IMG 20220111 WA0014

बैंको में आए हजारों आवेदन, लेकिन संतोषजनक नहीं है ऋण स्वीकृति व वितरण

0
(0)

बैंकर्स समिति की मासिक बैठक आयोजित
आई एम शक्ति, इंदिरा गांधी क्रेडिट सहित विभिन्न योजनाओं के आवेदन पत्रों का करें अविलंब निस्तारण
बीकानेर, 11 जनवरी। बैंकर्स समिति की मासिक बैठक मंगलवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित हुई। बैठक में जिला कलेक्टर नमित मेहता ने राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत लंबित ऋण आवेदन पत्रों को त्वरित गति से निस्तारित कर अधिक से अधिक पात्र लोगों को लाभान्वित करने के निर्देश दिए।
मेहता ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा विभिन्न योजनाओं में जारी की गई सहायता राशि को बैंक अपने स्तर पर किसी भी स्थिति में एडजस्ट ना करें। इंदिरा गांधी क्रेडिट योजना की समीक्षा करते हुए जिला कलेक्टर ने कहा कि योजना के तहत अब तक जिले में 9 हज़ार आवेदन किए गए हैं, लेकिन ऋण स्वीकृति व वितरण संतोषजनक नहीं है। अगले एक सप्ताह में इस योजना के तहत अधिकतम ऋण वितरण होना सुनिश्चित किया जाए। एलडीएम गंभीरता से इसे मानिटर करें।
मेहता ने कहा कि चालू वित्तीय वर्ष पूर्ण होने में समय कम है, ऐसे में जिन योजनाओं में प्रगति संतोषजनक नहीं है, उन पर विशेष ध्यान दिया जाए। यदि प्रगति आनलाईन अपडेट नहीं है तो बैंकों द्वारा विभाग को आफलाइन प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत की जाएं। निस्तारित आवेदन पत्रों की प्रगति की समीक्षा करते हुए मेहता ने कहा कि बैंकों द्वारा इस संबंध में की गई प्रगति को नियमित रूप से अपडेट किया जाए, जिससे जिले की विभिन्न योजनाओं में वास्तविक प्रगति की जानकारी मिल सके। माार्च आने से पूर्व अधिक से अधिक लक्ष्य प्राप्त कर लें।
बैठक में पोप योजना के तहत लम्बित प्रकरणों के समयबद्ध निस्तारण के भी निर्देश दिए गए। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग उपनिदेशक एल डी पंवार ने बताया कि पोप योजनाओं में 156 में से 148 आवेदन प्रक्रियाधीन हैं। बैठक में बताया गया कि पीएमईजीपी के तहत 118 आवेदन प्राप्त हुए, जिनमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के पास सर्वाधिक प्रकरण लंबित हैं।
बैठक में आई एम शक्ति योजना की जानकारी देते हुए बताया गया कि महिला सशक्तीकरण के उद्देश्य प्रारम्भ की गई इस योजना के तहत व्यक्तिगत व समूह को ऋण दिए जाने का प्रावधान है। जिले में इसके तहत 327 आवेदन बैंकों को भिजवाये गये हैं। इनमें से 171 आवेदन पत्र लम्बित हैं। एनयूएलएम योजना के तहत भी मात्र 7 आवेदन अब तक स्वीकृत किए गए हैं, जबकि 213 आवेदन प्रक्रियाधीन है। बैठक में विशेष योग्यजन के आवेदन प्राथमिकता से स्वीकृत कर लाभ दिलवाने की बात कही गई।
एलडीएम एम.एम.एल. पुरोहित ने कहा कि बैंकों को जिस भी स्तर पर आवेदन के निस्तारण में समस्या आ रही है, वे लीड बैंक के साथ समन्वय करते हुए प्रकरणों का निस्तारण करें। बैठक में अतिरिक्त जिला कलेक्टर (नगर) अरुण प्रकाश शर्मा सहित संबंधित अधिकारी व बैंक प्रतिनिधि उपस्थित थे।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply