Picsart 22 05 28 17 56 02 023

कर्मचारी गण ध्यान दें: रेलवे में नॉन सेफ्टी के 50% रिक्त पदों को खत्म करने का सिग्नल

0
(0)

बीकानेर । रेलवे बोर्ड द्वारा राजस्थान सहित पूरे देशभर मे अपने एक आदेश मे देश के सबसे बड़े महकमे रेल मे नॉन सेफ्टी के 50% रिक्त पदों को सरेंडर कर तानाशाही आदेश निकल दिए है। इस तानाशाही आदेश के विरोध मे ऑल इंडिया रेलवे मैन्स फेडरेशन (AIRF) के आह्वान पर पूरे देश मे सभी जोन मे विरोध किया जा रहा है।
इसी क्रम मे आज नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे एम्प्लॉइज यूनियन बीकानेर के बैनर तले मंडल रेल प्रबंधक बीकानेर कार्यालय के मैन गेट पर कर्मचारियों द्वारा प्रदर्शन किया गया।

रेलवे बोर्ड ने अपने पत्र में सभी जोनल रेलवे एवं उत्पादन यूनिट के महाप्रबंधको को निर्देशित किया है कि गैर सरंक्षा कोटि (एनएससी) के 50 प्रतिशत खाली पदों को तुरंत खत्म किया जाए। इसके लिए रेलवे द्वारा 31 मई तक कार्यवाही करने का दबाव उत्तर पश्चिम रेलवे सहित सभी जोनल रेलवे पर बनाया जा रहा है ।
नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे एम्प्लॉइज यूनियन के जोनल उपाध्यक्ष कॉम ब्रजेश ओझा ने बताया कि रेलवे बोर्ड का यह फरमान यदि लागू हो जाता है तो उत्तर पश्चिम रेलवे के सभी मंडलों, कारखाना, मुख्यालय, ओर सभी यूनिट के लगभग 1600 पद समाप्त हो जाएंगे। इसमे कार्मिक ,लेखा, चिकित्सा, सुरक्षा विभाग के सबसे ज्यादा प्रभावित होंगे। इसे देखते हुए ऑल इंडिया रेलवे मैन्स फेडरेशन AIRF के महामंत्री कॉम शिव गोपाल मिश्रा और कॉम मुकेश माथुर ने इसका कड़ा विरोध किया है। इस आदेश से आने वाले समय में होने वाली संवर्ग पुनःसंरचना प्रभावित होगी।

वहीं रेल मंत्रालय द्वारा केंद्रीयकृत रोजगार सूचना संख्या सी ई इन 01/ 2019 के अंतर्गत 21984 गैर सरंक्षा पदों की भर्ती प्रक्रिया भी इससे प्रभावित होगी जो सभी के साथ अन्यायपूर्ण है। देश का युवा अपने सपनों को साकार करने के लिए शहर और गांव से दूर सरकारी नौकरी के लिए तैयारी करता है। इस आदेश से उनका रेल में नौकरी का सपना कभी साकार नहीं होगा। इस आदेश से नॉन सेफ्टी पद को सरेंडर करने से अन्य सेफ्टी के कर्मचारियों से उनका कार्य करवाया जाएगा जिसे रेल सरंक्षा मे कर्मचारियों का अभाव होगा और जिसका सीधा असर रेल यात्रियों की यात्रा पर पड़ेगा।

कॉम दिनेश सिंह शाखा सचिव कार्यशाला ने बताया कि आज ये आदेश लागू होते है तो अन्य कर्मचारियों के कार्य पर प्रभाव पड़ेंगे और उन पर काम का अत्यधिक दबाव रहेंगा,जिस तरह आज ये तानाशाही आदेश नॉन सेफ्टी के लिए आये है अगर समय रहते इसका विरोध नहीं किया तो अन्य कैटेगरी के लिए भी शीघ्र ही ये आदेश आने की संभावना है ।
कॉम गणेश वशिष्ठ शाखा सचिव लालगढ़ ने कहा कि हम सभी विभिन्न विभाग में कार्यरत भिन्न भिन्न कोटि के कर्मचारी रेलवे बोर्ड के नॉन सेफ्टी 50% पदों के सरेंडर के काले कानून का विरोध करते है और अगर समय रहते इस आदेश को वापिस नही लिया तो हम सभी रेल कर्मचारी इस का पुरजोर विरोध करेंगे।

कॉम विजय श्रीमाली,कॉम आनंद मोहन, कॉम मोहम्मद सलीम क़ुरैशी,कॉम कैलाश ,कॉम मुस्ताक अली, कॉम सुरेश,कॉम सोंनु कुमार ,कॉम मोहम्मद अमीन,कॉम पवन मारू,कॉम नवीन, कॉम अजरुदीन, कॉम सुरेंद्र, कॉम सुनील मोदी, कॉम पवन कुमार बीकानेरी,कॉम महेश, कॉम सौरभ शर्मा, कॉम अमरनाथ,कॉम आशु सिंह सोलंकी, कॉम राजेंद्र ,कॉम जितेंद्र , कॉम नंदकिशोर, कॉम विजय मीना,, कॉम महावीर ,कॉम दीन दयाल सुथार, कॉम लाल चंद, कॉम दिलीप कुमार,कॉम माला राम मीणा, कॉम नंदू सारण,कॉम धीरेंद्र सिंह,कॉम निरंजन, कॉम धर्मेंद्र कुमार,कॉम हरप्रीत,कॉम सुधीर,कॉम रमेश कुमार, कॉम दिनेश चौधरी,कॉम पंकज,कॉम शिवानन्द कॉम सोहन लाल , कॉम पंकज, कॉम दिनेश दड़िया, कॉम शिव कुमार , कॉम रमेश के साथ अन्य सैकड़ो कर्मचारी मौजूद रहे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply