Picsart 22 06 01 21 39 33 892

सरकार ने पद सरेंडर करवाए तो प्रभावित होगी रेलवे की नॉन सेफ्टी पदों की भर्ती प्रकिया

0
(0)

बीकानेर । नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे एम्प्लॉइज यूनियन के जोनल महामंत्री कॉमरेड मुकेश माथुर एवं जोनल अध्यक्ष कॉमरेड अरूण गुप्ता आज एक दिवसीय दौरे पर बीकानेर आए।
कॉम मुकेश माथुर ने नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे एम्प्लॉइज यूनियन बीकानेर मंडल की सूरतगढ़, हनुमानगढ़, भटिंडा, सिरसा, हिसार , सादुलपुर, चुरू, रतनगढ़, लालगढ़ , बीकानेर की सभी ब्रांचों की मीटिंग रेल यूनियन आफिस अलख सागर यूनियन कार्यालय में ली। माथुर ने मंडल की समस्त कार्य के बारे में मंडल सचिव कॉम प्रमोद यादव एवं मंडल अध्यक्ष कॉम शशि प्रकाश लोहान से जानकारी ली।
कॉम मुकेश माथुर को पिछले दिनों जयपुर में हुए वार्षिक अधिवेशन में सर्वासमिति से जोनल महामंत्री चुना गया था। माथुर एवं गुप्ता का पद ग्रहण करने के बाद यह पहला मंडल दौरा है।

कॉम मुकेश माथुर ने मीटिंग में बताया कि सरकार कर्मचारियों की मैन पावर को कम कर कर्मचारियों के 50 प्रतिशत नॉन सेफ्टी के रिक्त पदों के आदेश को सभी जोन में अपना दबाव बना कर सरेंडर करवाना चाहती है । अगर ये लागू होता है तो केंद्रीयकृत रोजगार सूचना संख्या सी ई इन 01/ 2019 के अंतर्गत 21984 गैर सरंक्षा पदों की भर्ती प्रकिया भी इससे प्रभावित होगी। इस संबंध में पीसीपीओ जयपुर से वार्ता हुई है। यूनियन ने मांग की है कि यह भर्ती प्रक्रिया इस से प्रभावित न हो। देश का युवा आज शिक्षित होने के बाद एक सरकारी नौकरी का सपना लेकर अपनी तैयारी करता है। रेलवे में अगर यह आदेश लागू होता है तो युवाओं का सपना सपना ही रहेगा । यूनियन इस आदेश का पुरजोर विरोध करती है।

ऑल इंडिया रेलवे मैन्स फेडरेशन दिल्ली के महामंत्री कॉम शिव गोपाल मिश्रा ने रेल प्रशासन को चेताते हुए इस के लिए पूरे देश मे 27 मई को राजस्थान सहित पूरे देश के सभी जोनल मुख्यालयों,मंडल कार्यालय एवं कारखानों के साथ सभी जगह इसका विरोध किया। कॉम मुकेश माथुर ने कहा कि रेलवे को सरकार निजी हाथों में देने के लिए तैयार है जिस के विरोध के लिए हम सब कर्मचारियों को संगठित होकर तैयार रखना होगा । रेल देश का निम्न वर्ग के लोगों का सबसे सुलभ साधन है। अगर यह पूंजीपतियों के हाथ चला गया तो देश की आम जनता के साथ सभी के लिए बहुत हानिकारक होगा । जिस से प्राइवेट कंपनियां मनमाने किराये के साथ अन्य सुविधाओं पर लगाम लग देगी ।

जोनल अध्यक्ष कॉम अरुण गुप्ता ने कहा कि अब हर समय एक नई चुनौती आ रही है। सरकार अपने कर्मचारी विरोधी दमनकारी नीतियों को लागू कर कर्मचारियों के साथ आम जनता की सुरक्षा के साथ खेल रही है। जिस तरह 50 प्रतिशत नॉन सेफ्टी पद को सरेंडर के आदेश लागू करने में लगी है अगर ये आदेश लागू होते है तो रेल प्रशासन द्वारा इस पर सेफ्टी कर्मचारियों द्वारा काम करवाया जाएगा जिससे रेल सरंक्षा प्रभावित होगी ।

इस मीटिंग में बीकानेर मंडल के मंडल सचिव कॉम प्रमोद यादव एवं कॉम शशि प्रकाश लोहान मंडल अध्यक्ष के साथ सभी दस ब्रांचों के शाखा सचिव एवं शाखा अध्यक्ष के साथ अन्य मंडल पदाधिकारी एवं सक्रिय कार्यकर्ता मौजूद रहे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply