Picsart 22 05 29 18 47 45 653 scaled

ऊर्जा मंत्री ने कोलायत क्षेत्र की निर्माणाधीन सड़कों का लिया जायजा’ अधिकारियों व ठेकेदारों से कहा लापरवाही अस्वीकार्य

0
(0)

बीकानेर, 29 मई। ऊर्जा मंत्री भंवर सिंह भाटी ने रविवार को कोलायत विधानसभा क्षेत्र में प्रगतिरत सड़क कार्यों का निरीक्षण कर जायज़ा लिया और काम की गुणवत्ता बनाए रखते हुए समयबद्धता के साथ कार्य पूरे करने के निर्देश दिए। उन्होंने क्षेत्र में मुख्यमंत्री बजट घोषणा के तहत विभिन्न निर्माणाधीन कार्यों का निरीक्षण किया।
भाटी ने कहा कि सड़क की गुणवत्ता के साथ किसी भी स्तर पर कोई समझौता ना हो। सड़क का बेस मजबूत रखा जाए। सड़क से भारी वाहन गुजरेंगे इसके मद्देनजर इस बात का विशेष ध्यान रखा जाए।
उन्होंने कहा कि इस रोड के बन जाने के बाद नेशनल हाईवे पर दबाव कम होकर इस रोड पर ज्यादा होगा। उन्होंने मौजूद पीडब्ल्यूडी अधिकारियों को इस रोड को नेशनल हाईवे की तर्ज पर बनाये जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कुछ शिकायतें मिली है उन्हें दूर करते हुए रोड की क्वालिटी पर ज्यादा ध्यान दिया जाए ।यह सड़क इस क्षेत्र की लाइफ लाइन है।

उन्होंने सड़क की मोटाई और चौड़ाई के बारे में जानकारी ली और निर्देश दिए कि मापदंडों के अनुसार ही सड़क का निर्माण हो । हाड़ला से सड़क निरीक्षण की शुरुआत कर श्री भाटी ने कहा कि अभियंता ठेकेदार द्वारा किए जा रहे सड़क निर्माण कार्य पर नियमित निगरानी रखें। निर्माण कार्य के दौरान अभियंता आवश्यक रूप से मौके पर उपस्थित रहने चाहिए।
ऊर्जा मंत्री ने बीकानेर- झझू- दासोड़ी -रणजीतपुरा से ओसियां वाया बज्जू गौडू- कोलायत- बज्जू-झझू- जांगलू-पांचू- हंसासर-पाचौडी निर्माणाधीन रोड की जानकारी ली।
पीडब्ल्यूडी अधीक्षण अभियन्ता पीडब्ल्यूडी मुकेश गुप्ता और अधिशाषी अभियन्ता संजय चौधरी ने सडक निर्माण कार्यों की जानकारी दी।

इन सड़कों के सुदृढ़ीकरण से मिलेगी राहत
कोलायत विधानसभा क्षेत्र में रणजीतपुरा से ओसियां वाया गोडू बज्जू की 50 किलोमीटर सड़क का निर्माण कार्य प्रगतिरत है। इस कार्य पर 41 करोड 93 लाख रुपए व्यय किए जाने हैं। बीकानेर झझू दासोडी सड़क का भी अक्कासर से मोटा फांटा का 26 किलोमीटर सड़क कार्य भी 22 करोड़ 91 लाख रुपए व्यय कर सुदृढ़ीकरण का कार्य प्रगति पर है। यह सड़क बीकानेर को ओसिया से झझू-दासौड़ी होते हुए जोड़ती है। सड़का का 93 किलो मीटर भाग कोलायत विधानसभा क्षेत्र में आता है। इससे अक्कासर, से मोखा फांटा के मध्य 26 किलोमीटर में चौड़ाईकरण (3.75 मीटर से 7 मीटर) एवं सुदृढीकरण का कार्य प्रगतिरत है।

ट्रोमा सेन्टर का अवलोकन, घटिया निर्माण देख मंत्री ने जताई नाराजगी- ऊर्जा मंत्री ने कोलायत सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र परिसर में स्थित ट्रामा सेंटर के निर्माण कार्य का निरीक्षण किया और कार्य में देरी को लेकर नाराजगी जताई। साथ ही निर्माण कार्य गुणवत्तापूर्ण नहीं पाए जाने पर संबंधित ठेकेदार व एन आर एच एम के अभियंता को सख्त निर्देश दिए कि निर्माण कार्य पूरी गुणवत्ता के साथ पूरा करवाया जाए। उन्होंने इस संबंध में जिला कलक्टर से दूरभाष पर चर्चा कर घटिया निर्माण की जांच की करवाने को कहा। इस ट्रोमा सेन्टर के निर्माण पर 2 करोड़ रूपये खर्च होने है और इसी माह में इसे पूरा किया जाना था। मौके पर ट्रोमा सेन्टर का कार्य छत डालने तक का भी नहीं हुआ है। उन्होंने संबंधित अभियन्ता को निर्देश दिए कि भविष्य में इसके विस्तार को देखते हुए इसमें तीन मंजिल का प्रावधान रखा जाए। कोलायत बीसीएमओ सुनील जैन ने ट्रोमा सेन्टर की प्रगति के बारे में जानकारी दी।

उप जिला अस्पताल की भूमि का अवलोकन किया- ऊर्जा मंत्री भाटी ने कोलायत में हाल ही में बजट में स्वीकृत उपजिला अस्पताल के लिए आंवटित भूमि का मौके पर निरीक्षण किया। उन्होंने विद्युत विभाग के अधिशाषी अभियन्ता रंजन को निर्देश दिए कि भूमि के ऊपर से गुजर रही विद्युत लाइन को शिफ्ट करने का प्रस्ताव तैयार करे। ये लाइने शीघ्र ही शिफ्ट हो जानी चाहिए।

राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय की भूमि का किया निरीक्षण– उन्होंने मढ़ रोड पर राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय कोलायत के नए भवन के लिए आवंटित 2.76 हैक्टयर (11 बीघा) भूमि का निरीक्षण किया। उन्होंने भवन निर्माण की प्रगति के बारे में जाना और निर्देश दिए निर्माण संबंधी कार्य समय पर हो ताकि बालिकाओं का अच्छी सुविधा मिल सके। मुख्य ब्लॉक शिक्षा अधिकारी मूल सिंह ने बताया कि शाला भवन के लिए 467.38 लाख रूपये स्वीकृत हो चुके और निविदा प्रक्रियाधीन है। उन्होंने बताया कि एक माह में भवन निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिया जायेगा।

महिला कॉलेज की भूमि का किया अवलोकन- ऊर्जा मंत्री ने कोलायत में मढ़ रोड पर महिला कॉलेज को आवंटित 16 बीघा जमीन का निरीक्षण किया और यहां बने भवन का रंगरोगन और इसमें सुधार करवाने के निर्देश विकास अधिकारी को दिए। उन्होंने कहा कि जब तक कॉलेज का भवन निर्माण पूरा नहीं हो जाता, इसे यहां बने कमरों में इसी सत्र से प्रारंभ कर दिया जाए। उन्होंने भवन निर्माण की कार्यकारी एजेन्सी के अभियन्ता को निर्देश दिए कि भवन के निर्माण के दौरान इसे तीन मंजिल तक बनाया जा सके, इसका प्रावधान रखा जाए। इस भवन का निर्माण कार्य मण्डी कृषि विपणन मंडी द्वारा कराया जायेगा। भवन के निर्माण पर 4.50 करोड़ रूपये खर्च होने है। इस अवसर पर पीजी कॉलेज कोलायत की प्राचार्य शालिनी मूलचंदानी, डूंगर कॉलेज के प्राचार्य जीपी सिंह, सहायक निदेशक कॉलेज शिक्षा डॉ.राकेश हर्ष उपस्थित थे।

ऊर्जा मंत्री ने पीजी कॉलेज कोलायत का भी निरीक्षण किया और इस कॉलेज के खेल मैदान के लिए आवंटित भूमि का निरीक्षण करते हुए खेल मैदान को शीघ्र विकसित करने के निर्देश दिए। साथ ही उन्होंने महाविद्यालय के पीछे बनी खदानों से खनन ना हो, इसके लिए उन्होंने उपखण्ड अधिकारी को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

महाविद्यालयों के नाम महर्षि कपिल मुनि के नाम से शुरू करवाने के लिए दिया ज्ञापन-कोलायत में संचालित राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय और राजकीय कन्या महाविद्यालय के नाम महर्षि कपिल मुनि के नाम से शुरू करवाने को लेकर ग्रामीणों ने ज्ञापन सौंपा और कहा कि दोनों ही महाविद्यालय के नाम भगवान कपिल मुनि के नाम से शुरू हो ताकि शिक्षा के क्षेत्र में भी भगवान कपिल मुनि का नाम लोगों के सामने आता रहे। जिस पर मंत्री भाटी ने कहा कि ऊपर अधिकारियों से चर्चा की जाएगी और महाविद्यालयों के नाम महर्षि कपिल मुनि से शुरू करवाने का आश्वासन दिया।

इस अवसर पर उपखण्ड अधिकारी प्रदीप चाहर, तहसीलदार राजस्व सुल्तान सिंह, उप निवेशन तहसीलदार शिव प्रसाद गौड़, झंवर लाल सेठिया, विकास अधिकारी दिनेश सिंह भाटी, खेमाराम मेघवाल, फारूख अली, हुकमाराम नायक, चिराग मोहम्मद, रूपाराम मेघवाल आदि उपस्थित रहे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply