IMG 20220126 WA0060

हल्दीराम एजुकेशनल सोसायटी ने अंग्रेजी माध्यम स्कूलों के लिए उपलब्ध करवाए फर्नीचर

0
(0)

*स्कूलों में आधारभूत सुविधाओं की वृद्धि में भामाशाहों का योगदान सराहनीय: डॉ. कल्ला*

बीकानेर, 26 जनवरी। शिक्षा मंत्री डॉ. बी.डी. कल्ला ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रदेश में अब तक 562 राजकीय महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालय प्रारंभ किए गए हैं। इन स्कूलों में 88 हजार विद्यार्थी शिक्षा प्राप्त कर रहे हैं। आने वाले समय में प्रदेश में ऐसे कुल 1200 विद्यालय खोले जाएंगे, जिनमें 3 लाख बच्चे शिक्षार्जन कर सकेंगे।
डॉ. कल्ला बुधवार को मुरलीधर व्यास कॉलोनी स्थित राजकीय महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालय में हल्दीराम एजुकेशन सोसायटी द्वारा शहर के 4 राजकीय अंग्रेजी माध्यम स्कूलों में फर्नीचर वितरण के लिए आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम स्कूलों ने प्रदेश में शिक्षा को नए आयाम दिए हैं। आज प्रदेश के बच्चे राजकीय विद्यालयों में भी अंग्रेजी माध्यम में पढ़ाई कर रहे हैं। शीघ्र ही अंग्रेजी माध्यम में प्री प्राइमरी शिक्षा प्रारंभ की जाएगी। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा स्कूलों में आधारभूत सुविधाओं पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इन स्कूलों में सुविधाओं की वृद्धि में भामाशाहों और दानदाताओं का योगदान भी सराहनीय है। उन्होंने कहा कि हल्दीराम परिवार भामाशाहों का परिवार है। इस परिवार द्वारा पूर्व में बीकानेर में हल्दीराम मूलचंद कार्डियोवैस्कुलर जैसा स्तरीय सेंटर स्थापित किया गया है, जो हृदय रोगियों के लिए वरदान साबित हो रहा है। अब हल्दीराम एजुकेशनल सोसायटी द्वारा शहर के अंग्रेजी माध्यम स्कूलों को गोद लिया गया है तथा इनके भवनों के निर्माण के साथ यहां सुविधाओं की वृद्धि पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि सोसाइटी के प्रयासों से इन स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को और अधिक बेहतर शैक्षणिक वातावरण मिल सकेगा। इससे दूसरे दानदाताओं को प्रेरणा मिलेगी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार भी ऐसे भामाशाहों के प्रति कृतज्ञता प्रकट करते हुए, इनका सम्मान करती है। डॉ. कल्ला ने आह्वान किया कि राजस्थान के सरकारी विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चे भी आगे बढ़ें और प्रदेश का नाम रोशन करें। उन्होंने कहा कि स्कूल मैनेजमेंट कमेटियों में भामाशाह को भी प्रतिनिधि के तौर पर शामिल करने की दिशा में पहल की जाएगी।
जिला कलेक्टर भगवती प्रसाद कलाल ने कहा कि शिक्षा का दान सबसे बड़ा दान होता है। शैक्षणिक विकास के लिए किए गए सहयोग को आने वाली पीढ़ियां याद रखती हैं। उन्होंने हल्दीराम एजुकेशनल सोसायटी के सहयोग को अनुकरणीय बताया तथा अन्य दानदाताओं से आगे आकर सहयोग का आह्वान किया।
शिक्षा निदेशक कानाराम ने कहा कि महात्मा गांधी अंग्रेजी माध्यम विद्यालय शिक्षा के क्षेत्र में राज्य सरकार का सबसे महत्पूर्ण नवाचार है, जिसके बेहतरीन परिणाम भविष्य में देखने को मिलेंगे। उन्होंने कहा कि बीकानेर के अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों में भामाशाहों की यह पहल ‘मॉडल’ तौर पर देखी जाएगी तथा इससे प्रेरित होकर अन्य भामाशाह भी आगे आएंगे।

हल्दीराम एजुकेशनल सोसायटी के प्रतिनिधि रमेश कुमार अग्रवाल ने कहा कि सोसाइटी द्वारा शहर के चारों अंग्रेजी माध्यम स्कूलों को गोद लेकर इनमें फर्नीचर भेंट किए गए हैं। उन्होंने सोसायटी द्वारा चारों स्कूलों के निर्माण, आधुनिकीकरण व रखरखाव के बारे में जानकारी दी।
इस दौरान शिक्षा मंत्री डॉ. कल्ला ने शहर के चारों अंग्रेजी माध्यम विद्यालयों के प्राचार्यों को फर्नीचर उपलब्ध करवाने संबंधी पत्र सौंपे। कार्यक्रम में हल्दीराम एजुकेशनल सोसाइटी के अध्यक्ष मनोहर लाल अग्रवाल, बीकाजी फूड्स प्राइवेट लिमिटेड के चेयरमैन शिवरतन अग्रवाल, अतिरिक्त जिला कलेक्टर (नगर) अरुण प्रकाश शर्मा, जिला परिषद की मुख्य कार्यकारी अधिकारी नित्या के., उपखंड अधिकारी अशोक कुमार विश्नोई, शिक्षा निदेशालय के संयुक्त निदेशक तेजा सिंह, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी डॉ. राजकुमार शर्मा, जिला शिक्षा अधिकारी सुरेंद्र सिंह, रमसा के एडीपीसी हेतराम सारण, तहसीलदार कालूराम पडिहार सहित अनेक लोग मौजूद थे। विद्यालय की प्राचार्य आमीना फातिमा ने आभार जताया।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply