Picsart 22 04 25 09 20 43 990

बीकानेर नगर को व्यसन मुक्त बनाने का आह्वान – अणुव्रत समिति

0
(0)

बीकानेर । अणुव्रत प्रवर्तक आचार्य श्री तुलसी व अणुव्रत अनुशास्ता आचार्य श्री महाश्रमण द्वारा प्रेरणा पाथेय एवं अणुविभा संस्थान से निर्देशित अणुव्रत आन्दोलन के प्रचार-प्रसार के क्रम में तुलसी साधना केन्द्र, दुगड़ भवन, रामपपुरिया मोहल्ला, बीकानेर के प्रांगण में अणुविभा के कर्मठ अध्यक्ष संचय जैन, महामंत्री भीखमचंद सुराणा एवं वरिष्ठ उपाध्यक्ष अविनाश नाहर, धर्मेन्द्र डाकलिया – प्रचार-प्रसार मंत्री अणुविभा, प्रकाशचंद भंसाली – राज्यमंत्री उत्तरांचल जॉन, अशोक चौरड़िया-अणुव्रत प्रबोधन प्रतियोगिता-2021-22 के राष्ट्रीय संयोजक व अणुव्रत समिति, बीकानेर के सभी कार्यकारिणी सदस्य एवं साधारण सदस्यगण के मध्य एक बहुत ही अति आवश्यक विषय-व्यसन मुक्त जीवन अपनाने के क्रम में तथ्यात्मक विचारों के आधार पर संगोष्ठी का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम की शुरुआत अणुव्रत गीत “संयममय जीवन हो” का वाचन मधुर स्वरों में अध्यक्ष झँवरलाल गोलछ, जैन बाबूलाल महात्मा द्वारा भावपूर्ण मुद्राओं एवं उच्च वाणी में उद्घोषित किया गया।
अध्यक्ष अणुव्रत समिति, बीकानेर द्वारा अणुविभा के सभी पदाधिकारियों का हार्दिक अभिनन्दन आभार प्रकट किया एवं उन्हें समिति के कार्यक्रमों के बारे में अवगत कराया गया।

अणुविभा के वरिष्ठ उपाध्यक्ष अविनाश नाहर ने अपने सम्बोधन में अणुव्रत समिति, बीकानेर के कार्यों की भूरि-भूरि प्रशंसा की व व्यसन मुक्त अभियान को निरन्तर आगे बढ़ाने के अवसर को जागरूकता पूर्वक करते रहने का प्रयास किया जाना चाहिए।
अणुविभा के महामंत्री भीखमचंद सुराणा ने अपने सम्बोधन में अणुव्रत क्रियेविटी कॉन्टेस्ट-2021 व अणुव्रत प्रबोधन प्रतियोगिता- 2022 को शिक्षा क्षेत्र में जयादा से ज्यादा प्रचारित करने के लिए कहा।
प्रकाश भंसाली राज्यमंत्री – उत्तरांचल जॉन ने अणुव्रत समिति, बीकानेर को एक जागरूक व कार्यों के प्रति पूर्ण जिम्मेदार समिति बताया। धर्मेन्द्र डाकलिया प्रचार प्रसार मंत्री अणुविभा ने अपने सम्बोधन में आचार्यश्री तुलसी को – शत्-शत् नमन करते हुए उनके द्वारा उद्घोषित अणुव्रत आन्दोलन को पूरे जनमानस में प्रचारित करने का कहा।

डॉ. नीलम जैन परामर्शक अणुव्रत समिति, बीकानेर ने पधारे हुए अणुविभा के सभी पधारे हुए पदाधिकारियों का हृदय से स्वागत व आभार प्रकट किया। उन्होंने कर्मठ अध्यक्ष संचय जैन को अणुव्रत आन्दोलन के विकास पथ का एक सच्चा पथिक व अणुव्रती कार्यकर्ता बताया।
सुरजाराम राजपुरोहित वरिष्ठ उपाध्यक्ष अणुव्रत समिति, बीकानेर ने लाल कोठी के प्रांगण में राजेश सुराणा के सानिध्य में बीकानेर नगर को व्यसन मुक्त बनाने हेतु पूरी अणुव्रत समिति के मध्य संकल्पपूर्वक घोषणा के साथ ही इसे निरन्तर आगे बढ़ाने के आह्वान को फिर से याद दिलाया। अणुविभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष, महामंत्री, वरिष्ठ उपाध्यक्ष एवं प्रचार-प्रसार मंत्री से उम्मीद करते हैं कि इस संगोष्ठी का मूल उद्देश्य व्यसन मुक्त जीवन को जागृति प्रदान करना है। बीकानेर नगर के जिलाधीष महोदय, अधिकारी एवं महापौर भी इस कार्य में पूर्ण सहयोग करने हेतु कृत संकल्पित हैं एवं नई चेतना प्रदान करने के लिए भी प्रयासरत् है।

अशोक चौरड़िया, राष्ट्रीय संयोजक, अणुव्रत प्रबोधन प्रतियोगिता-2021-22 ने विद्यालयों के प्रार्थना सभा में जीवन विज्ञान व प्रेक्षाध्यान लागू करने के प्रयास हेतु अपने विचार अवगत किए। सुरेन्द्र कुमार डागा अर्हम् स्कूल के निर्देशक व परामर्शक अणुव्रत समिति, बीकानेर ने अपने व्यक्तित्व में कहा कि विद्यालयों में अणुव्रत प्रतियोगिताएँ व वृक्षारोपण एवं नुक्कड़ नाटकों के आयोजन करके बच्चों के भविष्य उज्ज्वल बनाया जा सकता है। महेन्द्र व्यास प्रोफेसर टेक्निकल कॉलेज ने अणुव्रत आन्दोलन को मानव जीवन को उच्च बनाने का अच्छा संस्कार युक्त आन्दोलन बताया।

अणुविभा के कर्मठ अध्यक्ष संचय जैन ने अपने उद्बोधन में कहा कि बीकानेर – गंगाशहर की धरा पर शक्तिपीठ को मेरा अभिवादन एवं अणुव्रत अनुशास्ता के प्रति मेरा भावभरा वंदन | अणुव्रत समिति, बीकानेर एक बहुत सक्रिय समिति है। आज का जो विषय है-व्यसन मुक्त समाज का निर्माण करना। इस लक्ष्य की प्राप्ति हेतु नशा मुक्त संकल्प के साथ-साथ जीवन में स्वयं का प्रामाणिक होना जरूरी है। नशा मुक्त विद्यालयों को डिक्लेर करें, ताकि पूरे समाज व पेरेन्ट्स तक यह संदेश मिल सके। लक्ष्य प्राप्ति का एक तरीका यह भी हो सकता है कि प्रेरणा, संगोष्ठियाँ संकल्प पत्र भरवाने के साथ-साथ उसका रोड मेप बनाया जाये जिससे आने वाले छह माह बाद उसका रिजल्ट – जीवनविज्ञान अणुव्रत प्रतियोगिताओं, नई पीढ़ी को तैयार करके ही किया जा सकता है। विद्यालयों के कार्यों में नशा मुक्त जीवन अपनाने, नुक्कड़ नाटक, कच्ची बस्तियों व जेल इत्यादि में जाकर भी संगोष्ठियों का आयोजन किया जाना चाहिए। सब लोगों को साथ में जोड़कर एवं बीकानेर के शिक्षा मंत्री व ऊर्जा मंत्री इत्यादि का भी सहयोग प्राप्त किया जा सकता है।

बीकानेर नगर को व्यसन मुक्त बनाने से पूर्व हमें एक स्कूल को फोकस करने का कार्यक्रम बनाकर आगे भविष्य के लिए संगोष्ठी का आयोजन किया जाना संभव हो सकता है।
अणुव्रत समिति, बीकानेर के मंत्री शान्तिलाल कांकरिया ने सभी आगन्तुकों का भव्य स्वागत करते हुए अणुविभा से पधारे हुए सभी पदाधिकारियों का अणुव्रत समिति द्वारा आभार प्रकट किया।
जैन बाबूलाल महात्मा – सहमंत्री (द्वितीय) अणुव्रत समिति, बीकानेर ने संगोष्ठी का बहुत ही कुशल संचालन कया, जिसके लिए उन्हें बहुत बहुत साधुवाद है। साध्वी अर्हत्प्रभा के दर्शन करने के पश्चात् मंगल उद्बोधन पाठ का हृदयगत संवाद सुना – ॐ अर्हम्।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply