Picsart 22 02 13 18 53 16 798

छत्तरगढ़ सीएचसी निर्माण की जांच थर्ड एजेन्सी से करवाने के निर्देश

0
(0)

जिला कलक्टर भगवती प्रसाद रहे छत्तरगढ़ दौरे पर

बीकानेर, 13 फरवरी। जिला कलक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने रविवार को उपखंड छतरगढ़ क्षेत्र में विभिन्न कार्यों का निरीक्षण किया और व्यवस्थाओं में सुधार करने के निर्देश दिए। उन्होंने छत्तरगढ़ सीएचसी के निर्माण दौरान बरती गई घोर लापरवाही पर नाराजगी जताई और इसकी जिम्मेदारी तय करने के निर्देश दिए।
जिला कलक्टर ने इंदिरा गांधी नहर की आईडी 620, सत्तासर में वन एसटीएम में प्रधानमंत्री आवास योजना में निर्माणाधीन आवास और छतरगढ़ में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण किया और संबंधित अधिकारियों से फीडबैक लिया।

आईजीएनपी नहर की जल वितरण व्यवस्था का लिया जायजा-जिला कलक्टर आईजीएनपी की मुख्य नहर की आरडी 620 पहुंचे, जहां उन्होंने नहर के अधीक्षण अभियंता हरीश छतवानी से कहा कि नहर बंदी के दौरान पेयजल भंडारण के लिए क्या व्यवस्था की गई है ? उन्होंने वर्तमान में नहर में चल रहे पानी की मात्रा और उसके वितरण प्रबंधन के संबंध में जानकारी ली और आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने में जिले में नहर के सिंचित क्षेत्र के बारे में जाना और पूछा कि कितने क्षेत्र में लिफ्ट के माध्यम से और फ्लो के माध्यम से सिंचाई हो रही है ? उन्होंने मौके पर नहर का नक्शा देखकर इसकी शाखाओं से सिंचाई व्यवस्था के बारे में जानकारी भी ली।

पीएम आवास का किया निरीक्षण- जिला कलक्टर ने सत्तासर के वन एसटीएम में निर्माणाधीन प्रधानमंत्री आवासों का अवलोकन किया और लाभार्थी मुखराम, कालूराम तथा सुखराम से आवास की किस्तों के बारे में जानकारी ली। लाभार्थियों ने बताया कि उन्हें पहली किस्त के रूप में 15 हजार व द्वितीय किस्त 45 हजार मिल चुकी है। इस दौरान उन्होंने कार्यरत मजदूरों के मस्टरोल का भी अवलोकन किया। जिला कलक्टर ने पास ही में खेल रहे बालक-बालिकाओं से पूछा कि क्या वे विद्यालय व आंगबाड़ी केन्द्र जा रहे है, तो बच्चों ने बताया कि वे स्कूल जाते है। उन्होंने बच्चों की माताओं से कहा कि बच्चों को आवश्यक रूप से स्कूल भेजे और उन्हें अच्छे संस्कार दे ताकि आगे जाकर ये अपना और अपने माता-पिता का नाम रोशन कर सके।

छत्तरगढ़ सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का निरीक्षण- जिला कलक्टर भगवती प्रसाद ने छत्तरगढ़ के चिकित्सालय का निरीक्षण किया और चिकित्सालय प्रभारी से आउटडोर रोगी और वार्डों में भर्ती रोगियों के बारे में जाना। उन्होंने लेबर रूम, दवा वितरण केन्द्र, महिला वार्ड, शौचालय व मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना का अवलोकन किया। उन्होंने लेबर रूम में नवजात शिशुओं के लिए पर्याप्त संख्या में वार्मर की सुविधा देने के निर्देश दिए। उन्होंने चिरंजीवी योजना में हुए पंजीकृत लोगों का फीड बैक लिया और निर्देश दिए कि योजना के तहत पंजीकरण बढ़ाया जाए। उन्होंने गत् माह उपचार ले चुके रोगियों की पर्ची मेें लिखी गई दवाओं का भी अवलोकन किया और निर्देश दिए कि चिकित्सक बाहर की दवा रोगियों को नहीं लिखेंगे। उन्होंने मुख्यमंत्री निःशुल्क दवा योजना में मिली दवाईयों की उपलब्धता की भी जानकारी ली।
घटिया निर्माण पर जताई नाराजगी और थर्ड एजेन्सी से जांच के दिए निर्देश-उन्होंने निर्माणाधीन सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के अवलोकन के दौरान घटिया निर्माण होने पर चिकित्सालय प्रभारी को इसके लिए जिम्मेदार ठहराया और कहा कि आपके परिसर में इसका निर्माण हो रहा है, आपने क्या देखा ? उन्होंने कहा तकनीकी रूप से भी भवन का निर्माण नहीं हो रहा हैं। मौके पर मौजूद मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एल.मीना को इसकी जांच थर्ड एजेन्सी से करवाने के निर्देश दिए।

इस दौरान उपखण्ड अधिकारी छत्तरगढ़ सत्यनारायण सुथार, अधीक्षण अभियन्ता आईजीएनपी हरीश छतवानी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. बी.एल.मीना, तहसीलदार छत्तरगढ़ कुलदीप सिंह, सीएचसी प्रभारी डॉ. संदीप सिंघल, सत्तासर सरपंच बरकत अली आदि मौजूद रहे।


How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply