदना सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन किशोर सिंह ने किया।

*ऊर्जा मंत्री ने सुनी समस्याएं*
इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने ग्रामीणों की समस्याएं सुनी। ग्रामीणों ने मंत्री को पानी, बिजली, सड़क सहित विभिन्न समस्याओं के बारे में बताया। जिनके निस्तारण के लिए उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 4 / 5. Vote count: 1

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply