TID-Logo

मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना: किडनी ट्रांसप्लान्ट, एंजियोग्राफी सहित 18 नये पैकेज जोड़े

0
(0)

210 पैकेजेज की रेट भी बढाई
– आमजन के साथ अस्पतालों के लिए भी और लाभकारी हुई योजना
वीसी में की योजना के विस्तार की हुई घोषणा

बीकानेर, 16 दिसम्बर। मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में 18 और बीमारियों के उपचार पैकेजेज जोड़े गए हैं वहीं 210 पैकेज की क्लेम दर को डेढ़ से दुगुना तक बढ़ा दिया गया है। 18 नए पैकेज के जुड़ने से अब योजना में उपलब्ध पैकेजेज की संख्या 1579 से बढकर 1597 हो गई है। इन नए पैकेजेज में किडनी ट्रांसप्लान्ट और कैंसर की बीमारी में काम आने वाली पेट स्केन जैसी महंगी जांच और उपचार के पैकेजज भी शामिल किए गए हैं। हीमोडायलिसिस के पैकेज के लिये काम में आने वाला एरिथ्रोप्रोटीन इंजेक्शन को भी योजना में जोडा गया है।

गुरूवार को योजना के संयुक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी सौरभ स्वामी द्वारा विडियो कांफ्रेंस के दौरान योजना में किए गए नए विस्तार की जानकारी दी गई। उन्होंने बताया कि कुछ पैकेज सिर्फ सरकारी अस्पतालों के लिए ही जोड़े गए हैं तो कुछ दोनों के लिए, जैसे हृदय रोग से जुड़ी एंजियोग्राफी की महंगी जांच का पैकेज भी अब योजना से जुड़े सभी सरकारी अस्पतालों में उपलब्ध होगा। इन सब नये पैकेजेज के योजना में जुड़ने से आमजन को काफी राहत मिलेगी।

वीसी में जिला स्तर से योजना के जिला नोडल अधिकारी डिप्टी सीएमएचओ डॉ लोकेश गुप्ता, डीपीएम सुशील कुमार, जिला आईईसी समन्वयक मालकोश आचार्य, यूपीएम नेहा शेखावत, डीपीसी ईशान पुष्करणा, मेडिकल कॉलेज से डॉ. एस.के. कपिल, जिला अस्पताल के डॉ संजय खत्री सहित सभी अधिसूचित सरकारी निजी अस्पतालों के नोडल अधिकारी व स्वास्थ्य मार्गदर्शक शामिल हुए। वहीँ खण्डस्तर पर भी सम्बंधित अधिकारी वीसी से जुड़े।

जेसीईओ स्वामी ने बताया कि राज्य के निजी और सरकारी अस्पतालों द्वारा कुछ पैकेजेज की रेट को बढाए जाने की लगातार मांग को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा ऐसे सभी पैकेजेज की समीक्षा कर 210 पैकेजेज की रेट में भी बढोतरी की गई है ताकि अस्पताल और बेहतर ढंग से मरीजो की देखभाल कर सकें। इस प्रकार योजना आमजन के साथ-साथ जुड़े अस्पतालों के लिए भी और अधिक लाभकारी हो गई है।

मिशन निदेशक, राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन तथा मुख्य कार्यकारी अधिकारी, राजस्थान स्टेट हैल्थ एश्योरेंस एजेंसी श्रीमती अरूणा राजोरिया ने बताया कि योजना के अन्तर्गत घुटने के प्रत्यारोपण तथा कुल्हे के प्रत्यारोपण हेतु पैकेजेज जो पहले केवल राजकीय अस्पतालों के लिये रिजर्व थे, उन्हे अब आमजन के हित में एनएबीएच (NABH) तथा एनएबीएल (NABL) एंट्री लेवल स्तर के निजी अस्पतालों के लिये भी अधिकृत कर दिया गया है। इससे पूर्व भी राज्य सरकार द्वारा राज्य में कोविड-19 के उच्च प्रसार को देखते हुए आमजन को इसमें निःषुल्क उपचार प्रदान करने के लिए कोविड-19 एवं म्यूकरमॉकोसिस के पैकेजेज को योजना में जोड़ा गया था जिससे मरीजो का उस मुश्किल समय में निःशुल्क इलाज का लाभ मिला। आमजन के हित में डायलिसिस के पैकेज को भी योजना में जोडा गया था। विभाग के द्वारा लगातार अस्पतालों और आमजन की पैकेजेज से जुडी मांगी और सुझावों की समीक्षा कर आमजन के हित में निर्णय लिये जा रहे है ताकि आमजन को किसी भी बीमारीे में कोई पैसा खर्च नही करना पड़े।

26 सरकारी और 7 प्राइवेट अस्पतालों में योजना से अब तक 35 हजार से अधिक मरीज लाभान्वित
सीएमएचओ डॉ ओम प्रकाश चाहर ने बताया कि मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से अब तक जिले के 35 हजार 296 मरीज लाभान्वित हो चुके है। जिले के 26 सरकारी और 7 निजी अस्पताल योजना से अब तक जुड चुके हैै। योजना से जुडने के लिये निजी अस्पताल विभागीय वेबसाइट www.chiranjeevi.rajasthan.gov.in पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। जिला एमपैनलमेंट कमेटी के अस्पताल में निरीक्षण के बाद योजना हेतु निर्धारित जरूरी मापदण्डो को पूरा करने वाली अस्पताल का चयन कर उसे राज्य स्तर पर एप्रुवल के लिये भेजा जाता है।

How useful was this post?

Click on a star to rate it!

Average rating 0 / 5. Vote count: 0

No votes so far! Be the first to rate this post.

As you found this post useful...

Follow us on social media!

Leave a Reply