Picsart 22 03 26 21 30 29 607

मैसर्स मोहन उद्योग वर्ष 2021-22 के व्यापार प्रोत्साहन पुरस्कार से सम्मानित

0
(0)

इंदौर। ऑल इंडिया दाल मिल एसोसिएशन की ओर से बीकानेर के मैसर्स मोहन उद्योग को वर्ष 2021-22 के व्यापार प्रोत्साहन पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। यह पुरस्कार मध्य प्रदेश के राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने इंदौर बायपास रोड स्थित लाभगंगा कन्वेंशन सेंटर में आयोजित दाल मिल प्रदर्शनी के शुभारंभ अवसर पर मोहन उद्योग के प्रमुख अशोक वासवानी को देकर सम्मानित किया।

IMG 20220325 WA0007

इस अवसर पर राज्यपाल पटेल ने दाल मिल एसोसिएशन के ऍफ़ से प्रदर्शनी के संबंध में जानकारी प्राप्त करते हुए प्रदर्शनी में दिखाई गई मशीनों का अवलोकन किया।

राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कहा कि व्यापारी समुदाय की देश के विकास में महती भूमिका है। उन्होंने कहा कि इंदौर में दाल’ मिल एसोसिएशन के अध्यक्ष एवं सदस्यों ने कोविड-19 के दौरान जरूरतमंद लोगों को दाल के पैकेट वितरित किए तथा प्रवासी मजदूरों के लिए खाने एवं पेयजल व्यवस्था सुनिश्चित की। उन्होंने कहा कि दाल मिल एसोसिएशन द्वारा किए जा रहे व्यापार से ना केवल आर्थिक विकास हो रहा है, बल्कि रोजगार के नए अवसरों का सर्जन हो रहा है। उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत की विकासगाथा में व्यापारीगणों की सहभागिता अति महत्वपूर्ण है।

‘राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कार्यक्रम में विभिन्न राज्यों से आए उत्कृष्ट कार्य करने वाले व्यापारियों को भी व्यापार प्रोत्साहन पुरस्कार से सम्मानित किया। उल्लेखनीय है कि तीन दिवसीय दाल मिल एग्जीविशन में विभिन्न राज्यों से व्यापारीगण शामिल हुए हैं। इस एग्जीबिशन में विभिन्न देशों से बुलाई गई आधुनिक मशीनों की प्रदर्शनी लगाई गई। इस अवसर पर मंत्री तुलसी सिलावट, कृष्णमुरारी मोघे, महेन्द्र हार्डिया, दाल मिल एसोसिएशन के सदस्य व विभिन्न प्रांतों से आए व्यापारीगण उपस्थित थे।

मध्यप्रदेश और राजस्थान में 900 से अधिक दाल मिलें

ऑल इंडिया दाल मिल एसोसिएशन के अध्यक्ष सुरेश अग्रवाल ने बताया कि मध्यप्रदेश और राजस्थान में 900 से अधिक दाल मिलें, लगभग 250 सोयाबीन मिलें, 110 से अधिक चना मिलें लगभग 500 चावल मिलों के साथ गेहूं व मसाले के हजारों व्यापारी- डीलर हैं. वहीं भारत में 1200 से अधिक आटा मिलें भी है. इनमें से 15 फीसद से ज्यादा प्रोसेसिंग में हैं। विकासशील अनाज उद्योग की बढ़ती जरूरतों के लिए व्यापार का विस्तार करने और बाजार का पता लगाने के लिए ग्रेनएक्स इंडिया एक बड़े मंच के रूप में सभी के सामने है। इस प्रदर्शनी में देश-विदेश की 100 से ज्यादा कंपनियों ने भाग लिया है. दाल मिलिंग, पैकेजिंग, क्लीनर ग्रेडर से लेकर मैग्नेटस बनाने वाली कंपनियां तक इनमें शामिल हैं।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply