Picsart 22 02 13 23 45 00 865

गोचर दीवार के लिए भामाशाहों की लगी कतार धरने को मिला समर्थन अपार

0
(0)

– राईका समाज गोचर आन्दोलन में भाटी के साथ

-महामण्डलेश्वर विशोकानंद महाराज ने समर्थन जताया

बीकानेर 13 फरवरी । गोचर, ओरण व चारागाह की जमीन पर कब्जों को नियमन करने के राज्य सरकार के फैसले के बाद से बीकानेर में पूर्व मंत्री देवी सिंह भाटी का शरह नथानियान गोचर भूमि में चल रहे बेमियादी धरना के 32 वें दिन भी जारी रहा। धरना स्थल पर जहां हजारों की तादाद में ग्रामीण व शहरी जनता भाटी को समर्थन देने पहुंच रही है। वहीं भाटी के समर्थन में निर्वाणपीठाधीश्वर आचार्य महामण्डलेश्वर राजगुरू स्वामी विशोकानन्द महाराज ने प्रवास पर होने के कारण अपना समर्थन पत्र भिजवा कर समर्थन जताया।

अखिल भारतीय राईका ( रेबारी देवासी ) महासभा राजस्थान के जिलाध्यक्ष नत्थु देवासी ने अपने समर्थकों के साथ आकर भाटी को समर्थन दिया।
गोचर पर चल रहे दीवार निर्माण कार्य के लिए भामाशाह प्रतिदिन आगे आ रहे हैं। आज रूक्मण कंवर चौरड़िया परिवार जयपुर ने 51 हजार रूपये , हरिसिंह पिलाणी पाली से व बालकृष्ण स्वामी बीकानेर ने 51-51 सौ रूपये , माणकलाल सेवग बरसलपुर , बाबा स्वामी बीकानेर ने 11-11 सौ रूपये , वृद्धा बृजी देवी ने 500 रूपये व अनेक धर्म परायण महिलाओं ने गुप्त दान देकर अपना दीवार निर्माण के लिए अपना सहयोग दिया। इस अवसर पर अंशुमानसिंह भाटी व समाजसेवी देवकिशन चांडक ने इस पुनित कार्य में सहयोग देने वालों का आभार जताया । भाटी के प्रवक्ता सुनील बांठिया ने बताया कि आज भागवत कथा में कथा का पूजन जयनारायण – मूलीदेवी पंडिवाल दम्पति द्वारा किया गया।

श्रीमद् भागवत कथा में छठे दिन बालसंत छैल बिहारी जी महाराज ने श्रीकृष्ण की लीलाओं का वर्णन किया । बालसंत ने कहा सांसारिक जीवन में जीव को कभी भी अहंकार नहीं करना चाहिए क्योंकि अंहकार ही जीवात्मा का सबसे बड़ा दुश्मन है । इसकी वजह से बड़े – बड़े भक्त व सांसारिक लोग भगवान की कृपा प्राप्त करने में असफल रहे हैं । हमारी आस्था है कि गौ को बचाने के लिए गोपाल स्वयं अवतार लेते है । आज जब गायों पर संकट आया है तो राजस्थान में एकमात्र देवी सिंह भाटी ही है जो इसके लिए संघर्ष कर रहे है । हमारा दायित्व है कि इस गोचर भूमि में चल रहे आन्दोलन में भाटी का साथ देकर अपना ये जन्म सफल करें ।

महामण्डलेश्वर राजगुरू स्वामी विशोकानन्द महाराज ने भाटी को प्रवास पर होने के कारण समर्थन पत्र भेजा है जिसमें कहा गया है कि संत समाज भाटी के इस आन्दोलन के साथ खड़ा हैं । जल्द ही मेरा बीकानेर आना होगा और में आपके इस पुनित कार्य में भागीदार बनुंगा आज राईका महासभा राजस्थान के जिलाध्यक्ष नत्थु देवासी के साथ सैकड़ों की तादाद में राईका समाज के लोग धरना स्थल पर आये व गोचर , ओरण चारागाह की भूमि के लिए किये जा रहे आन्दोलन में अपने समाज की भूमिका सुनिश्चित की । इस अवसर पर देवासी ने कहा कि भाटी के साथ इस मुद्दे पर राईका समाज खड़ा है सरकार को इसके स्थायी समाधान की पहल करनी चाहिए । इनके साथ मुख्य रूप से पूर्व सरपंच संसारदेसर राजु राईका, केसरदेसर से पुनम राईका, श्रवण कुम्भ बज्जू उपस्थित थे ।

उपस्थित जन समुदाय को सम्बोधित करते पूर्व मंत्री भाटी ने एकबार फिर दोहराया कि हमारी मंशा किसी को बेघर करने की नहीं है । हम तो यह चाहते है कि सरकार अपने स्तर पर वर्तमान कब्जा शुदा भूमि की पैमाईश करवाये तथा उतनी ही भूमि गोचर के पास में ही अवाप्त कर गोचर के लिए आवंटित करें । भाटी ने कहा कि गोचर की समस्या का स्थायी समाधान होना चाहिए इसके लिए हमने संभागीय आयुक्त के साथ हुयी बैठक में सुझाव सरकार तक पहुंचा दिए हैं ।

धरना स्थल पर भजन कीर्तन का दौर जारी है । रविवार को प्रसिद्ध गायिका प्रेमलता पणिया , पृथ्वीसिंह पंवार , विजय शंकर व्यास सहित अनेक भजन गायकों ने अपनी प्रस्तुतियां देकर वातावरण को भक्तिमय बना दिया । आज धरना पर आने वालों में मुख्य रूप से सहीराम सियाग पलाना , धन्नाराम आचार्य भंवरलाल नाई भलूरी , राजेश सारस्वत लालमदेसर , गणपतसिंह पड़िहार नागौर , ईवश्राम नायक झझू , जगदीश जाजड़ा बीठनोक , उम्मेदसिंह हिराई की ढाणी आदि ग्रामीण व शहरी क्षेत्र से गौ प्रेमियों का दिन भर आना जाना जारी रहा।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply