IMG 20220720 WA0029

बेसिक पी.जी. कॉलेज में फेयरवेल पार्टी में विद्यार्थियों ने मचाई धूम

0
(0)

मोहित सोलंकी बने मिस्टर फेयरवेल सुमेधा गहलोत को मिस फेयरवेल खिताब

बीकानेर । बेसिक पी.जी. महाविद्यालय में बीएससी तथा बीकाम संकाय के अंतिम वर्ष के छात्र-छात्राओं के लिए समारोहपूर्वक विदाई दी गई। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि श्री रामजी व्यास, अध्यक्ष प्रबंधन समिति, विशिष्ट अतिथि श्री प्रदीप जोशी, डॉ. कलाम अकादमी, डॉ. धीरज कल्ला, वरिष्ठ सदस्य प्रबंधन समिति तथा कार्यक्रम की अध्यक्षता महाविद्यालय प्राचार्य डॉ. सुरेश पुरोहित ने की। इस अवसर पर मिस्टर एण्ड मिस फेयरवेल हेतु निर्णायक दल की भूमिका में श्रीमती अमीना, प्राचार्य राजकीय महात्मा गांधी विद्यालय, मुरलीधर व्यास नगर, श्रीमती ममता कल्ला, एडवोकेट श्रीमती अर्चना थानवी, पूर्व अध्यक्षा लॉयन्स क्लब रही।
कार्यक्रम का शुभारंभ ज्ञान की देवी मां सरस्वती के पूजन व दीप प्रज्ज्वलन के साथ किया गया। कार्यक्रम के प्रारम्भ में

महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. सुरेश पुरोहित ने अंतिम वर्ष के छात्र-छात्राओं को विश्वास, साहस, धैर्य तथा कठिन परिश्रम से भविष्य में आगे बढ़ने की सलाह दी और उनके उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएं प्रेषित की। डॉ. पुरोहित ने कहा कि महाविद्यालय के सभी विद्यार्थी सदैव महाविद्यालय के अभिन्न् अंग बनकर रहेंगे। इस अवसर पर विशिष्ट अतिथि श्री प्रदीप जोशी ने छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि सभी छात्र-छात्राएं आगे आने वाली हर चुनौती को एक अवसर के रूप में लेते हुए धैर्य के साथ आगे बढ़ें। सफलता का कोई शार्टकट नहीं होता है इसलिए कठिन मेहनत करते हुए अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए तत्पर रहें।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि के रूप में छात्र-छात्राओं को संबोधित करते हुए महाविद्यालय प्रबंधन समिति के अध्यक्ष श्री रामजी व्यास ने बताया कि विद्यार्थियों को बड़े सपने देखने चाहिए और उन बड़ो सपनों को पूरा करने के लिए सकारात्मक ऊर्जा के साथ प्रयास करना चाहिए। श्री व्यास ने छात्रों को उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाओं के साथ कई उदाहरणों एवं घटनाओं को बताते हुए समझाया कि वे किस प्रकार अपने भविष्य को और उज्ज्वल बना सकते हैं।

कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि डॉ. धीरज कल्ला ने विद्यार्थियों की दिनचर्या एवं गुणों के बारे में विस्तार से प्रकाश डाला तथा विद्यार्थी जीवन में अध्ययन को तनावमुक्त, एकाग्र चित्त मन से भयमुक्त होकर रहने के लिए आध्यात्मिकता योग, शारीरिक एवं नैतिक शिक्षा के बारे में जानकारी दी। डॉ. कल्ला ने छात्रों को बताया कि उन्होंने महाविद्यालय जीवन में जो भी सीखा है उन्हें भविष्य में उन सभी गुणों को अपने क्षेत्र में जाकर साझा करें।

कार्यक्रम के दौरान छात्र-छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम में एक से बढ़कर एक प्रस्तुति दी। इस अवसर पर बैलून गेम, कैटवाक, म्यूजिकल चेयर आदि विभिन्न प्रकार की प्रस्तुतियां दी गई। इस अवसर पर अंतिम वर्ष के छात्रों ने अपने तीन सालों के दौरान जो अनुभव और ज्ञान प्राप्त किया उसे सभी के साथ साझा किया। कार्यक्रम में निर्णायक दल द्वारा अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों में से मिस्टर फेयरवेल – मोहित सोलंकी, मिस फेयरवेल – सुमेधा गहलोत, मिस्टर पर्सनेल्टी – लक्ष्मीनारायण, मिस पर्सनेल्टी – महिमा व्यास, मिस्टर गुड लुकिंग – मोहित जोशी, मिस एडोरेबल – आयुषी तिवाड़ी को चुना गया। जिन्हें पुरस्कार एवं गिफ्ट देकर सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम को सफल बनाने में महाविद्यालय स्टाफ सदस्य डॉ. मुकेश ओझा, डॉ. रमेश पुरोहित, डॉ. रोशनी शर्मा, श्री वासुदेव पंवार, श्रीमती प्रभा बिस्सा, श्री सौरभ महात्मा, सुश्री संध्या व्यास, सुश्री श्वेता पुरोहित, श्रीमती जयश्री, श्रीमती ज्योति, श्री गणेश दास व्यास, श्री लोकेश पुरोहित, श्री अविनाश गहलोत, श्री हितेश पुरोहित सहित महाविद्यालय के प्रथम वर्ष तथा द्वितीय वर्ष के छात्र-छात्राओं का उल्लेखनीय योगदान रहा । इस अवसर पर महाविद्यालय के अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों द्वारा प्राचार्य तथा प्राध्यापकों को स्मृति चिन्ह भेंट किया गया तथा जूनियर छात्रों के द्वारा अंतिम वर्ष के विद्यार्थियों को स्मृति के रूप में उपहार दिए गए।
कार्यक्रम के अन्त में महाविद्यालय प्रबंधन समिति के अध्यक्ष श्री रामजी व्यास एवं महाविद्यालय प्राचार्य डॉ. सुरेश पुरोहित द्वारा सभी अतिथियों को स्मृति चिह्न भेंट कर सम्मानित किया गया।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply